सीएम योगी को ये क्या कह गए रामगोपाल यादव, अखिलेश यादव भी थे मौजूद

नरेश अग्रवाल और रामगोपाल यादव ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर जमकर जुबानी हमले किए

By: Hariom Dwivedi

Updated: 11 Dec 2017, 02:56 PM IST

 

लखनऊ. यूपी निकाय चुनाव के बाद राजनीतिक दलों ने 2019 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए कमर कस ली है। सियासी नफा-नुकसान को देखते हुए सियासी दिग्गजों ने एक-दूसरे पर तीखे व्यंग्य बाण छोड़ने शुरू कर दिए हैं। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने जहां आम चुनाव से पहले भाजपा को घेरने की रणनीति पर काम शुरू कर दिया है, वहीं पार्टी के सूरमा भी मौका मिलते ही भाजपा पर सियासी शब्दबाण चला रहे हैं। इसी कड़ी में रविवार को पार्टी कार्यालय में समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव प्रो. रामगोपाल यादव और नरेश अग्रवाल ने यूपी सरकार पर खूब शब्दबाण चलाए। इस दौरान सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने नोटबंदी, जीएसटी और कालेधन को लेकर पीएम मोदी पर जमकर निशाना साधा।

सीता को चुराने वाला 'योगी' के भेष में था : प्रो. रामगोपाल
समाजवादी पार्टी ने राज्य मुख्यालय पर उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापारी संगठन के व्यापारी सम्मेलन का आयोजन किया था। इसमें व्यापारियों के साथ ही सपा के दिग्गज नेता भी शामिल हुए थे। इस दौरान प्रोफेसर रामगोपाल यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को आड़े हाथों लेते हुए प्रदेश सरकार की तुलना रावण राज से की। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में अभी तो रावण राज चल रहा है। 2019 के बाद जब भाजपा हारेगी तो यूपी में रामराज आएगा। रामगोपाल यादव इतने पर ही नहीं रुके। उन्होंने व्यापारियों को संबोधित करते हुए कहा कि सीता को हरने वाला भी 'योगी' के ही भेष में था, जिसने सीता का अपहरण कर लिया था।

2019 में मोदी का घमंड उतार देगी जनता
व्यापारियों के सम्मेलन को संबोधित करते हुए राज्यसभा सांसद नरेश अग्रवाल ने कहा कि भाजपा सरकार एक के बाद एक जनविरोधी कानून लाए जा रही है। सरकार के प्रति व्यापारियों और किसानों में गुस्सा है। उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी को घमंड हो गया है, जो उतारना जरूरी है। जनता 2019 के लोकसभा चुनाव में उनका घमंड उतार देगी। इस दौरान अन्य वक्ताओं ने भी मोदी सरकार पर खूब शब्दबाण चलाए।

BJP Narendra Modi
Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned