सिटी मांटेसरी स्कूल के खिलाफ प्रदर्शन

सिटी मांटेसरी स्कूल की शाखा के सामने बुधवार को सामाजिक कार्यकर्ता डॉ संदीप पांडेय ने प्रदर्शन किया।

By: Laxmi Narayan Sharma

Published: 25 Apr 2018, 05:00 PM IST

लखनऊ. राजधानी लखनऊ के जाॅपलिंग रोड स्थित सिटी मांटेसरी स्कूल की शाखा के सामने बुधवार को सामाजिक कार्यकर्ता डॉ संदीप पांडेय ने प्रदर्शन किया। उनके साथ कई अन्य लोग गले में तख्तियां व बैनर लेकर प्रदर्शन में शामिल हुए। प्रदर्शन कर आरोप लगाया गया कि सिटी मांटेसरी स्कूल में शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009 के तहत मुफ्त शिक्षा के लिए बेसिक शिक्षा अधिकारी द्वारा दिए गए अलाभित समूह व दुर्बल वर्ग के बच्चों के दाखिले के आदेश को धता बताया गया। प्रदर्शन को देखते हुए पुलिस बल भी मौके पर पहुंच गया।

डॉ संदीप पांडेय ने कहा कि विद्यालय कब्जा किए हुए भवन में नाजायज रूप से संचालित हो रहा है, इसलिए इसकी मान्यता समाप्त कर तत्काल यह बंद कराया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि स्कूल की इंदिरा नगर शाखा का भवन बिना अनुमति के बना है, मानचित्र स्वीकृत नहीं है, भू-उपयोग आवासीय है, 21 वर्षों से ध्वस्तीकरण आदेश पारित है, विद्यालय संचालन के लिए शिक्षा विभाग से अनापत्ति प्रमाण पत्र व राजस्व विभाग से भूमि प्रमाण पत्र भी नहीं, फिर भी इण्डियन काउंसिल फाॅर स्कूल सर्टिफिकेट इग्जामिनेशन ने अवैध रूप से मान्यता प्रदान की हुई है।

डॉ पांडेय ने कहा कि जाॅपलिंग रोड पर संचालित विद्यालय असल में तीन भाइयों डाॅ. सुनील बिसेन, संजय बिसेन, अजय बिसेन व उनकी बहन डाॅ. मीता बिसेन की पैतृक सम्पत्ति है जो इनके दिवंगत पिता विश्वनाथ शरण सिंह बिसेन ने 1982 में विद्यालय के प्रबंधक जगदीश गांधी को किराए पर दी थी। विश्वनाथ शरण सिंह बिसेन, जिनका देहावसान 1992 में हुआ, ने अपने जीवनकाल में ही किराएदारी समाप्त करके मकान खाली करवाने की न्यायिक प्रक्रिया शुरू कर दी थी। तब से लेकर आज तक इनका परिवार कानूनी लड़ाई लड़ रहा है किंतु अपना घर प्राप्त करने में असफल है और न ही उन्हें उसका किराया मिल पा रहा है।

यह भी पढें - भाजपा और सपा इस हिस्ट्रीशीटर को लेकर आमने-सामने, भाजपा पार्षद ने जान को बताया ख़तरा

Laxmi Narayan Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned