प्रियंका गांधी ने सीएम योगी को दिखा आईना कहा, जमीनी सच्चाई को विज्ञापनों से कब तक छुपाएंगे

रोजगार न मिलने की वजह से फिर वापस लौट रहे प्रवासी मजदूर

By: Mahendra Pratap

Updated: 01 Jul 2020, 11:56 AM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में यूपी सरकार के सहयोग से करीब 35 लाख श्रमिकों और कुशल कामगारों की घर वापसी हुई है। सीएम योगी और उनकी टीम 11 ने इन श्रमिकों के लिए कई योजनाएं चलाकर रोजगार देने की घोषणाएं की। पर कई खबरें आई रहीं हैं कि ये श्रमिक अब अपने रोजगार के लिए वापस जा रहे हैं। एक टीवी रिपोर्ट को सामने रखते हुए कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ को हकीकत से समाना कराया। और आईना दिखाते हुए ट्विट किया कि जमीनी सच्चाई को विज्ञापनों से कब तक छुपाया जा सकता है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी अपने ट्विट में लिखा, रोजगार को लेकर अभी यूपी सरकार के आयोजन में खूब घोषणाएं हुईं लेकिन उसकी असलियत खुद आप श्रमिकों से सुन लीजिए। यूपी में कोई काम नहीं है इसीलिए सबको फिर वापस जाना पड़ रहा है।

प्रियंका गांधी ने कहाकि आकंड़ों के अनुसार यूपी से लगभग 1.5 लाख लोग तो अभी मुंबई वापस जा चुके हैं। यूपी सरकार ने एक आयोजन के ज़रिए यूपी में फैली भयंकर बेरोजगारी को ढँकने की कोशिश की लेकिन जमीनी सच्चाई को विज्ञापनों से कब तक छुपाया जा सकता है।

इस टीवी रिपोर्ट में बताया गया कि पूर्वी उत्तर प्रदेश के कई जिलों से घर वापसी करने वाले प्रवासी मजदूर अब फिर वापस लौट रहे हैं। क्योंकि यूपी में उन्हे रोजगार नहीं मिल रहा है। और जो मिल रहा है उससे उनका खर्चा नहीं चलता है।

प्रियंका गांधी ने बुधवार को अपने ट्विट में एक और उदाहरण पेश किया, और लिखा कि यूपी सीएम ने पीएम साहब को बुलाकर एक आयोजन कर बताया कि छोटे और मझोले उद्योगों में लाखों रोजगार मिल रहे हैं। लेकिन हकीकत देखिए। पीएम के संसदीय क्षेत्र के बुनकर जो वाराणसी की शान हैं, आज गहने और घर गिरवी रखकर गुजारा करने को मजबूर हैं। लॉकडाउन के दौरान उनका पूरा काम ठप हो गया। छोटे व्यवसायियों और कारीगरों की हालत बहुत खराब है। हवाई प्रचार नहीं, आर्थिक मदद का ठोस पैकेज ही इन्हें इस तंगहाली से निकाल सकता है।

Show More
Mahendra Pratap Content
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned