scriptPublic confidence in justice is reduced due to wrong conduct lawyers | वकीलों के गलत आचरण से जनता का विश्वास न्याय प्रणाली पर कम होता है- हाईकोर्ट | Patrika News

वकीलों के गलत आचरण से जनता का विश्वास न्याय प्रणाली पर कम होता है- हाईकोर्ट

UP में इलाहबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने 12 वकीलों के खिलाफ अवमानना मामले में सुनवाई करते हुए कहा कि 'अवमानना की कार्यवाही से निपटना दर्दनाक है. ' इस मामले पर सुनवाई करते हुए जस्टिस देवेन्द्र कुमार उपाध्याय और नरेन्द्र कुमार जौहरी ने कहा कि 'वकीलों का अनुचित आचरण अथवा व्यवहार न्यायिक प्रणाली में लोगों के विश्वास को कम करता है'.

लखनऊ

Updated: December 27, 2021 10:04:34 pm

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में इलाहबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने 12 वकीलों के खिलाफ अवमानना मामले में सुनवाई करते हुए कहा कि 'अवमानना की कार्यवाही से निपटना दर्दनाक है. ' इस मामले पर सुनवाई करते हुए जस्टिस देवेन्द्र कुमार उपाध्याय और नरेन्द्र कुमार जौहरी ने कहा कि 'वकीलों का अनुचित आचरण अथवा व्यवहार न्यायिक प्रणाली में लोगों के विश्वास को कम करता है'.
Symbolice Photo of Court Room for Alert
Symbolice Photo of Court Room for Alert
क्या है मामला
साल २००१ में गोंडा जिले के तत्कालीन जिला जज ने नवम्बर और दिसंबर २००० में वकीलों की हड़ताल के दौरान दुर्व्यवहार के लिए 12 वकीलों के खिलाफ अवमानना कार्यवाही की गई थी. इसी मामले पर आज सुनवाई हुई थी.

वकीलों के अनुचित व्यवहार से जनता विश्वास कम होता है- हाईकोर्ट

जिला कोर्ट गोंडा द्वारा अदालत परिसर में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए जिला न्यायाधीश के अनुरोध पर पुलिस को तैनात किया था. जिला कोर्ट में कुछ वकीलों ने इस बात का विरोध किया था. ऐसी परिस्थितियों में जिला न्यायालय की अवमानना करने वाले वकीलों के खिलाफ सुनवाई शुरू करने का अनुरोध किया था. 'जबकि हाईकोर्ट लखनऊ बेंच ने सुनवाई के दौरान कहा कि 'वकीलों के अनुचित आचरण से जनता का विश्वास न्यायिक प्रणाली पर कम होता है'.
इस सुनवाई के दौरान 12 वकीलों की ओर से प्रस्तुत हुए वकील ने कहा कि इस मामले में 12 लोगों के खिलाफ अवमानना एक सुनी सुनाई कहानी जैसी किसी घटना पर आधारित है. जबकि उन 12 में से 6 वकीलों की मृत्यु हो चुकी है.
Kanpur बार चुनाव में वकीलों की मारपीट और फायरिंग पर भी नाराज़ हुआ था कोर्ट

कानपुर में हाल ही में हुए बार संघ के चुनाव में भी वकीलों के बीच मारपीट के बाद हुई फायरिंग पर कोर्ट काफी नाराज़ था. कानपुर की घटना पर उत्तर प्रदेश बार संघ ने भी निंदा करते हुए इमरजेंसी मीटिंग बुलाई थी. इसी दौरान इस मामले में सुनवाई करना कोर्ट के लिए काफी कठिन रहा. जिसके बाद उसने वकीलों के आचरण पर टिप्पड़ी की.

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

देश में वैक्‍सीनेशन की रफ्तार हुई और तेज, आंकड़ा पहुंचा 160 करोड़ के पारपाकिस्तान के लाहौर में जोरदार बम धमाका, तीन की नौत, कई घायलNEET UG PG Counselling 2021: सुप्रीम कोर्ट ने कहा- नीट में OBC आरक्षण देने का फैसला सही, सामाजिक न्‍याय के लिए आरक्षण जरूरीटोंगा ज्वालामुखी विस्फोट का भारत पर भी पड़ सकता है प्रभाव! जानिए सबसे पहले कहां दिखा असरCorona cases in India: कोरोना ने तोड़ा 8 महीने का रिकॉर्ड; 24 घंटे में 3 लाख से ज्यादा कोरोना के नए केस, मौत का आंकड़ा 450 के पारराजस्थान में कोरोना को लेकर नई गाइडलाइन जारी,विवाह समारोह में 100 लोगों के शामिल होने की अनुमतिJaipur Corona Update: जयपुर में आज मिले 2919 नए कोरोना मरीजRajasthan Corona Update: राजस्थान में आज 13 मरीजों की कोरोना से मौत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.