अखिलेश यादव ने आखिर ऐसा क्या कहा जिससे यूथ हो गये खुश

नवजवानो किसानो की इज्जत बचाना सपा की जिम्मेदारी

By: Anil Ankur

Published: 26 Jan 2018, 04:46 PM IST

लखनऊ. समाजवादी पार्टी मुख्यालय पर 69वां गणतंत्र दिवस हर्ष और उल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर पूर्व रक्षामंत्री श्री मुलायम सिंह यादव ने गणतंत्र दिवस की बधाई देते हुए अपने सम्बोधन में कहा कि आजादी त्याग, बलिदान और लाखों भारतवासियों की कुबार्नियों के बाद हासिल हो सकी। देश की आजादी से समाजवादियों का गहरा नता रहा है। लोहिया के समाजवादी आंदोलन से जुड़कर समाजवादी लोगों ने स्वतंत्रता संग्राम और आजादी के बाद दलितों, पिछड़ों अल्पसंख्यकों, महिलाओं, छात्रों-नौजवानों को अधिकार को अधिकार दिलाने का काम किया। जिससे संविधान के अनुसार देश का हर व्यक्ति गरिमा और सम्मान से जीवन व्यतीत कर सके।
राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने राष्ट्रीय ध्वज के ध्वजारोहण के उपरांत उपस्थित जनसमुदाय को संबोधित करते हुये कहा कि संविधान ने सबको सम्मान से जीने का अधिकार दिया हैं। आज का दिन देश को आजादी दिलाने वाले अनगिनत स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को याद करने का है। पिछले सत्तर सालों की विकास यात्रा में दुनिया से भारत की तुलना करने में हम आज भी पीछे हैं। किसानों को खुशहाल बनाने और बेरोजगारी दूर करने की दिशा में संतोषजनक कार्य नहीं हुआ। जहां एक ओर अमीर लोगों के हाथों में संसाधन की अधिकता होती जा रही है, वहीं दूसरी ओर गरीबों का जीवन बदतर होता जा रहा है। अमीर-गरीब के बीच की खाई लगातार बढ़ती जा रही है। किसान आत्महत्या करने को मजबूर हैं। लाल किले से किया गया वादा सिर्फ वादा बनकर रह गया है।
पूर्व मुख्यमंत्री यादव ने कहा कि उत्तर प्रदेश में समाजवादी सरकार में अवस्थापना विकास के सबसे अधिक कार्य हुए हैं। समाजवादियों ने जाति और धर्म के आधार पर कभी काम नहीं किया। समाजवादी सरकार ने विकास के हर क्षेत्र में एक उदाहरण प्रस्तुत किया है। उन्होंने कहा कि सरकारें अपने कार्यों से उदाहरण प्रस्तुत कर सकती है और समाज को आगे बढ़ाने में योगदान दे सकती हैं। समाजवादी सरकार द्वारा आगरा एक्सप्रेस-वे का निर्माण विश्वस्तरीय सड़कों की दिशा में बड़ी उपलब्धि हैं। उदाहरण है। जबकि देश और प्रदेश की वर्तमान भाजपा सरकार ऐसा उदाहरण प्रस्तुत करने में विफल रही हैं। उत्तर प्रदेश की सरकार ने तो घोषणापत्र के किसी वादे को ही पूरा नहीं किया। यह सरकार केवल जनता के मुद्दों से ध्यान हटाना जानती है। गणतंत्र दिवस के अवसर पर भारत के लोगों को भारतीय संविधान को बचाने के लिए सजग रहना होगा तभी स्वतंत्रता आंदोलन के मूल्य की रक्षा भी हो सकेगी।
यादव ने कहा कि समाजवादियों को सतर्क रहना होगा। आज के दिन हमें संकल्प लेना चाहिए कि हम अपने रास्ते से नहीं हटेंगे जब तक किसान, गरीब, नौजवानों को उनका सम्मान नहीं दिला देते। समाजवादियों की चिंता हमेशा समाज को मजबूत करने की रही हैं। देश की आजादी के लिये हिन्दू-मुसलमान ने मिलकर लड़ाई लड़ी। सामाजिक रूप से अभी भी कई वर्गों को अवसर नहीं मिला। इसके लिये समाजवादियों को आगे आना होगा।
इस अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम के रूप में सपेरों ने प्रस्तुति दी। कार्यक्रम में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, सांसद किरणमय नंदा, नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन, प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल, राष्ट्रीय सचिव राजेंद्र चौधरी , पूर्व मंत्री आरके चैधरी, मधु गुप्ता, एसआरएस यादव, उदयवीर सिंह, राजेश यादव राजू, राजकुमार मिश्रा, गौरी यादव (मध्य प्रदेश), यस सिमहाद्री (तेलंगाना), गीता सिंह, विकास यादव, विजय सिंह यादव, रामसागर यादव एवं अच्छे लाल सोनी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

Anil Ankur Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned