scriptगर्मियों में शिशुओं के लिए रामबाण: स्तनपान से डायरिया और पीलिया से सुरक्षा | Protection against diarrhoea and jaundice from breastfeeding | Patrika News
लखनऊ

गर्मियों में शिशुओं के लिए रामबाण: स्तनपान से डायरिया और पीलिया से सुरक्षा

छह माह तक के बच्चों को केवल स्तनपान की सलाह: तेज गर्मी में भी नवजात को न दें ऊपर का पानी

लखनऊJun 20, 2024 / 06:20 pm

Ritesh Singh

स्तनपान

स्तनपान

गर्मी के मौसम में जहां आमजन के शरीर में पानी की कमी न होने देने की सलाह दी जाती है, वहीं छह माह तक के बच्चों के मामले में यह सलाह उचित नहीं है। एसजीपीजीआई की वरिष्ठ बाल रोग विशेषज्ञ डॉ. पियाली भट्टाचार्य के अनुसार, छह माह तक के बच्चों के लिए केवल स्तनपान ही सर्वोत्तम है।

स्तनपान से डायरिया और पीलिया से सुरक्षा

डॉ. पियाली बताती हैं कि शोध से यह निष्कर्ष सामने आया है कि जो बच्चे केवल स्तनपान नहीं करते, उनमें केवल स्तनपान करने वाले बच्चों के मुकाबले डायरिया होने की नौ गुना ज्यादा संभावना होती है। मां के दूध में लगभग 90 प्रतिशत पानी होता है, जो बच्चे की पानी की जरूरत को पूरा करता है। ऊपर से पानी देने से बच्चों में डायरिया या जलजनित बीमारियां जैसे पीलिया होने की संभावना बढ़ जाती है।

मां के दूध के फायदे

मां का दूध बच्चे के लिए सम्पूर्ण आहार है। इसमें रोग प्रतिरोधक एवं पोषक तत्व होते हैं, जो शिशु को स्वस्थ और बुद्धिमान बनाते हैं। नवजात को जन्म के एक घंटे के अंदर स्तनपान शुरू कर देना चाहिए। मां का पहला गाढ़ा और पीला दूध, जिसे कोलस्ट्रम कहते हैं, अत्यंत पोषक और रोग निवारक होता है। यह नवजात के लिए पहला टीका होता है।

परिवार का सहयोग

छह माह तक केवल स्तनपान सुनिश्चित करने में मां के साथ पिता, दादी और अन्य परिवार जनों की भी अहम भूमिका होती है। सबके सहयोग से ही शिशु के लिए केवल स्तनपान सुनिश्चित किया जा सकता है।

आंकड़े क्या कहते हैं?

राष्ट्रीय परिवार एवं स्वास्थ्य सर्वेक्षण (एनएफएचएस)-5 के अनुसार, लगभग 60 प्रतिशत शिशुओं ने छह माह तक केवल स्तनपान किया, जबकि एनएफएचएस-4 में यह आंकड़ा 41.6 प्रतिशत था। स्तनपान के यह लाभ बच्चों के स्वास्थ्य को संपूर्ण रूप से सुधारने में मददगार होते हैं, जिससे वे स्वस्थ और मजबूत बनते हैं।

Hindi News/ Lucknow / गर्मियों में शिशुओं के लिए रामबाण: स्तनपान से डायरिया और पीलिया से सुरक्षा

ट्रेंडिंग वीडियो