श्रीकृष्ण वाहिनी का सम्मेलन 11 को, शिवपाल यादव करेंगे बड़ा सियासी खुलासा

श्रीकृष्ण वाहिनी का सम्मेलन 11 को, शिवपाल  यादव करेंगे बड़ा सियासी खुलासा

Anil Ankur | Publish: Sep, 09 2018 07:56:35 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

श्रीकृष्ण वाहिनी का 11 सितंबर को सम्मेलन, शिवपाल यादव होंगे मुख्य अतिथि, कर सकतें हैं भावी रणनीति का खुलासा

लखनऊ. श्रीकृष्ण वाहिनी के पदाधिकारियों का राज्य सम्मेलन 11 सितंबर को लखनऊ मे होगा। इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि समाजवादी सेक्युलर मोर्चे के वरिष्ठ नेता शिवपाल सिंह यादव होंगे।

मुख्य अतिथि समाजवादी सेक्युलर मोर्चे के शिवपाल सिंह यादव होंगे
श्रीकृष्ण वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष विजय यादव ने बताया कि श्रीकृष्ण वाहिनी के पदाधिकारियों का राज्य सम्मेलन 11 सितंबर को लखनऊ के गोमती नगर मे स्थित अंतर्राष्ट्रीय बौद्ध संस्थान मे प्रात: 10 बजे से प्रारंभ होगा जोकि सायंकाल चार बजे तक चलेगा। उन्होने बताया कि इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि समाजवादी सेक्युलर मोर्चे के वरिष्ठ नेता शिवपाल सिंह यादव होंगे।

यूपी के सभी जिलों के जिलाध्यक्ष और प्रदेश स्तर के पदाधिकारी भाग लेंगे
श्रीकृष्ण वाहिनी के मुख्य महासचिव अशोक यादव ने बताया कि श्रीकृष्ण वाहिनी के पदाधिकारियों के राज्य सम्मेलन मे केवल यूपी के सभी जिलों के जिलाध्यक्ष और प्रदेश स्तर के पदाधिकारी भाग लेंगे। सम्मेलन मे प्रदेश की प्रमुख जनसमस्याओं के निराकरण, राजनैतिक रूप से पीड़ित और अपमानित जनप्रतिनिधियों के संरक्षण और लोकसभा चुनाव मे श्रीकृष्ण वाहिनी की भूमिका पर विचार विमर्श कर निर्णय लिया जायेगा। कार्यक्रम मे शिवपाल सिंह यादव अपने समर्थकों से विचार विमर्श कर भावी रणनीति का खुलासा भी कर सकतें हैं।

श्रीकृष्ण वाहिनी सम्मेलन शिवपाल कर सकतें हैं भावी रणनीति का खुलासा

समाजवादी सेक्युलर मोर्चे के गठन की घोषणा के बाद लखनऊ मे शिवपाल सिंह यादव का यह पहला प्रदेश स्तरीय कार्यक्रम है जिसमे वह बतौर मुख्य अतिथि शिरकत करेंगे। श्रीकृष्ण वाहिनी शिवपाल सिंह यादव के कट्टर युवा समर्थकों का संगठन है जो कई सालों से सक्रिय रूप से कार्यरत है।

शिवपाल का मोर्चा भी खटक रहा है अखिलेश को

सपा विधायक शिवपाल सिंह यादव भले ही अभी पार्टी में बने हों, लेकिन उनके द्वारा बनाया गया समाजवादी सेक्युलर मोर्चा भी सपा अध्यक्ष अखिलेेश को खटक रहा है। हालांकि अखिलेश इस बात को बार बार कहते हैं कि ऐसे मोर्चे बहुत बना करते हैं। लेकिन राजनीतिक प्रेक्षकों का मानना है कि षिवपाल के इस कदम से सपा को नुकसान होगा।

 

Ad Block is Banned