Republic Day : यूपी की इन 10 हस्तियों को मिला पद्म सम्मान

Padma Award : एक को पद्मविभूषण, दो को पदमभूषण, सात को पद्मश्री दिया गया

By: Hariom Dwivedi

Updated: 26 Jan 2021, 05:05 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. Padma Award on Republic Day. 72वें गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर केंद्र सरकार ने पद्म पुरस्कारों की घोषणा की, जिनमें उत्तर प्रदेश की 10 हस्तियां शामिल हैं। इनमें अयोध्या में बाबरी मस्जिद के नीचे मंदिर की खोज करने वाले बृजवासी लाल को पद्म विभूषण, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पूर्व प्रधान सचिव नृपेंद मिश्रा व शिया धर्मगुरु कल्बे सादिक (मरणोपरांत) सहित यूपी की दो हस्तियों को पद्मभूषण और सात को पद्मश्री सम्मान से नवाजा गया। इनके अलावा पीएम मोदी के प्रस्तावक रहे वाराणसी के डोमराजा (मरणोपरांत) और एथलीट सुधा सिंह सहित अलग-अलग क्षेत्रों की सात हस्तियों को पद्मश्री से सम्मानित किया गया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सम्मान पाने वाली सभी हस्तियों को बधाई दी। कहा, इन्होंने समाज व देशहित को सर्वोपरि रखते हुए अपने-अपने क्षेत्रों में उल्लेखनीय काम करते हुए समाज व देश को लाभ पहुंचाया है।

पद्मविभूषण : बीबी लाल
भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) के पूर्व निदेशक रहे झांसी के बृजवासी लाल को पद्मविभूषण सम्मान से नवाजा गया है। हाल ही में बाबरी मस्जिद के नीचे मंदिर की खोज करने के कारण वह सुर्खियों में रहे थे। इससे पहले वर्ष 2000 में उन्हें पद्मभूषण से सम्मानित किया जा चुका है।

पद्म भूषण : नृपेंद मिश्रा
यूपी के देवरिया के मूल निवासी नृपेंद्र मिश्रा को पद्म भूषण पुरस्कार मिला है। 1967 बैच के रिटायर्ड आईएएस अधिकारी नृपेंद्र मिश्रा पीएम मोदी के प्रधान सचिव रह चुके हैं। वर्तमान में वह अयोध्या में बनने वाले श्रीराम मंदिर निर्माण कमेटी के चेयरमैन हैं। यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह के निजी सचिव व पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह के प्रधान सचिव भी रह चुके हैं।

पद्मभूषण : कल्बे सादिक
शिया धर्मगुरु ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के उपाध्यक्ष रहे कल्बे सादिक को मरणोपरांत पद्मभूषण सम्मान से नवाजा गया। लखनऊ निवासी मौलाना सादिक गंगा-जमुनी तहजीब के पैरोकार थे। साथ ही वह लड़कियों व गरीब बच्चों को अनिवार्य शिक्षा के हिमायती थे।

यह भी पढ़ें : बाबरी मस्जिद के नीचे मंदिर की खोज करने वाले बृजवासी लाल को पद्म विभूषण

सात हस्तियों को पद्मश्री
लिटरेटर एंड एजुकेशन- उषा यादव (कानपुर)
लिटरेटर एंड एजुकेशन- रामयत्न शुक्ला (वाराणसी)
स्पोर्ट्स- सुधा सिंह (रायबरेली)
कृषि क्षेत्र- चंद्रशेखर सिंह (वाराणसी)
मेडिसिन- अशोक कुमार साहू (कानपुर)
समाजसेवा- डोमराजा जगदीश चौधरी (मरणोपरांत)
कला- गुफान अहमद

पद्म विभूषण, पद्मभूषण और पद्मश्री सम्मान
पद्म विभूषण पुरस्कार भारत रत्न के बाद भारत सरकार द्वारा दिया जाने वाला दूसरा उच्च नागरिक सम्मान है जो असैनिक क्षेत्रों में बहुमूल्य योगदान के लिये दिया जाता है। पद्म भूषण पुरस्कार किसी भी क्षेत्र में विशिष्ट और उल्लेखनीय सेवा के लिए दिया जाता है। वहीं पद्मश्री सम्मान कला, शिक्षा, उद्योग, साहित्य, विज्ञान, खेल, चिकित्सा, समाज सेवा और सार्वजनिक जीवन आदि में विशिष्ट योगदान के लिए दिया जाता है। यह सभी पुरस्कार भारत के राष्ट्रपति द्वारा दिये जाते हैं।


यह भी पढ़ें : क्यों मनाते हैं यूपी स्थापना दिवस, इस बार क्या है खास?

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned