scriptpurvanchal Expressway lack of facilities no petrol no restaurant | पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे: ये सफ़र नहीं आसां, बस इतना समझ लीजे, इक चिकनी सड़क है और अकेले ही जाना है | Patrika News

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे: ये सफ़र नहीं आसां, बस इतना समझ लीजे, इक चिकनी सड़क है और अकेले ही जाना है

लखनऊ से गाजीपुर की जिस यात्रा में तकरीबन 8 से 9 घण्टे लगते थे पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे से अब वो सफर महज़ 4 घण्टे में ही पूरा हो सकेगा। एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन भले हो गया हो मगर फिलहाल 341 किलोमीटर का ये सफर करना बहुत आसान नहीं है। वजह है सुविधाओं का अभाव।

लखनऊ

Published: November 17, 2021 05:05:38 pm

लखनऊ. मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आखिरकार सुलतानपुर में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन कर जनता को सौंप दिया। पूर्वांचल के लोग लोग काफी समय से इस पल का मानो इंतज़ार कर रहे थे। वजह भी साफ है कि लखनऊ से गाजीपुर की जिस यात्रा में तकरीबन 8 से 9 घण्टे लगते थे अब वो सफर महज़ 4 घण्टे में ही पूरा हो सकेगा। एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन भले हो गया हो मगर फिलहाल 341 किलोमीटर का ये सफर करना बहुत आसान नहीं है। वजह है सुविधाओं का अभाव।
purvanchal_expressway.jpg
इस एक्सप्रेस-वे पर कई ऐसी यात्री सुविधाओं की भी यहां कमी है, जो लोगों को परेशानी में डाल सकती है। दरअसल यहां अभी ना तो कोई पेट्रोल पंप बन कर तैयार हुआ है। ना ही यात्री सुविधा के लिए रेस्टोरेंट या फूड प्वांइट है और ना ही कोई गैरेज। यानि कि अगर 341 किलोमीटर लंबी इस एक्सप्रेस-वे पर आपकी गाड़ी में तेल खत्म हो गया तो आपको धक्का लगाना पड़ सकता है।
इसके अलावा अगर भूख लग गई तो भी इस एक्सप्रेस-वे पर खाने की कोई व्यवस्था नहीं है। इसका इंतजाम आप खुद सफर से पहले करके चलें। इसके साथ ही अगर गाड़ी खराब हो गई तब भी आप यहां कुछ नहीं कर सकते हैं, क्योंकि उसे ठीक करने के लिए यहां कोई गैरेज नहीं है। इस सुविधाओं को शुरू होने में यहां अभी कुछ समय लग सकता है। इसलिए अगर इस एक्सप्रेस-वे से सफर करने की सोच रहे हैं तो इन चीजों को ध्यान में रखकर यात्रा करें।
पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर हर 100 किलोमीटर पर दो रेस्ट स्टॉप एरिया बनाए जा रहे हैं। इन क्षेत्रों में रेस्तरां, शौचालय की सुविधा, एक पेट्रोल पंप, एक मोटर गैरेज और अन्य बुनियादी सुविधाएं निर्माण कार्य पूरी होने के बाद मिलेंगी।
बता दें कि पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे के अंदर 18 फ्लाईओवर, सात रेलवे ओवर ब्रिज, सात लंबे पुल, 104 छोटे पुल, 13 इंटरचेंज और राजमार्ग पर 271 अंडरपास हैं। जो एक साथ कई शहरों को जोड़ते हैं। उत्तर प्रदेश के पूर्वी हिस्सों, विशेष रूप से लखनऊ, बाराबंकी, अमेठी, अयोध्या, सुल्तानपुर, अंबेडकर नगर, आजमगढ़, मऊ और गाजीपुर जिलों को इस नए एक्सप्रेस-वे से काफी फायदा होगा और यात्रा के समय में काफी बचत होगी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

Corona Update: कोरोना ने बनाया नया रिकॉर्ड, 24 घंटे में 3 लाख 47 हजार नए केस, 2.51 लाख रिकवरGhana: विनाशकारी विस्फोट में 17 लोगों की मौत, 59 घायलभारत ने जानवरों के लिए विकसित किया पहला कोरोना वैक्सीन,अब शेर और तेंदुए पर ट्रायल की योजना50 साल से जल रही ‘अमर जवान ज्योति’ आज से इंडिया गेट पर नहीं, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जलेगीT20 World Cup 2022: ICC ने जारी किया शेड्यूल, इस दिन होगी भारत-पाकिस्तान की टक्करआज जारी होगा कांग्रेस का घोषणा पत्र, युवाओं के लिए होंगे कई वादे'कुछ लोग देशप्रेम व बलिदान नहीं समझ सकते', अमर जवान ज्योति के वॉर मेमोरियल में विलय पर राहुल गांधीUP Weather News Update : ठंड ने ताेड़ा 13 साल का रिकॉर्ड, अगले तीन दिन बारिश का अलर्ट, 10 किमी की रफ्तार से चलेंगी हवाएं
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.