प्रियंका गांधी ने सरकार के सामने रखी ये तीन मांगें, कहा- हमारी भारत माता रो रही हैं, आप मौन हैं

- मनरेगा का कार्य दिवस बढ़ाकर 200 दिन किया जाये
- प्रियंका गांधी ने कहा- हर जरूरतमंद के खाते में 10 हजार रुपये डालें जाएं
- अगले 6 महीनों तक जरूरतमंदों के खातों में डाले जाएं प्रतिमाह 7500 रुपये

By: Hariom Dwivedi

Updated: 28 May 2020, 05:06 PM IST

लखनऊ. यूपी के 52000 कांग्रेसी कार्यकर्ता फेसबुक पर स्पीक अप इंडिया कार्यक्रम में लाइव हुए। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू की गिरफ्तारी को गैरकानूनी बताते हुए काली पट्टी बांध कर अपना रोष जताया। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि हमारी भारत माता रो रही हैं और आप मौन हैं। यह वक्त राजनीति करने का नहीं, बल्कि एकजुट होकर जरूरतमंदों की मदद करने का है। कांग्रेस महासचिव ने मांग करते हुए कहा कि सरकार हर जरूरतमंत के खाते में 10 हजार रुपये और अगले 6 महीने तक प्रतिमाह 7500 रुपये डाले। साथ ही जो प्रवासी मजदूर अपने गांव पहुंच चुके हैं उनके लिए मनरेगा के कार्य दिवस 100 से 200 दिन तक तक किये जाएं। साथ ही जो लोग लॉकडाउन से जूझ रहे हैं, जिनके पास कोई बिजनेस नहीं है, जो छोटे उद्योग वाले हैं, छोटे दुकानदार हैं, बुनकर हैं। उनकी मदद के लिए सरकार कुछ करे उनको एक आर्थिक पैकेज दे। उन पर कर्ज न हो उनके हाथ में पैसा आए ताकि इस मुश्किल वक्त में उनका गुजारा चल सके।

प्रियंका गांधी ने कहा कि आज इस देश की जनता दुखी है, परेशान है, तड़प रही है। एक बेटा बैल बनकर अपने परिवार को बैठाकर बैलगाड़ी खींच रहा है। एक बेटी अपने पिता को साइकिल पर बैठा कर 600 किलोमीटर साइकिल चलाकर गांव ले जा रही है। श्रमिक ट्रेनों में लाशें पड़ी हैं। एक बच्चे का दम अपने पिता की गोद में टूट रहा है। एक मां की लाश प्लेटफार्म पर पड़ी है उसका बच्चा उसे जगाने की कोशिश कर रहा है। इस देश की एक-एक मां इस दृश्य को देख कर रो रही है। हमारी भारत माता रो रही हैं। आप मौन हैं, आप कुछ बोल नहीं रहे हैं। प्रियंका गांधी ने कहा कि हम जो उठा रहे हैं वह कोई राजनीतिक मांग नहीं है। यह मानवीयता के आधार पर मांग है। आप से आग्रह कर रहे हैं कि राजनीति छोड़िए। जिस जनता ने हम सब को बनाया है, उसका साथ दिया जाए।अब समय है कि हम सब लोग और आप भी जनता का साथ दें। इस संकट के समय में एक-एक भारतवासी साथ खड़ा होना है जो सबसे ज्यादा जरूरतमंद है, जो सबसे ज्यादा तड़प रहे हैं, जो सबसे ज्यादा दुखी हैं।

यह समय राजनीतिक का नहीं, बल्कि एकजुट होने का है : प्रियंका गांधी
कांग्रेस महासचिव ने कहा कि मैं सभी राजनैतिक पार्टियों से खास करके भाजपा से आग्रह करना चाहती हूं कि यह वक्त राजनीति का नहीं है, बल्कि पूरे देश को एकजुट होने का है। राजनेताओं को वैचारिक मतभेदों को भुलाकर सबकी मदद करनी चाहिए। यूपी में आपने हमारी 1000 बसों को नकार दिया। हमने आपसे कहा था कि आप अपने बैनर-पोस्टर लगा लीजिए। हमें उससे कोई परहेज नहीं है। कहा कि सरकार ने ऐलान किया था कि 12 हजार बसें यूपी परिवहन की आप चलाएंगे लेकिन आज तक वह कागज पर चल रही हैं। उन्हें सड़कों पर नहीं उतारा गया।

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned