कानपुर और आगरा में नवंबर में शुरू हो जाएगी मेट्रो -अक्टूबर में पूर्वाचल एक्सप्रेस पर चलने लगेंगे वाहन

यूपी के निवासियों को सुखद यात्रा का तोहफा, नवंबर में शुरू हो जाएगी कानपुर और आगरा मेट्रो। अक्टूबर में पूर्वाचल एक्सप्रेस का होगा लोकार्पण।

By: Sandhya Jha

Updated: 10 Sep 2021, 02:40 PM IST

लखनऊ.(पत्रिका न्यूज नेटवर्क). यूपी के निवासियों के लिए खुशखबर है। यहां के लोगों को सुखद यात्रा का तोहफा मिलने वाला है। लखनऊ से गाजीपुर तक बन रहे पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का काम लगभग पूरा हो चुका है। अक्तबूर में किसी दिन इसका लोकार्पण हो जाएगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इसकी घोषणा की है। इसी के साथ कानपुर और आगरा में नवंबर माह में मेट्रो भी चलने लगेगी।
यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सोशल मीडिया वार्तालाप में बताया कि इस साल नवंबर तक कानपुर और आगरा में मेट्रो का संचालन शुरू हो जाएगा। इसके साथ ही लखनऊ से गाजीपुर तक बन रहे पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का काम भी लगभग पूरा हो गया है। अक्तबूर में किसी दिन इसका लोकार्पण संभावित है। वहीं बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे का निर्माण कार्य भी बहुत तेजी से चल रहा है और इसका लोकार्पण भी दिसंबर 2021 तक हो सकता है। उन्होंने कहा कि यूपी को देश का अग्रणी राज्य बनाने का लक्ष्य है और इसे हासिल करने के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं।


आगरा मेट्रो में होंगे दो कॉरिडोर

आगरा मेट्रो रेल परियोजना में दो कॉरिडोर होंगे। जो शहर के बीचोबीच से गुजरेंगे और ताजमहल, आगरा किला और सिकंदरा के साथ-साथ आईएसबीटी, राजा की मंडी रेलवे स्टेशन, मेडिकल कॉलेज, आगरा छावनी रेलवे स्टेशन सहित प्रमुख पर्यटन स्थलों को जोड़ेगा।

आगरा मेट्रो कॉरिडोर के रूट

सिकंदरा से ताज ईस्ट गेट कॉरिडोर की लंबाई 14.00 किमी है और इसमें 13 स्टेशन (6-एलिवेटेड और 7-अंडरग्राउंड) शामिल हैं। आगरा कैंट से कालिंदी विहार कॉरिडोर की लंबाई 15.40 किमी है, जिसमें सभी 14 स्टेशन एलिवेटेड हैं। आगरा मेट्रो रेल परियोजना से शहर की लगभग 20 लाख आबादी के लाभान्वित होने की उम्मीद है।


कानपुर में बनेंगे 8 मेट्रो स्टेशन
कानपुर में दो कॉरिडोर का निर्माण कार्य जोरों से चल रहा है। कॉरिडोर -1 का प्राथमिकता वाला भाग दिसंबर 2021 से चालू होने की उम्मीद है। यह दुनिया में सबसे तेजी से निर्मित और कमीशन वाली मेट्रो प्रणाली होगी। वहीं फेज 1 में आइआइटी कानपुर से नौबस्ता तक पहले कॉरिडोर पर 22 मेट्रो स्टेशन और एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी से बर्रा-8 तक दूसरे कॉरिडोर पर 8 मेट्रो स्टेशन बनाए जाएंगे।

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे रूट

पूर्वांचल एक्सप्रेसवे लखनऊ जिले के गोसाईंगंज के पास चांद सराय गांव को गाजीपुर जिले में मोहम्मदाबाद-बक्सर राजमार्ग (एनएच-31) पर स्थित हैदरिया गांव से जोड़ेगा। यह उत्तर प्रदेश के 9 जिलों यानी (पश्चिम से पूर्व की ओर) लखनऊ, बाराबंकी, अमेठी, सुल्तानपुर, अयोध्या, अंबेडकर नगर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर से होकर गुजरेगा।

एक्सप्रेस-वे को अलग लिंक रोड के जरिए वाराणसी-आजमगढ़ हाईवे से जोड़ा जाना है। UPEIDA गोरखपुर लिंक एक्सप्रेसवे का भी निर्माण कर रहा है, जो गोरखपुर जिले के जैतपुर गाँव को आजमगढ़ जिले के सलारपुर गाँव में पूर्वांचल एक्सप्रेसवे से जोड़ेगा। 17 किमी लंबी, 4-लेन चौड़ी बक्सर-गाजीपुर एलिवेटेड रोड (बक्सर में भरौली से गाजीपुर में हैदरिया तक) के पूरा होने पर, उत्तर प्रदेश में लखनऊ पूर्वांचल एक्सप्रेसवे और NH-922 द्वारा बिहार के आरा और पटना से सीधे जुड़ जाएगा।

Sandhya Jha
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned