सावन में कैसे करें शनिदेव की आराधना, शिव ने प्रसन्न होकर लगाया था गले जाने उपाय साथ ही दिन का हाल

Ritesh Singh | Updated: 14 Jul 2019, 06:00:00 AM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

दैनिक राशिफल : Daily Horoscope

लखनऊ , बम बम भोले के जयकारों ने राजधानी गूंज रही हैं सावन के महीन को शुरू होने में बस कुछ ही दिन बचे हैं लेकिन सब तरफ तैयारियां जोरो पर शुरू हो चुकी हैं। घर से लेकर मंदिरो तक साफ सफाई से लेकर सजावट तक शुरू हो गया हैं। पंडित शक्ति ने बतायाकि शनि देव न्याय के देवता हैं वो अधर्म को सहन नहीं कर सकते। लेकिन उनके नाम से ही इंसान तो क्या देवी देवता तक डरते हैं। ऐसी ही एक बात हैं जब शनि देव ने शिव से बोला कि प्रभु मैं आपकी राशि में आने वाला हूँ। कल का समय निश्चित हुआ हैं। प्रभु आपकी राशि पर मेरी वक्र दृष्टि पड़ेगी। यह बात सुन कर भगवान् शिव सोच में पड़ गए। फिर उन्होंने शनि देव से पूछा आप कितने समय तक रहेंगे

पंडित शक्ति मिश्रा ने बतायाकि शनिदेव बोले प्रभु कल सवा प्रहर के लिए आप पर मेरी वक्र दृष्टि रहेगी। यह बात सुन कर भगवान् शंकर परेशान हो गए। सोचते सोचते उन्होंने शनि की वक्र दृष्टि से बचने के लिए अगले दिन की सुबह ही मृत्युलोक पहुंच गए। भगवान् शिव ने बचने के लिए एक हाथी का रूप बदल लिया। जब समय बीत गया तब शिव ने सोचा अब शनि की दृष्टि का असर अब नहीं होगा। यह सोचते हुए शिव कैलाश आ गए।

वो बहुत ही खुश थे। कैलाश पर शनिदेव पहले से ही उनका इन्तजार कर रहे थे। उनको देखते ही शनिदेव ने झुककर प्रणाम किया। शिव मुस्कुराए और उनसे बोले आपकी दृष्टि का मुझ पर कोई असर नहीं हुआ। यह सुनकर शनिदेव मुस्कुराते हुए बोले प्रभु मेरी दृष्टि से कोई भी नहीं बच सकता चाहे देव हो या दानव। यह सुनकर कर शिव सोच में पड़ गए। शनि देव बोले प्रभु मेरी ही दृष्टि की वजह से आपको देव योनि को छोड़कर पशु योनि में जाना पड़ा। इसी तरह से आप पर मेरी वक्र दृष्टि पड़ गई।

भगवान् शिव ने शनिदेव की इस न्यायप्रियता को देखकर बहुत खुश हुए और उनको गले से लगा लिया।


न ह्रश्यत्यात्मसम्माने नावमानेन तप्यते।
गंगो ह्रद इवाक्षोभ्यो य: स पंडित उच्यते।।
।।वी o नी o ।।


जो अपना आदर-सम्मान होने पर ख़ुशी से फूल नहीं उठता , और अनादर होने पर क्रोधित नहीं होता तथा गंगाजी के कुण्ड के सामान जिसका मन अशांत नहीं होता , वह ज्ञानी कहलाता है।

सुभाषितानि

एवमुक्त्वा ततो राजन्महायोगेश्वरो हरिः ।
दर्शयामास पार्थाय परमं रूपमैश्वरम्‌ ॥

संजय बोले- हे राजन्‌! महायोगेश्वर और सब पापों के नाश करने वाले भगवान ने इस प्रकार कहकर उसके पश्चात अर्जुन को परम ऐश्वर्ययुक्त दिव्यस्वरूप दिखलाया॥,9॥

दैनिक राशिफल : Daily Horoscope

देशे ग्रामे गृहे युद्धे सेवायां व्यवहारके।
नामराशेः प्रधानत्वं जन्मराशिं न चिन्तयेत्।।
विवाहे सर्वमाङ्गल्ये यात्रायां ग्रहगोचरे।
जन्मराशेः प्रधानत्वं नामराशिं न चिन्तयेत ।।

मेष (Aries)

यात्रा सफल रहेगी। रुका हुआ धन प्राप्त होने के योग हैं। व्यापार-व्यवसाय मनोनुकूल चलेगा। निवेश शुभ रहेगा। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। विरोध होगा। बेचैनी रहेगी। पार्टनरों से मतभेद दूर होंगे। प्रसन्नता में वृद्धि होगी।

वृष (Taurus)

कार्यस्थल पर परिवर्तन संभव है। योजना फलीभूत होगी। घर-परिवार की चिंता बनी रहेगी। कारोबार से लाभ होगा। नौकरी में जवाबदारी बढ़ सकती है। घर-बाहर सभी ओर से सफलता प्राप्त होगी। प्रमाद न करें।

मिथुन (Gemini)

पूजा-पाठ में मन लगेगा। किसी संत-महात्मा का आशीर्वाद मिल सकता है। राजकीय बाधा दूर होकर लाभ की स्थिति निर्मित होगी। पुराना रोग परेशानी का कारण बन सकता है। वाणी पर नियंत्रण रखें। धन प्राप्ति सुगम होगी। प्रमाद न करें।

कर्क (Cancer)

चोट व दुर्घटना से बचें। शारीरिक हानि हो सकती है। दूसरों के झगड़ों में न पड़ें। जोखिम व जमानत के कार्य टालें। कारोबार ठीक चलेगा। नौकरी में कलह हो सकती है। निवेश इत्यादि में जल्दबाजी न करें। आय बनी रहेगी।

सिंह( Leo )

विवाह के उम्मीदवारों को विवाह का प्रस्ताव मिल सकता है। घर-परिवार की चिंता रहेगी। राजकीय सहयोग प्राप्त होगा। लाभ के अवसर अवसर हाथ आएंगे। समय की अनुकूलता का लाभ लें। धन प्राप्ति सुगम होगी। घर-बाहर प्रसन्नता रहेगी।

कन्या (Virgo)

भाइयों का सहयोग प्राप्त होगा। शत्रुओं का पराभव होगा। संपत्ति के बड़े सौदे बड़ा लाभ दे सकते हैं। रोजगार में वृद्धि होगी। नए काम मिल सकते हैं। व्यापार-व्यवसाय अच्छा चलेगा। चिंता तथा तनाव में कमी होगी। प्रमाद न करें।

तुला (Libra)

किसी आनंदोत्सव में भाग लेने का अवसर प्राप्त होगा। परिवार के सदस्यों तथा मित्रों के साथ समय सुखद व्यतीत होगा। संगीत व चित्रकारी आदि के कार्य सफल तथा पूर्ण होंगे। एकाग्रता बनी रहेगी। अध्ययन में मन लगेगा। धनार्जन होगा।

वृश्चिक (Scorpio)

बुरी खबर मिल सकती है। दौड़धूप अधिक रहेगी। वाणी में हल्के शब्दों के इस्तेमाल से बचें। लेन-देन में जल्दबाजी न करें। लाभ का प्रतिशत कम रहेगा। दूसरों की अपेक्षा बढ़ेगी। नौकरी में कार्यभार रहेगा। स्वास्थ्य का पाया कमजोर रहेगा।

धनु ( Sagittarius)

मेहनत का फल पूरा-पूरा प्राप्त होगा। रिश्तेदारों तथा मित्रों का सहयोग करने का अवसर प्राप्त होगा। सामाजिक प्रतिष्ठा में वृद्धि होगी। कारोबार मनोनुकूल चलेगा। निवेश शुभ रहेगा। पारिवारिक सुख-शांति बनी रहेगी। प्रसन्नता रहेगी।

मकर ( Capricorn )

माता के स्वास्थ्य की चिंता रहेगी। खर्च होगा। शरीर के ऊपरी हिस्से में कष्ट संभव है। अच्छी खबर प्राप्त होगी। आत्मसम्मान बना रहेगा। जोखिम उठाने का साहस कर पाएंगे। भूले-बिसरे साथियों से मुलाकात होगी।

कुंभ (Aquarius)

भेंट व उपहार की प्राप्ति होगी। बेरोजगारी दूर करने के प्रयास सफल रहेंगे। पार्टनरों से मतभेद दूर होकर सहयोग मिलेगा। यात्रा मनोनुकूल रहेगी। शेयर मार्केट व म्युचुअल फंड लाभ देंगे। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। कष्ट संभव है।

मीन (Pisces)

अप्रत्याशित बड़े खर्च सामने आएंगे। व्यवस्था में मुश्किल होगी। कानूनी अड़चन आ सकती है। लापरवाही न करें। वाणी पर नियंत्रण रखें। लेन-देन में जल्दबाजी न करें। व्यापार-व्यवसाय की गति धीमी रहेगी। धैर्य रखें।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned