प्रियंका गांधी ने लखनऊ में की अहम बैठक, 2022 चनाव में गठबंधन पर आया यह बयान

- महिलाओं के प्रति बढ़ते अपराध पर जताई चिंता, शुरू होगा आंदोलन

 

- 2022 का चुनाव अकेले लड़ेगी कांग्रेस

 

- भारत बचाओ रैली यूपी की होगी बड़ी भागादारी

लखनऊ. कांग्रेस महासचिव तथा उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने शुक्रवार को पार्टी के वरिष्ठ नेताओं संग बैठक की जिसमें प्रदेश की महिलाओं के खिलाफ लगातार बढ़ रही हिंसा पर उन्होंने चिंता जताई। बैठक में सबसे पहले यह तय हुआ कि महिलाओं के साथ होने वाले अपराधों के खिलाफ आंदोलन शुरू किया जाएगा, जिससे जनता में कांग्रेस के प्रति विश्वास जागे। इसी के साथ ही उन्होंने यूपी की कानून-व्यवस्था, किसानों की समस्या, भ्रष्टाचार और युवाओं के मुद्दों को लेकर योगी सरकार को घेरने की रणनीति पर चर्चा की। 2022 चुनाव से पहले पार्टी संगठन को मजबूत करने को लेकर यूपी प्रभारी ने अहम फैसले लिए। इसी के साथ ही 14 दिसम्बर को दिल्ली में होने जा रही भारत बचाओ रैली की तैयारियों की समीक्षा की गई। आपको बता दें कि प्रियंका शुक्रवार से लखनऊ के दो दिवसीय दौरे पर हैं। बैठक से पूर्व वह कांग्रेस कमेटी के मुख्यालय कांग्रेस नेहरू भवन पहुंची और परिनिर्वाण दिवस बाबा साहेब डॉ. भीमराव आम्बेडकर के चित्र पर तस्वीर पर माल्यार्पण कर उनको नमन किया। वहीं बैठक में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, जितिन प्रसाद, नसीमुद्दीन सिद्दकी, नेता विधानमण्डल आराधना मिश्रा, के एल शर्मा, ब्रजलाल खबरी, इमरान मसूद, प्रदीप जैन आदित्य, राजीव शुक्ला, राजा रामपाल, ब्रज किशोर, आरके चौधरी मौजूद थे।

महिलाओं के साथ हो रहे अपराध पर जताई चिंता-

पहली बैठक में उन्होंने यूपी की बिगड़ती कानून व्यवस्था और महिलाओं के साथ हो रहे अपराधों पर चिंता जताई। बैठक में चर्चा की गई कि हैदराबाद जैसे हादसे मैनपुरी, उन्नाव, चित्रकूट आदि में रोज हो रहे हैं। अपने पदाधिकारियों के साथ उन्होंने रणनीति बनाई कि कैसे महिलाओं को सुरक्षा दी जाए, इसके लिए सरकार पर कैसे दबाव बनाया जाए। कमेटी के सदस्य पूर्व राज्यसभा सदस्य राजीव शुक्ला ने बैठक खत्म होने का बाद इसकी जानकारी दी।

रैली में यूपी की हर विधानसभा से 100-100 लोग पहुंचेंगे दिल्ली-

14 दिसंबर को दिल्ली के रामलीला मैदान में होने वाली भारत बचाओ रैली में यूपी की बड़ी जिम्मेदारी होगी। प्रदेश में सुस्त पडी़ कांग्रेस व घर बैठे कार्यकर्ताओं को साफ निर्देश दिए गए हैं कि इस रैली में यूपी की हर विधानसभा से 100-100 लोग पहुंचें। यह रैली देश की अर्थव्यवस्था, घटती विकास दर, बढ़ती महंगाई, बेरोजगारी, भुखमरी, किसान आत्महत्या, चौपट उद्योग धंधे, ऑटोमोबाइल सेक्टर में मंदी, आर्थिक मंदी आदि को लेकर की जा रही है जिससे केन्द्र सरकार को घेरा जाएगा। सबसे बड़ा राज्य होने के कारण यूपी पर भीड़ जुटाने की जिम्मेदारी ज्यादा है।

2022 का चुनाव अकेले लड़ेगी कांग्रेस-

बैठक के बाद राजीव शुक्ला ने कांग्रेस के गठबंधन के सवाल पर कि प्रियंका गांधी पहले ही साफ कर चुकी हैं कि गठबंधन न करते हुए पार्टी का संगठन मजबूत किया जाएगा और पार्टी अकेले ही चुनाव लड़ेगी। 2022 के चुनाव की तैयारियां चल रही हैं। ब्लॉक स्तर पर कमेटी का गठन होगा। एक साल के भीतर संगठन का ढांचा तैयार हो जाएगा। बीच-बीच में आंदोलन होता रहेगा। कांग्रेस उत्तर प्रदेश के आम आदमी की आवाज बन कर मैदान में उतरेगी।

Show More
Abhishek Gupta
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned