Video: पेंशन को लेकर अटेवा ने निकाली एनपीएस की शव यात्रा

Video: पेंशन को लेकर अटेवा ने निकाली एनपीएस की शव यात्रा

Dhirendra Singh | Publish: Oct, 12 2017 09:20:29 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

पुरानी पेंशन व्यवास्था लागू करने के लिए अटेवा का प्रर्दशन।

लखनऊ. पुरानी पेंशन बहाली को लेकर ऑल टीचर्स एंप्लॉइज वेलफेयर एसोसिएशन (अटेवा) ने कर्माचारी के साथ राजधानी में सड़क उतर प्रदर्शन किया। अटेवा ने विभिन्न संस्थानों के कर्मचारियों के साथ मिलकर राजधानी के बीचों-बीच नेशनल पेंशन स्कीम (राष्ट्रीय पेंशन योजना-एनपीएस) की शव यात्रा निकाली। वहीं जिलाधिकारी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नाम पर ज्ञापन सौंप।

यह भी पढ़ें - Video: मुख्यमंत्री की चेतावनी दीपावली और छठ पर मोहर्रम जैसी हिंसा हुई तो नपेंगे अफसर

अटेवा मंच का कहना है कि पुरानी पेंशन व्यवस्था समाप्त हो जाने से 1 अप्रैल 2005 के बाद सेवा में आने वाले शिक्षकों, कर्मचारियों का भविष्य अंधकारमय हो गया है। क्योंकि पेंशन ही बुढ़ापे का सहारा होती है। इसे भी सरकार ने छीन लिया है। अटेवा पेंशन बचाओ मंच के नेतृत्व में गुरुवार को गांधी प्रतिमा जीपीओ से एनपीएस की शव यात्रा निकाली गई। जो कि जीपीओ से प्रारम्भ होकर जवाहर भवन, इंदिरा भवन होते हुए बैकुण्ठधाम पहुंची और यहां एनपीएस का पुतला फूंका गया।

यह भी पढ़ें - 1 हजार करोड़ की संपत्ति के लिए देवर ने भाभी को दिया धोखा, देवर ने की ये हरकत

इस प्रदर्शन में जवाहर भवन और इंदिरा भवन में अप्रैल 2005 के बाद नियुक्त कर्मचारियों ने भी विरोध में हुए। इसके बाद जिलाधिकारी को प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री के नाम पर ज्ञापन सौंपा गया। अटेवा ने 13 लाख कर्मचारियों के साथ न्याय करने की मांग उठाई।

यह भी पढ़ें - Video: केजीएमयू में तीसरी बार महिला मरीज से रेप की घटना का खुलासा

अटेवा ने सरकार के सामने प्रश्न उठाया कि सांसद और विधायक पेंशन का हकदार है, तो शिक्षक, कर्मचारी, अधिकारी पेंशन के हकदार क्यों नहीं है। वहीं पश्चिम बंगाल और त्रिपुरा में पुरानी पेंशन लागू है, तो उत्तर प्रदेश में पेंशन व्यवस्था को क्यों खत्म किया गया

यह भी पढ़ें - Exclusive Interview: पहली ही पोस्टिंग में मौत को काफी करीब से देखा - SSP दीपक कुमार

Ad Block is Banned