अयोध्या में छह दिसंबर को सभी आयोजनों पर लगी रोक, चप्पे-चप्पे पर पुलिस का पहरा

विहिप नहीं मनाएगा शौर्य दिवस, हाजी महबूब बोले- मनाएंगे यौमे गम

अयोध्या. छह दिसंबर को लेकर अयोध्या में सुरक्षा-व्यवस्था और बढ़ा दी गई है। सभी एन्ट्री मार्ग पर सघन जांच पड़ताल की जा रही है। खुफिया एजेंसियों को भी सतर्क कर दिया गया है। पूर्व से ही नगर में धारा 144 लागू हैै। जिला प्रशासन ने छह दिसंबर की संवेदनशीलता को देखते हुए सभी आयोजनों पर रोक लगा दी है। छह दिसंबर 1992 में अयोध्या के विवादित ढांचे को लाखों कारसेवकों ने ढहा दिया था, जिसके बाद देशभर में मुस्लिम व हिंदू संगठनों के बीच दरारें बढ़ी थीं। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद स्लिम पक्ष की ओर से पुनर्विचार याचिका दायर करने के बाद एक बार फिर विवाद बढ़ता नजर आ रहा है।

जिला प्रशासन ने 4 जोन और 12 सेक्टरों में अयोध्या को बांटकर निगरानी की व्यवस्था बनाई है। मिश्रित आबादी वाले संवेदनशील इलाकों में विशेष सतर्कता का निर्देश दिया गया है। लगातार पुलिस गश्त कर रही है। ढांचा ध्वंस की बरसी 6 दिसंबर पर परंपरागत रूप से साधु संतों और विहिप की ओर से शौर्य दिवस तथा मुस्लिम पक्ष की ओर से यौमे गम का आयोजन किया जाता रहा है। हालांकि इस बार साधु-संतों और विश्व हिंदू परिषद ने सुप्रीम कोर्ट का फैसला रामलला के पक्ष में सुनाए जाने के बाद शौर्य दिवस न मनाने का निर्णय लिया है, जबकि मुस्लिम पक्ष की ओर से यौमे गम मनाने की बात कही जा रही है।

बाबरी मस्जिद के पैरोकार हाजी महबूब ने कहा कि वह छह दिसंबर को अपने आवास पर काला दिवस के रूप में यौमे गम मनाएंगे। उनके मुताबिक, यह आयोजन अपने आवास के अंदर कर रहे हैं तो धारा 144 का कोई मतलब ही नहीं होता न ही परमिशन का। यह आयोजन वर्षों से परंपरागत रूप से किया जा रहा है और आगे भी किया जाएगा।

रेजीडेंट मजिस्ट्रेट बोले
रेजीडेंट मजिस्ट्रेट अयोध्या के डी शर्मा ने बताया कि नगर में धारा 144 लागू है। इस दौरान किसी भी आयोजन बिना अनुमति के नहीं किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि आवास के अंदर होने वाले आयोजनों पर कोई प्रतिबंध नहीं है, लेकिन एक बड़ी संख्या में भीड़ को एकत्रित करना धारा 144 का उल्लंघन है।

क्षेत्राधिकारी ने कहा
क्षेत्राधिकारी अमरसिंह ने बताया कि अयोध्या की सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिये जा रहे हैं, लेकिन अयोध्या के लोगों के लिए कहीं भी आने-जाने पर रोक नहीं है। इसके साथ ही अयोध्या के बस व रेलवे स्टेशन समेत सभी प्रवेश मार्गों पर पर्याप्त सुरक्षा बल लगा दिए गए हैं। अयोध्या की आम दिनचर्या प्रभावित न हो इसका भी ध्यान रखा जा रहा है।

Hariom Dwivedi
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned