यूपी के इन जिलों में आज आंधी के साथ हो सकती है बारिश, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

मौसम विभाग से जारी पूर्वानुमान के मुताबिक, आज दोपहर बाद भी सूबे के कई जिलों में जिलों में बारिश और आंधी की संभावना है

By: Hariom Dwivedi

Published: 05 May 2020, 11:23 AM IST

लखनऊ. राजधानी लखनऊ समेत उत्तर प्रदेश के कई जिलों में मंगलवार सुबह तड़के एक बार फिर बारिश झमाझम बारिश हुई। मौसम विभाग से जारी पूर्वानुमान के मुताबिक, आज दोपहर बाद भी सूबे के कई जिलों में जिलों में बारिश और आंधी की संभावना है। कहीं-कहीं ओलावृष्टि भी हो सकती है। लखनऊ, सीतापुर, बाराबंकी, गोण्डा और अम्बेडकरनगर के अलावा पूर्वांचल के बलिया, देवरिया, गोरखपुर, बस्ती, चन्दौली और मऊ जिलों में आज बारिश की संभावना है। वहीं तराई क्षेत्र के जिलों संतकबीर नगर, बहराइच, श्रावस्ती ,बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, कुशीनगर और महराजगंज में बारिश के साथ आंधी और ओले गिरने का पूर्वानुमान है।

लखनऊ स्थित आंचलिक विज्ञान केंद्र के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि अगले कुछ दिनों यानी सात मई तक तक अंधड़ और बारिश का दौर जारी रह सकता है। बताया कि बंगाल की खाड़ी में कम दबाव का क्षेत्र भी विकसित हो रहा है। इस बीच प्रदेश के लगभग सभी जिलों में दिन का तापमान 35 डिग्री सेल्सियस के आसपास और न्यूनतम तापमान 23 डिग्री के आसपास रहेगा। मंगलवार को लखनऊ में अधिकतम तापमान 30 डिग्री और न्यूनतम 25 डिग्री सेंटीग्रेड रिकॉर्ड किया गया।

बेमौसम बारिश ने कद्दू, लौकी व परवल को 60 फीसदी नुकसान
सब्जी किसानों को दोहरा नुकसान उठाना पड़ रहा है। एक तो लॉकडाउन होने के कारण सब्जियां मंडियों में नहीं पहुंच पा रही हैं और दूसरे किसानों पर प्रकृति का प्रकोप लगातार जारी है। सुलतानपुर के ग्राम लोदीपुर के परवल की खेती करने वाले किसान राम सूरत मिश्र का कहना है कि हर साल वे परवल की खेती करके मुनाफा कमाते रहे हैं, लेकिन इस साल दो माह पहले हुई बरसात और ओलावृष्टि के कारण परवल की फसल खराब हो गई थी। लगातार मौसम खराब होने के कारण परवल की पैदावार में 60 प्रतिशत तक की कमी आ गई है। वे कहते हैं कि इसके अलावा लॉकडाउन के कारण सब्जियां मंडी नहीं पहुंच पा रही हैं, जिससे लागत निकालना मुश्किल हो रहा है।

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned