ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस्तीफे के बाद प्रियंका गांधी बनीं पूरे उत्तर प्रदेश की प्रभारी

ज्योतिरादित्य सिंधिया के इस्तीफे के बाद प्रियंका गांधी बनीं पूरे उत्तर प्रदेश की प्रभारी

Karishma Lalwani | Updated: 14 Jul 2019, 01:25:16 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

Priyanka Gandhi को पूरे उत्तर प्रदेश का प्रभारी महासचिव बनाया

- Jyotiraditya Scindia के इस्तीफे के बाद खाली था पश्चिमी यूपी प्रभारी का पद

- कार्यकर्ताओं में उत्साह

लखनऊ. कांग्रेस नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) के महासचिव पद से इस्तीफे के बाद प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) को पूरे उत्तर प्रदेश का प्रभारी महासचिव बनाया गया है। अब वे अकेले ही उत्तर प्रदेश में पार्टी की बागडोर संभालेंगी। प्रियंका को पूरे उत्तर प्रदेश का प्रभारी महासचिव बनाए जाने से कांग्रेस कार्यकर्ताओं में उत्साह है। कार्यकर्ताओं का मानना है कि इससे संगठन को मजबूती मिलेगी।

पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता ब्रजेंद्र कुमार सिंह ने अनुसार, महासचिव पार्टी संगठन को मजबूती देने में लगी हैं। एक ओर विधानसभा की एक दर्जन सीटों पर होने वाले उपचुनाव की तैयारी के लिए दो-दो नेताओं को प्रभारी बना कर क्षेत्रों में भेज दिया गया है तो दूसरी ओर, जिलों में संगठन में बदलाव को लेकर बैठकें हो रही हैं। लोकसभा चुनाव के दौरान किस कार्यकर्ता ने पार्टी के भीतर रह कर ही पार्टी से विश्वासघात किया, इस पर अनुशासन समिति लोकसभा चुनाव में भीतरघाती की शिकायतों पर अपनी जांच रिपोर्ट पर काम करने में जुटी है। खुद प्रियंका सारे कामों की निगरानी कर रही हैं।

ये भी पढ़ें: हार के बाद पहली बार अमेठी आएंगे राहुल, चाचा संजय गांधी की तर्ज पर करेंगे ये काम

कार्यकर्ताओं में उत्साह

प्रदेश प्रवक्तता अंशू अवस्थी ने भी प्रियंका के प्रभारी महासचिव बनाए जाने पर खुशी जाहिर की। उन्होंने कहा कि इससे संगठन को मजबूती देने के काम को गति मिलेगी। पश्चिमी यूपी के लोग इस बारे में शिकायत करते थे कि प्रियंका गांधी को वहां का प्रभारी न बना कर उन लोगों के साथ भेदभाव किया गया। अब प्रियंका को पूरे प्रदेश की जिम्मेदारी सौंपी गई है। इससे कार्यकर्ताओं में उत्साह है।

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव (Loksabha election) से पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया को पश्चिमी और प्रियंका को पूर्वी उत्तर प्रदेश का प्रभारी बनाया गया था। लेकिन लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के अध्यक्ष पद से इस्तीफे के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी उनकी राह चल हार की जिम्मेदारी ली और अपना इस्तीफा पेश किया। इसके बाद से पश्चिमी उत्तर प्रदेश प्रभारी का पद खाली था।

ये भी पढ़ें: दीदी आपके द्वार' कार्यक्रम में सुनी लोगों की समस्याएं, किया परियोजनाओं का शिलान्यास व लोकार्पण

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned