scriptSilver Rate will increase with in three Years | तीन साल में ,डेढ़ लाख रुपए किलो तक बिकेगी चांदी | Patrika News

तीन साल में ,डेढ़ लाख रुपए किलो तक बिकेगी चांदी

ग्रीन टेक्नोलॉजी आज सबसे बड़ी जरुरत है। अगर हम लोग अपनी पृथ्वी की सुरक्षा चाहते है तो ऐसी तकनीक पर जोर देना होगा जिससे न केवल पर्यावरण सुरक्षित रहे। बल्कि प्राकृतिक संसाधन पर कम खर्च आये।

लखनऊ

Published: January 15, 2022 09:16:31 am

लखनऊ , सुनहरी चांदी जिसको शरीर में पहनने मात्र से बहुत से बदलाव दिखते हैं। राजधानी में ऐसी कई जगह हैं जहां पर चांदी के खास उपयोग के बारे में जानकारी दी जाती हैं। हम बात कर रहे हैं ग्रीन टेक्नोलॉजी की जो प्राकृतिक पर्यावरण और संसाधनों के संरक्षण और मानव हस्तक्षेप के फलस्वरूप हुए। नकारात्मक प्रभावों को रोकने के लिए पर्यावरण विज्ञान का एक अनुप्रयोग है। विकास ही ग्रीन टेक्नोलॉजी का सबसे महत्त्वपूर्ण अंग है। लखनऊ सर्राफा संगठन के महामंत्री प्रदीप ने बतायाकि ग्रीन टेक्नोलॉजी एक ऐसा आविष्कार है जिससे पर्यावरण के साथ मनुष्यो के समाज को लाभ मिलता हैं। ग्रीन टेक्नोलॉजी आज सबसे बड़ी जरुरत है। अगर हम लोग अपनी पृथ्वी की सुरक्षा चाहते है तो ऐसी तकनीक पर जोर देना होगा जिससे न केवल पर्यावरण सुरक्षित रहे। बल्कि प्राकृतिक संसाधन पर कम खर्च आये।
तीन साल में ,डेढ़ लाख रुपए किलो तक बिकेगी चांदी
तीन साल में ,डेढ़ लाख रुपए किलो तक बिकेगी चांदी
ग्रीन टेक्नोलॉजी और चांदी

चांदी बहुत ही लचीली धातु हैं जिसे कागज से भी पतला बनाया जा सकता है। जानकारों के अनुसार 30 ग्राम चांदी से करीब ढाई किलोमीटर लंबा तार बनाया जा सकता है। जबकि सोना चांदी के मुकाबले ज्यादा लचीला होता है। 30 ग्राम सोने से 8 किलोमीटर लंबा तार बनाया जा सकता है। ग्रीन टेक्नोलॉजी से आने वाले वर्षो में चांदी की माइनिंग बढ़त अच्छी दिखाई दे रही हैं।
चांदी में आएंगी तेजी शेयर बाज़ार

देश-दुनिया भर में ब्याज दर में समय के अनुसार बढ़ने की उम्मीद से शेयर बाज़ार में हुए तेजी रुकने के आसार बने हुए हैं। दूसरी तरफ कहा जा रहा हैकि कोरोना की तीसरी लहर के बाद ये महामारी बिल्कुल ही ख़त्म ही हो जाएंगी। ऐसे में अनिश्चितता घटेगी और सोने को अतिरिक्त सपोर्ट मिलना कम होगा। साथ ही महंगाई का असर लोगों की जेब पर बहुत ही बुरा पड़ता रहेगा। इसके बचाव में चांदी बहुत ही बड़ी 'हेजिंग टूल' साबित हो सकेगी है।

चांदी से 250% तक अच्छे रिटर्न की उम्मीद

सबसे बड़ी बात 2021 के दौरान हर सेक्‍टर में दर्ज हुई थी शानदार बढ़त। वरिष्ठ जानकारों का मानना है कि 2022 व अगले कुछ वर्षों तक चांदी में बहुत ही जोरदार तेजी देखने को मिलेगी और रुझान भी। चौक व्यापार मंडल के अध्यक्ष ने बतायाकि अगर सही से एक अनुमान लगाया जाये तो इस साल चांदी 80 हजार व अगले तीन साल में 1.5 लाख रुपए तक की पहुंच देखी जा सकती है। वैसे तो यह 61 हजार रुपए प्रति किलो के आसपास है। इस हिसाब से चांदी इस साल 33% साथ ही अगले तीन वर्षों में 250% तक रिटर्न दे सकती है। वही अमीनाबाद सर्राफा मंडल के सदस्य राजू प्रधान में कहाकि मेरे अनुसार इस साल चांदी 74 हजार और तीन साल में 1 लाख तक पहुंच सकती है और इस हिसाब से भी चांदी 67% से ज्यादा रिटर्न दे सकने की उम्मीद हैं।
चांदी में 3 वजहों से बढ़ोत्तरी की आशंका

1: चांदी की मांग जिस तरह से बढ़ रही हैं उतनी चांदी की माइनिंग में इजाफा नहीं देखा जा रहा हैं। चांदी 2018-20 तक बराबर घटती रही।
2: दूसरी सबसे बड़ी वजह ये हैकि ऑटोमोबाइल, सोलर ,इलेक्ट्रिक व्हीकल इंडस्ट्री से चांदी के अलावा भी बहुत ही ज्यादा मांग आ रही हैं। यह मांग साल दर साल बढ़ती जा रही है।

3: सबसे अच्छी बात यह हैकि अमेरिका के राष्ट्रपति ग्रीन टेक्नोलॉजी को सपोर्ट करते हैं। ग्रीन यानी पर्यावरण के अनुकूल टेक्नोलॉजी में चांदी का ज्यादा प्रगोग होता है। ये खास तीन वजह है जिसके कारण तीन सालो में चांदी की अच्छी बढ़त होने की आशंका हैं।
चांदी की 5 साल से बराबर बढ़ी मांग,फिर भी सप्लाई स्थिर

लंदन स्थित सिल्वर इंस्टीट्यूट के मुताबिक पिछले 5 वर्षों से चांदी की विश्वव्यापी मांग बराबर बढ़ रही है। 2020 इसका अपवाद रहा हैं । जब कोविड महामारी अपने शीर्ष पर थी। इसका ठीक उल्टा 2017 के बाद से चांदी की माइनिंग में लगातार कमी आ रही है। केवल 2021 में सालाना आधार पर चांदी की माइनिंग बढ़ी थी लेकिन यह 2020 के 'लो बेस इफेक्ट' के कारण हुआ था। तब भी खनन केवल 8.2% बढ़ा था। जबकि उस दौरान चांदी की डिमांड में 15.3% की बढ़ोतरी हुई थी।
ग्लोबलडेटा की एक रिपोर्ट में बता गया है कि 2022-24 के बीच चांदी की डिमांड 25-30% बढ़ जाएगी और इसके ठीक उल्टा 2022 से लेकर 2024 तक चांदी की माइनिंग में केवल 8 फीसदी का फायदा होने का अनुमान है।06:20 PM

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

UP Election: चार दिन में बदल गया यूपी का चुनावी समीकरण, वर्षों बाद 'मंडल' बनाम 'कमंडल'दिल्ली में संक्रमण दर 30% के पार, बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,383 नए मामलेअब एसएसबी के 'ट्रैकर डॉग्स जुटे दरिंदों की तलाश में !सूर्य ने किया मकर राशि में प्रवेश, संक्रांति का विशेष पुण्यकाल आजParliament Budget session: 31 जनवरी से शुरू होगा संसद का बजट सत्र, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगाकोरोना से बचने एडवाइजरी जारी-फल और सब्जियों में बरतें ये सावधानियांमहाराष्ट्र से सटे CG के इस जिले में कोविड पॉजिटिविटी रेट बढ़ा, कलेक्टर ने स्कूल, आंगनबाडिय़ों को किया लॉक, टिफिन से मिलेगा बच्चों को गर्म भोजनArmy Day 2022: आज से नई लड़ाकू वर्दी में दिखेंगे हमारे जवान, सेना दिवस पर थलसेना प्रमुख लेंगे परेड की सलामी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.