यूपी में सोलर उद्यमियों को मिलेगी स्टांप ड्यूटी पर 100 प्रतिशत छूट, सोलर व इ-व्हीकल एक्सपो 13 लाख में उपलब्ध हैं कारें

- सोलर व इ-व्हीकल एक्सपो में लिथियम आयन तकनीक की कार 13 लाख में उपलब्ध

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में सरकार द्वारा सोलर उद्यमियों को यूपी में उद्योग स्थापना के लिए खरीदी जाने वाली भूमि पर स्टांप ड्यूटी पर 100 प्रतिशत छूट प्रदान की जाएगी। सरकार का मुख्य उद्देश्य यूपी में सोलर उद्योग को बढ़ावा देना है। इस छूट का लाभ यूपीएसआईडीसी के ग्रोथ सेंटर व उद्योग विभाग के औद्योगिक स्थान के अलावा प्राइवेट भूमि की खरीद पर भी मिलेगा। इसके लिए संबंधित उद्यमी को स्टांप ड्यूटी के मूल्य की बैंक गारंटी देनी होगी। उद्योग की स्थापना को पांच साल का समय दिया जाएगा। इस अवधि में उद्योग की स्थापना न होने की स्थिति में संबंधित की बैंक गारंटी जब्त कर ली जाएगी। वहीं लखनऊ के गोमती नगर में सोलर व ई व्हीकल एक्सपो का तीन दिवसीय आयोजन किया जा रहा है, जिसका समापन हो रहा है। जिसमें कार को शौकीनों के लिए लीथियम आयन तकनीक की कारें 13 लाख रुपए में उपलब्ध है। जिससे वह सस्ते दामों में लोग अपना कार खरीदने का सपना पूरा कर सकेंगे।

ये भी पढ़ें - यूपी पुलिस ने छात्रों के लिए छेड़ी नई मुहिम, अगर किसी ने किया शोरगुल तो होगी कड़ी कार्रवाई

उत्तर प्रदेश में परिवहन मंत्री अशोक कटारिया ने इंडियन इंडस्ट्रीस एसोसिएशन (आईआईए) द्वारा किया जा रहा सोलर व ई व्हीकल एक्सपो का उद्घाटन कर वहां पर मौजूद उद्यमियों को संबेधित किया। उद्घाटन के दौरान ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह भी एक्सपो में मौजूद रहे। वहीं आज नेशनल सोलर कॉन्क्लेव में लोगों को सोलर पावर सेक्टर में निवेश की संभावनाओं व उत्पादों की नई तकनीक व गुणवत्ता की जानकारी दी जाएगी। एक्सपो का आयोजन आईआईए द्वारा यूपीनेडा, यूपीएसआरटीसी और भारत सरकार के सहयोग से हुआ है। इस प्रदर्शनी में अनेक नए उत्पादों एवं टेक्नोलॉजी का प्रदर्शन किया जा रहा है।

प्रदेश सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों में उद्योग लगाना और आसान कर दिया है। प्रदेश में खादी एवं ग्रामोद्योग विकास सतत स्वरोजगार प्रोत्साहन नीति लागू की गई है। जिसके तहत उद्योगों के लिए भूमि की उपलब्धता पर पूर्वांचल, मध्यांचल और बुंदेलखंड में 100 फीसदी तथा पश्चिमांचल में 75 फीसदी स्टांप ड्यूटी में छूट दी जाएगी। यह जानकारी प्रमुख सचिव खादी एवं ग्रामोद्योग ने 2018 में बताया था कि इस नीति के तहत खादी एवं ग्रामोद्योग व्यवसाय को प्रोत्साहित करने, क्षमता में सुधार तथा पूंजीनिवेश के द्वारा अधिक रोजगार सृजन के लिए कई कदम उठाए गए हैं। नीति के तहत ग्रामीण क्षेत्र में उपलब्ध ग्राम सभा की भूमि को अब पट्टे के माध्यम से ग्रामोद्योगों की स्थापना के लिए आवंटित किया जा सकेगा। औद्योगिक स्थानों में ग्रामोद्योगों की स्थापना के लिए प्लाट के आवंटन में वरीयता दी जाएगी।

ये भी पढ़ें - योगी सरकार की भ्रष्टाचार के विरुद्ध बड़ी कार्रवाई, एक PWD इंजीनियर समेत 3 परिवहन अधिकारी निलंबित

20 ई-वीइकल और 70 सोलर कंपनियों ने लिया भाग

सोलर व ई व्हीकल एक्सपो में कई तरह की नई तकनीक के साथ लैस कई तरह की लिथियम आयन तकनीक की कारें भी है जो आपको 13 लाख रुपए तक की कीमत में आसानी से मिल जाएगी। बता दें कि सोलर व ई व्हीकल एक्सपो में लगने वाली प्रदर्शनी में 20 ई-वीइकल कंपनी सहित कुल 70 सोलर कंपनियों ने भाग लिया है। साथ ही विशेषज्ञ ई-व्हीकल चार्जिंग पॉइंट, हाईड्रोजन व एल्यूमिनियम फ्यूल सैल जैसी नई तकनीकों पर मंथन किया जा रहा है।

ये भी पढ़ें - योगी सरकार ने किया बड़ा बदलाव, फैजाबाद बस स्टॉप का नाम बदलकर किया अयोध्या बस स्टॉप, टिकट में भी बदलाव

इस एक्सपो में पहली बार महिंद्रा व टाटा जैसी 20 से ज्यादा ई-वीइकल कंपनियां भाग ले रही हैं। आने वाला वक्त इको एनर्जी का है, वर्ष-2024 तक देश में 45% वाहन इलेक्ट्रिक तकनीक पर आधारित होंगे। एक्सपो में इलेक्ट्रिक कार, हाईड्रोजन फ्यूल से चलने वाली कार, वॉटर हीटिंग, हाईब्रिड गीजर, सोलर पैनल, ई-वीइकल एवं इंवर्टर व चार्जिंग पॉइंट आदि नई तकनीक के उपकरणों की प्रदर्शनी लगी है। वहीं एक्सपो में आम जनता के लिए फ्री एंट्री है।

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned