आइपीएल मैच में ऑनलाइन सट्टा लगवाने वाले 11 लोग गिरफ्तार, एसटीएफ ने की बड़ी कार्रवाई

आइपीएल मैच में लाखों, करोड़ों रुपए का खिलवाया जा रहा था ऑनलाइन सट्टा, जानिए कहां से क्या क्या मिला

 

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में आइपीएल मैच में लाखों, करोड़ों रुपए का ऑनलाइन सट्टा (Online Satta) खिलवाने वालों पर रोक लगाने के लिए राजधानी की एसटीएफ टीम ने सख्त कदम उठाया है। लखनऊ एसटीएफ की टीम ने बुधवार को कानपुर, वाराणसी, प्रयागराज में छापेमारी कर 11 सट्टाकिंग को रंगेहाथों गिरफ्तार किया है। इन सट्टेबाजों के पास से लगभग लाखों रुपए के साथ विदेशी मुद्रा और मोबाइल लैपटॉप भी बरामद किए हैं।

एसटीएफ टीम के मुताबिक सट्टाकिंग 2019 के मास्टर माइंड जीतू दुबई में रहकर कई वर्षों से ऑनलाइन ट्रेडिंग का काम करता रहा है। जीतू के पास से टीम को ऑनलाइन बैटिंग बॉक्स भी मिला है। जिसके माध्यम से 10-10 की संख्या में बुकी एक साथ ऑनलाइन बैंटिग करते हैं। साथ ही जीतू के तार रायपुर, अजमेर, जयपुर, मुंबई, दिल्ली व दुबई में बैठे बुकी से भी जुड़े हुए हैं। छापोमारी के दौरान फाच्र्यूनर कार व मर्सडीज कार भी कब्जे में ले ली गई है लेकिन जीतू का एक साथी अजय सिंह भागने में कामयाब रहा।

प्रयागराज

एसटीएफ टीम ने प्रयागराज के अतरसुइया थाने के मीरापुर इलाके में छापेमारी कर नौ सट्टेबाजों को पैसों के लेन देन के समय गिरफ्तार किया है। उनके पास से लगभग चार लाख रुपए, 20 मोबाइल और एक लैपटॉप बरामद किया है। वह शहर के कई स्थानों पर लोगों को सट्टा लगवा रहे थे। इस मामले में कुछ सफेद पोशों के नाम सामने आए हैं जिसके लिए पुलिस जांच में जुटी हुई है। बता दें कि जो गिरफ्तापर किए गए है उनमें मीरापुर के एक प्लाट से पुराना कटरा के अंकित जायसवाल, नितिन साहू, मोनू साहू, विवेक साहू, मीरापुर सब्जी मंडी के नवनीत राय, कटघर का सिंटू केसरवानी, मुट्ठीगंज के सचिन अग्रहरि, ऊंचामंडी के कौशल सोनी और मुट्ठीगंज के अयूर गुप्ता शामिल हैं।

वाराणसी

वाराणसी शहर में भी क्राइम ब्रांच ने छापा मारकर सट्टाकिंग 2019 (Satta King 2019) के गिरोह से जुड़े अशोक सिंह, सुनील पाल व विक्की खान को गिरफ्तार किया है। उनके पास से लगभग 27.75 लाख रुपए व कई मोबाइल फोन भी बरामद किये हैं। शहर में इस तरह की कार्रवाई से सट्टा माफियाओं को एक जोरदार झटका लगा। यहां पर पकड़े गए सट्टेबाजों का सट्टे के अलावा कोई अन्य आय का स्रोत नहीं हैं।

कानपुर

लखनऊ एसटीएफ ने टीम ने कानपुर में भी छापेमारी के दौरान आइपीएल सट्टेबाजी के मास्टर माइंड सरगना जितेन्द्र उर्फ जीतू को गिरफ्तार किया है। उसके साथ-साथ सट्टेबाजी के धंधे से जुड़े आशीष, सुमित, मोहित व हिमांशु को भी पकड़ा। इन सभी के पास से टीम ने लगभग 2.75 लाख रुपए, पांच लैपटॉप, तीन स्मार्ट टीवी, वाईफाई राऊटर, तीस मोबाइल फोन, 375 दिरम समेत अन्य चीजें भी बरामद की हैं। इसी स्ट्टे के कारोबार से जीतू ने मुंबई, कानपुर, लखनऊ, फतेहपुर करोड़ों के मकान खरीद लिये हैं।

बांदा

क्राइम ब्रांच प्रभारी निरीक्षक साजिद अली खान ने बताया कि आईपीएल क्रिकेट सट्टा खेले जाने की सूचना पर आईपीएल मैच में सट्टा खेल रहे तीन युवकों को चार मोबाइल व 13500 रुपए के साथ रंगेहांथों गिरफ्तार किया गया है। कुछ लोग आईपीएल क्रिकेट में जीत हार के लिए बाजी लगवा रहे थे। दो अन्य भी सट्टेबाजी की बात कर रहे थे। पकड़े गए युवकों में रवि निगम पुत्र उमाशंकर निगम निवासी क्योटरा, अभिषेक जैन पुत्र अनिल कुमार जैन निवासी कोतवाली चौराहा और सचिन कुमार पुत्र गोपाल अवस्थी हैं।

online Satta King Satta King satta king online
Show More
Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned