सात दिवसीय आकांक्षा राष्ट्रीय नाट्य महोत्सव 16 मई से

नाट्य महोत्सव की संपन्न हुई एक बैठक में दी।

By: Ritesh Singh

Published: 02 Apr 2021, 08:47 PM IST

लखनऊ, रंगमंच के क्षेत्र में अग्रणी रंग संस्था आकांक्षा थिएटर आर्ट्स और भारत सरकार संस्कृति मंत्रालय संस्कृति विभाग नई दिल्ली के संयुक्त तत्वावधान में स्व:पं. सिद्वनाथ पांडेय एवं स्व:सरला पांडेय की स्मृति में आगामी 16 मई से 22 मई 2021 तक वाल्मीकि रंगशाला गोमती नगर में 8वां सात दिवसीय आकांक्षा राष्ट्रीय नाट्य महोत्सव-2021 का आयोजन किया जायेगा। इस बात की जानकारी आकांक्षा थिएटर आर्ट्स के संस्थापक प्रभात कुमार बोस ने संस्था के सभागार में नाट्य महोत्सव की संपन्न हुई एक बैठक में दी।

उन्होने बताया कि 8वें सात दिवसीय राष्ट्रीय नाट्य महोत्सव के प्रथम सन्ध्या 16 मई को आकांक्षा थिएटर आर्ट्स की प्रस्तुति के अन्तर्गत अचला बोस के निर्देशन में रेपैट्री ग्रांट 21-22 के तहत 60 दिवसीय गहन नाट्य कार्यशाला में तैयार वनमाला भवालकर द्वारा लिखित एवं अशोक लाल द्वारा निर्देशित नाटक उधार का पति का मंचन किया जायेगा।

प्रभात बोस ने बताया कि दूसरी सन्ध्या में 17 मई को श्रद्धा मानव सेवा कल्याण समिति की प्रस्तुति के अंतर्गत राजेंद्र कुमार शर्मा द्वारा लिखित एवं अचला बोस द्वारा निर्देशित नाटक रिहर्सल का मंचन किया जाएगा। इसी प्रकार 18 मई को तीसरी संख्या में देवसु थिएटर ऑफ सोसाइटी की प्रस्तुति के अंतर्गत जे पी सिंह जयवर्धन द्वारा लिखित एवं प्रभात कुमार बोस द्वारा निर्देशित नाटक दरोगा जी चोरी हो गई का मंचन होगा।

इसी क्रम में 19 मई को चौथी संध्या में कामायनी साहित्यिक एवं सांस्कृतिक संस्था की प्रस्तुति के अंतर्गत राजकुमार अनिल द्वारा लिखित एवं नवीन श्रीवास्तव द्वारा निर्देशित नाटक हसीना मान जाएगी का मंचन होगा। उन्होंने बताया कि 20 मई को पांचवी संध्या में कंसर्ड थिएटर लखनऊ की प्रस्तुति के अंतर्गत जे.पी.सिंह जयवर्धन द्वारा लिखित एवं अनुपम बिसारिया द्वारा निर्देशित नाटक माया राम की माया का मंचन होगा। इसी क्रम में 21 मई को छठी सन्ध्या में उमंग फाउंडेशनलखनऊ की प्रस्तुति के अंतर्गत संतोष नौटियाल द्वारा लिखित डॉ शैली श्रीवास्तव द्वारा निर्देशित नाटक अजब मशीन की गजब कहानी का मंचन होगा। इसी परिपेक्ष्य में नाट्य महोत्सव की अन्तिम व सातवीं सन्ध्या 22 मई को अभियुक्ति नाट्य संस्था शाहजहांपुर की प्रस्तुति के अंतर्गत मचिन्दा मोरे द्वारा लिखित एवं शमीम आजाद द्वारा निर्देशित नाटक जानेमन का मंचन किया जाएगा।

Show More
Ritesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned