15 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चल रही शीतलहर, इन 15 जिलों में घने कोहरे का अलर्ट, 23-24 जनवरी को बारिश की भी संभावना

उत्तर पश्चिमी हवाओं के चलते एक बार फिर मौसम में बदलाव हुआ है। रात का पारा 2.4 डिग्री तक कम हो गया है।

लखनऊ. उत्तर पश्चिमी हवाओं के चलते एक बार फिर मौसम में बदलाव हुआ है। रात का पारा 2.4 डिग्री तक कम हो गया है। इससे गलन में भी तेजी से इजाफा हुआ है। आंचलिक विज्ञान केंद्र के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि उत्तरी-पश्चिमी हवाओं का प्रभाव अभी कुछ और दिन रहेगा। जिसके चलते ठंड से राहत मिलने के आसार नहीं हैं। उत्तर-पश्चिमी हवाओं के दोबारा चलने से एक बार फिर से गलन बढ़ गई है। करीब 15 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से शीतलहरी से प्रदेशवासी ठिठुरने को मजबूर हैं। मौसम विभाग के मुताबिक सर्दी अभी ऐसे ही रहेगी। पहाड़ों पर फिर से बर्फबारी का दौर शुरू हुआ है, जिस कारण से मैदानी क्षेत्रों में ठंड का असर बढ़ता जा रहा है। बर्फबारी के चलते मौसम ठंडा बना रहेगा।

 

भीषण कोहरे का अलर्ट

यूपी के कई जिलों में आज भीषण कोहरा देखने को मिल रहा है। राजधानी लखनऊ समेत बुंदेलखंड, पश्चिमी यूपी और और पूर्वी यूपी के कई जिलों में घना कोहरा छाया हुआ है। मौसम विभाग ने कई शहरों में घने कोहरे का अलर्ट जारी किया है। अनुमान के मुताबिक बाराबंकी, लखनऊ, लखीमपुर खीरी, बहराइच, श्रावस्ती, हरदोई, बलरामपुर, गोण्डा, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, अमरोहा, मुरादाबाद, रामपुर, संभल, पीलीभीत, शाहजहांपुर और सिद्धार्थनगर में घना कोहरा जारी रह सकता है। मौसम विभाग के मुतबिक पश्चिमी विक्षोभ का एक सिस्टम फिर से सक्रिय हो रहा है। इसके चलते यूपी के कई जिलों में 23-24 जनवरी को बारिश की संभावना भी है।

 

तापमान में गिरावट

लखनऊ स्थित मौसम विभाग के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि ठंडी हवाओं के चलने से दिन और रात के तापमान में गिरावट आएगी। हालांकि दो-तीन दिनों के बाद फिर से मौसम करवट लेगा। दिन के तापमान में 4 से 5 डिग्री की गिरावट, जबकि रात का तापमान 3 से 4 डिग्री सेल्सियस की बढ़त दर्ज की जाएगी। खास बात यह है कि पश्चिमी यूपी के मुकाबले पूर्वी यूपी और तराई के जिलों में अभी ज्यादा घना कोहरा होने का मौसम विभाग का अनुमान है। अनुमान ये है किअगले हफ्ते मौसम में बड़ा परिवर्तन देखने को मिल सकता है।

 

यह भी पढ़ें: यूपी कैडर को मिले 16 नए IPS, गृह मंत्रालय ने जारी किया आदेश, लिस्ट में इनके नाम शामिल

Show More
नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned