यूपी में 60 फीसदी तक सस्ती हुई कोरोना जांच, अब आरटीपीसीआर के पड़ेंगे केवल इतने रुपये, इनकी टेस्टिंग होगी फ्री

उत्तर प्रदेश सरकार के चिकित्सा शिक्षा विभाग ने बड़ी सहूलियत दी है।

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में कोरोना जांच के लिए अब सिर्फ 600 रुपये ही देने होंगे। अभी तक यह जांच 1500 रुपये में होती थी। चिकित्सा शिक्षा विभाग के अंडर वाले मेडिकल कॉलेजों और चिकित्सा संस्थानों में नॉन कोविड केयर के मरीज अब सिर्फ 600 रुपये खर्च करके कोरोना वायरस की आरटीपीसीआर जांच करा सकते हैं।

60 फीसदी तक सस्ती हुई कोरोना जांच

यानी कोरोना टेस्ट की दरों में करीब 60 फीसदी तक की कमी करके चिकित्सा शिक्षा विभाग ने प्रदेश के मेडिकल कॉलेजों में दिखाने और भर्ती होने आ रहे नॉन कोविड केयर के मरीजों को बड़ी सहूलियत दी है। दरअसल इलाज कराने के लिए अस्पताल पहुंचे मरीज और उसके एक तीमारदार का कोरोना टेस्ट होना जरूरी है। अभी तक उन्हें कोरोना की आरटीपीसीआर जांच के लिए 1500 रुपये खर्च करने पड़ते थे, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा।

इनकी जांच का नहीं पड़ेगा पैसा

वहीं चिकित्सा शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव डॉ.रजनीश दुबे ने जानकारी देते हुए बताया कि थैलीसीमिया और हीमोफीलिया के मरीजों और उनके तीमारदारों की कोरोना जांच का कोई पैसा नहीं लिया जाएगा। वहीं कैंसर के मरीजों और किडनी की डायलिसिस कराने वाले रोगियों समेत दूसरी सभी गंभीर बीमारियों से ग्रसित मरीजों और उनके साथ अस्पताल में रहने वाले किसी एक तीमारदार की कोरोना जांच अब सिर्फ 300 रुपये में होगी।

coronavirus कोरोना वायरस
नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned