अधिवेशन से पहले सपा में फिर रार, शिवपाल बोले- नई पार्टी का गठन जल्द

shatrughan gupta

Publish: Sep, 17 2017 05:01:57 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
अधिवेशन से पहले सपा में फिर रार, शिवपाल बोले- नई पार्टी का गठन जल्द

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय व राज्यस्तरीय अधिवेशन से पहले पार्टी के वरिष्ठ नेता व प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री शिवपाल यादव का बड़ा बयान आया है। 

कन्नौज. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय व राज्यस्तरीय अधिवेशन से पहले पार्टी के वरिष्ठ नेता व प्रदेश के पूर्व कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव का बड़ा बयान आया है। लखनऊ से सैफई जाते वक्त कन्नौज के ठठिया रिक्खापुर्वा गांव में बाबा देवशरण नंदजी महाराज से आशीर्वाद लेने पहुंचे शिवपाल ने कहा कि हम जल्द ही नई पार्टी का गठन करेंगे। इसके लिए नेताजी (मुलायम सिंह यादव) से भी हरी झंडी मिल चुकी है। उन्होंने कहा कि बस इसकी औपचारिक घोषणा होनी बाकी है। सपा में साइडलाइन चल रहे प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री व पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव के चाचा शिवपाल ने कहा कि उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में हमारी हार का सबसे बड़ा कारण पारिवारिक विघटन नहा। हम एक नहीं रहे, इसका फायदा भाजपा ने उठाया।

यह भी पढ़ें... समाजवादी पार्टी के अगले राष्ट्रीय अध्यक्ष बन सकते हैं ये!

नेताजी का सम्मान सर्वोपरि
जसवंत नगर विधानसभा सीट से सपा विधायक शिवपाल सिंह यादव ने रविवार को पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में कहा कि मैं हमेशा से नेताजी का सम्मान करता आया हूं। उनकी हर बात को मैंने एक आदेश के रूप में स्वीकार किया और आगे भी करूंगा। उन्होंने कहा कि नेताजी जो कहेंगे, वहीं मैं करूंगा। एक सवाल के जवाब में शिवपाल ने कहा कि मेरी कभी भी मुख्यमंत्री बनने की इच्छा नहीं रही। अगर बनना होता तो जब सपा सत्ता में थी, तभी बन जाता, लेकिन मेरी कभी सीएम बनने की इच्छा नहीं रही। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहाकि हम सिर्फ यही चाहते थे कि हमारा परिवार एक रहे और सभी नेताजी का सम्मान करें, लेकिन कुछ लोगों की वजह से परिवार में विघटन हुआ, जिसका खामियाजा हमे विधानसभा चुनाव में उठाना पड़ा। सपा के वरिष्ठ नेता ने कहा कि हम जल्द ही नई पार्टी बनाने को लेकर फैसला ले लेंगे। इस पर नेताजी से भी चर्चा हो चुकी है। उनका जो आदेश होगा, उसे लागू किया जाएगा।

यह भी पढ़ें... यूपी में 36 आईएएस अफसरों के तबादले, गाजीपुर के डीएम को मंत्री से पंगा पड़ा महंगा

पार्टी अधिवेशन से पहले मुलायम ने बुलाई लोहिया ट्रस्ट की बैठक
सपा के प्रदेश सम्मेलन (23 सितंबर) और राष्ट्रीय अधिवेशन (०५ अक्टूब) से पहले पार्टी के राष्ट्रीय संरक्षक व संस्थापक मुलायम सिंह यादव ने 21 सितंबर को लोहिया ट्रस्ट की अहम बैठक बुलाई है। बैठक में समाजवादी पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व जसवंतनगर से सपा विधायक शिवपाल सिंह यादव के अलावा मुलायम के सभी खास ट्रस्टी के शामिल होने की उम्मीद है। माना जा रहा है कि इस अहम बैठक में मुलायम सिंह यादव कोई बड़ा फैसला ले सकते हैं। बताते चलें कि इससे पहले शिवपाल सिंह यादव मैनपुरी में इसका संकेत भी दे चुके हैं।

यह भी पढ़ें... इस तारीख को आगरा में होगा समाजवादी पार्टी का राष्ट्रीय अधिवेशन, ये चुने जाएंगे राष्ट्रीय अध्यक्ष!

शिवपाल भी कह चुके हैं बड़े फैसले लेने की बात
शिवपाल यादव पहले भी कई बार सेकुलर मोर्चे के नाम से नया संगठन खड़ा करने की बात कहते रहे हैं। पिछले दिनों मैनपुरी में भी शिवपाल ने कहा था कि अब नेताजी का अपमान बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। शीघ्र ही कोई बड़ा फैसला किया जाएगा। हो सकता है, यह बड़ा फैसला लोहिया ट्रस्ट की बैठक में ही लिया जाए। हालांकि, मुलायम सिंह यादव कई बार सेक्युलर मोर्च के गठन से इनकार कर चुके हैं। वह बार-बार परिवार में एकता की बात करते रहे हैं।

यह भी पढ़ें... बसपा के तीन बड़े नेताओं ने पार्टी और पद से दिया इस्तीफा, मायावती ने बुलाई बैठक! 

ये हैं लोहिया ट्रस्ट के सदस्य
लोहिया ट्रस्ट में मुलायम सिंह यादव मुख्य ट्रस्टी और रामगोपाल यादव ट्रस्टी सचिव हैं। इन दोनों के अलावा 11 और ट्रस्टी हैं, जिनमें अखिलेश यादव, बलराम यादव, शिवपाल सिंह यादव, आजम खान, भगवती सिंह, दीपक मिश्रा, जगपाल सिंह, रामसेवक यादव, रामनरेश यादव और राजेश यादव हैं। इनमें से ज्यादातर ट्रस्टी मुलायम के करीबी माने जाते हैं। लोहिया ट्रस्ट की बैठक में अखिलेश और रामगोपाल यादव के आने की संभावना कम ही है। क्योंकि, ट्रस्ट की पिछली बैठक में भी ये दोनों नेता शामिल नहीं हुए थे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned