अखिलेश का आरोप, भाजपा का जिला पंचायत अध्यक्ष बनाने की पुलिस ने ली है सुपारी

अखिलेश यादव ने कहा कि औरैया की घटना से साफ़ हो गया है कि वहां पुलिस ने सुपारी ले रखी है भाजपा का जिला पंचायत अध्यक्ष बनाने की।

By: Laxmi Narayan

Published: 18 Aug 2017, 03:51 PM IST

लखनऊ. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने आज सपा कार्यालय में प्रेस कांफ्रेस कर योगी सरकार पर हमला बोला। अखिलेश यादव ने औरैया की घटना को लेकर यूपी सरकार की कानून व्यवस्था पर जमकर हमला बोला। भारतीय जनता पार्टी को सबसे बड़ी जीत मिली लेकिन वे जनता के बीच जाने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं। भाजपा के लोग भ्रष्टाचार का साथ देने लगे तो सोचिये लोकतंत्र का क्या होगा। पैसे का लेनदेन शुरू कर दवाब बनाया जा रहा है। औरैया की घटना से साफ़ हो गया है कि वहां पुलिस ने सुपारी ले रखी है भाजपा का जिला पंचायत अध्यक्ष बनाने की। जो विधायक और सांसद रहा हो, उसके साथ आईपीएस हाथापाई कर दे। कई लोग चार-चार महीने अपने घर नहीं पहुंच पाए। जिला पंचायत सदस्य नहीं मिले तो पुलिसवाले उनके परिवार के सदस्यों को ले जाकर भाजपा नेताओं को सौप दिया।

अखिलेश बोले, भाजपा के लोग चला रहे हैं थाने

थाने कौन चला रहा है सब देख रहे है। वे कह रहे हैं कि थाने में जन्माष्टमी नहीं मनाने देते थे। वे सौ साल का इतिहास बता दें कि थानों में कब जन्माष्टमी नहीं मनी। हमारे देश में दावतें करने के लिए लोग सड़क पर टेंट लगा लेते है। सड़क पर और भी काम होते हैं। यूपी के डिजिटल मुख्यमंत्री स्मार्ट सिटी पर बात नहीं करते। वे जन्माष्टमी और ईद कैसे मने, इस पर चर्चा कर रहे है। सपा सरकार आने पर हर थाने को त्यौहार मनाने के लिए पांच लाख रूपये मिलेंगे। सपा सरकार में 35000 पुलिसकर्मियों की भर्ती मेरिट के आधार पर हुई। इस सरकार ने उस पर रोक लगा दिया। अखिलेश ने कहा कि एक फौजी हैं उनके बेटे पर 302 लगा दिया जबकि बीजेपी के लोग देश भक्त बनते हैं। ऐसे लड़के पर रेप का मुकदमा लिख दिया, जिसे महिला जानती तक नहीं। जनता सब देख रही है। ये हमें गुंडा कहते थे। ये अपनी परिभाषा बता दें। यूपी और देश की जनता जान चुकी है कि बीजेपी की कथनी और करनी में भेद हैं। वे जो करते हैं वे कहते नहीं और जो कहते हैं वे करते नहीं। जनता को 2019 में मौक़ा मिलेगा। यूपी, बिहार, बंगाल की जनता देख रही है कि दिल्ली की सरकार क्या कर रही है। क्या वे हमारी सड़क से बड़ी सड़क बना सके। क्या वे हमसे बड़ी मेट्रो बना रहे हैं।

गोरखपुर मामले की सीबीआई जांच की मांग

हमसे ज्यादा नौकरी दी या हमसे ज्यादा लैपटॉप दिए तो बताएं। रेलवे ट्रैक पर अभी भी लोग बैठ रहे है। ओडीएफ से गंगा साफ़ कैसे होगी। पुलिस के लिए और कानून के लिए सबसे बेहतर व्यवस्था थी डायल 100, सरकार को इसे बेहतर करना था। नोटबंदी और जीएसटी ने मिलकर जनता का मजाक बनाया और नौकरिया छीनीं। आंकड़ों से कुछ भी बताओ। हमारा रूप और पहनावा क्या हो कि लोग हमारी बात मान लें। सीएम को म्यांमार नहीं बल्कि जापान जाकर क्वोटो देखना चाहिए था, जिससे वाराणसी को क्योटो बनाया जाये। हमारी सरकार होती तो बलिया और गाजीपुर वाला एक्सप्रेस वे बनने लगता। अखिलेश ने कहा कि गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में बच्चों की मौत मामलों की सीबीआई जांच करानी चाहिए।

Laxmi Narayan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned