राज्यसभा चुनाव : एसपी समर्थित बजाज का नामांकन खारिज, अब सभी का निर्विरोध चुना जाना तय

- बीएसपी प्रत्याशी रामजी लाल गौतम का पर्चा पाया गया वैध
- अब 10 सीटों पर 10 ही उम्मीदवार मैदान में रह गए

By: Neeraj Patel

Published: 28 Oct 2020, 09:47 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. राज्यसभा चुनाव के लिए यूपी से 10 सीटों पर बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) प्रत्याशी का नामांकन बुधवार को जांच में वैध पाया गया और सपा (एसपी) समर्थित निर्दलीय उम्मीदवार प्रकाश बजाज का नामांकन अवैध पाए जाने के कारण निरस्त कर दिया गया। राज्यसभा चुनाव के निर्वाचन अधिकारी कार्यालय से मिली आधिकारिक जानकारी के मुताबिक नामांकन पत्रों की जांच में बीएसपी प्रत्याशी रामजी लाल गौतम का पर्चा वैध पाया गया। इसलिए उनका पर्चा खारिज होने से बाल-बाल बच गया।

अब 10 सीटों पर 10 ही उम्मीदवार मैदान में रह गए हैं और उन सभी के निर्विरोध निर्वाचित होने की संभावना प्रबल हो गई है। यानि अब सभी 10 सीटों पर सभी प्रत्याशियों का चुना जाना तय माना जा रहा है। वहीं गौतम के नामांकन में प्रस्तावक रहे चार बीएसपी विधायकों असलम राइनी, असलम चौधरी, मुज्तबा सिद्दीकी और हाकिम लाल बिंद ने बुधवार को ही निर्वाचन अधिकारी को सौंपे गए।

शपथपत्र में कहा था कि राज्यसभा चुनाव के लिए बीएसपी प्रत्याशी के नामांकन पत्र पर प्रस्तावक के तौर पर किए गए उनके हस्ताक्षर फर्जी हैं। उस वक्त ऐसी अटकलें लगाई जा रही थीं कि बीएसपी प्रत्याशी गौतम का पर्चा खारिज हो सकता है, लेकिन उनका पर्चा पूरी तरह से वैध पाया गया है। इसलिए उनका पर्चा खारिज नहीं किया गया।

विधानसभा में बीएसपी के नेता लालजी वर्मा ने फर्जी हस्ताक्षर के आरोपों को गलत बताते हुए कहा कि उन्होंने तीन सेट नामांकन दाखिल किए थे। उनमें से दो पर आपत्ति हुई है। उनाका एक नामांकन पत्र वैध है। जहां तक हस्ताक्षर का सवाल है तो सभी असली हैं। नामांकन के समय के फोटोग्राफ भी मौजूद हैं, इसलिए इस बारे में कोई सवाल नहीं उठाया जा सकता कि ये विधायक नामांकन के वक्त मौजूद नहीं थे।

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned