यूपी में कोरोना के मद्देनजर बैंक कर्मचारियों को भी मिली वर्क फ्रॉम होम की इजाजत, आरबीआई ने जारी की नई गाइडलाइन

- पेमेंट लेन-देन और ट्रांसफर के लिए RBI ने डिजिटल तरीका अपनाने की अपील
- बैंक उपभोक्ता 24 घंटे उठा सकते हैं इन बैंकिंग सुविधाओं का लाभ
- आरबीआई का यह आदेश 19 मार्च से 31 मार्च तक ये लागू रहेगा

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के साथ-साथ पूरे देशभर में बढ़ते कोरोना वायरस के मद्देनजर भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने प्रदेश के सभी कर्मचारियों के लिए बड़ा फैसला लिया है। आरबीआई ने भी उत्तर प्रदेश के अपने सभी कर्मचारियों के लिए वर्क फ्रॉम होम के लिए नई गाइडलाइन जारी कर दी है। आरबीआई की गाइडलाइन यूपी सहित पूरे देश भर में लागू रहेगी। एसबीआई लखनऊ के एक अधिकारी का कहना है कि आरबीआई ने यह गाइडलाइन उन कर्मचारियों के लिए लागू की गई है जो कर्मचारी घर से काम कर सकते हैं। आरबीआई ने अपने उन कर्मचारियों को वर्क फ्रॉम होम की इजाजत दे दी है जिनके बिना ऑफिस आए भी काम चल सकता है। आरबीआई का यह आदेश 19 मार्च से 31 मार्च तक लागू रहेगा। बता दें कि महाराष्ट्र सरकार ने कंपनियों से अपने 50 फीसदी स्टाफ से काम कराने का आदेश दिया था इस आदेश को आरबीआई ने गंभीरता से लिया है।

भारत में इस समय कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 168 हो गई है और इसके चलते कई राज्य की सरकारों ने ये आदेश जारी किया है कि कंपनियां अपने एंप्लाई से वर्क फ्रॉम होम कराएं। देश की अधिकांश निजी कंपनियां इन आदेशों पर अमल कर रही हैं और अपने कर्मचारियों को घर से काम करने की इजाजत दी है और उनके लिए इंफ्रास्ट्रक्चर और लॉजिस्टिक सेवाएं मुहैया करा रही हैं। केवल वे ही कर्मचारी दफ्तर जा रहे हैं जिनके लिए इसे टालना संभव नहीं है।

एचडीएफसी बैंक लखनऊ के एक अधिकारी का कहना है कि कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए उत्तर प्रदेश सहित पूरे देश के लोगों को भुगतान के लिए डिजिटल मोड का इस्तेमाल करना चाहिए। यूपी में सहित देशभर में आम जनता के लिए एनईएफटी, आईएमपीएस, यूपीआई और बीबीपीएस फंड ट्रांसफर, सामान खरीदने/ सेवाओं की खरीद, भुगतान की सुविधाएं 24 घंटे लागू रहेंगी। इस मामले में एसबीआई के भी एक अधिकारी ने कहा है कि उत्तर प्रदेश के निवासी भी अपनी आवश्यकता के अनुसार मोबाइल बैंकिंग, इंटरनेट बैंकिंग, कार्ड, इत्यादि जैसे डिजिटल पेमेंट मोड का इस्तेमाल कर सकते हैं। उन्हें पैसे निकालने या बिल का पेमेंट करने के लिए भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचना चाहिए।

ये भी पढ़ें - यूपी में शॉपिंग के लिए डेबिट और क्रेडिट कार्ड से नहीं कर पाएंगे ऑनलाइन भुगतान, आरबीआई ने जारी की नई गाइडलाइन

पैसे ट्रांसफर और लेन देन के लिए अपनाएं यह तीन तरीके

1. नेशनल इलेक्ट्रॉनिक फंड्स ट्रांसफर (NEFT) के इंटरनेट के जरिए दो लाख रुपये तक के लेन-देन के लिए एनईएफटी का इस्तेमाल किया जाता है। इसके जरिये किसी भी शाखा के किसी भी बैंक खाते से किसी भी शाखा के बैंक खाते को पैसा भेजा जा सकता है।

2. यूनिफाइड पेमेंट्स इंटरफेस (UPI) एक अंतर बैंक फंड ट्रांसफर की सुविधा है, जिसके जरिए स्मार्टफोन पर फोन नंबर और वर्चुअल आईडी की मदद से पेमेंट की जा सकती है। यह इंटरनेट बैंक फंड ट्रांसफर के मकैनिज्म पर आधारित है।

3. आईएमपीएस के माध्यम से ग्राहकों को तत्काल भुगतान सेवा मिलती है। यह सुविधा मोबाइल और इंटरनेट बैंकिंग की मदद से इंटर-बैंक लेनदेन की सुविधा प्रदान करता है। इसके जरिए ग्राहक एक दिन में दो लाख रुपए तक भेज सकते हैं।

Corona virus Corona Virus Precautions
Show More
Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned