Ramlila2021:मौसम गंज रामलीला में मंच पूजन आज, लीला मंचन कल से

(Ramlila2021) मौसमगंज रामलीला कार्यक्रम

By: Ritesh Singh

Published: 04 Oct 2021, 08:31 PM IST

लखनऊ। (Ramlila2021)अपने नूतन साज सज्जा के साथ राजधानी के की सबसे प्राचीन मौसम गंज रामलीला (डालीगंज) 5 अक्टूबर को मंच पूजन के बाद 6 अक्टूबर से रामलीला का मंचन शुरू होगा। जो 16 अक्टूबर तक चलेगा। रामलीला की तैयारियां इन दिनों तेजी से चल रही है। मंच बनने के साथ साथ कलाकारों का पूर्वाभ्यास पिछले एक महीने से निर्देशक शिव कुमार वर्मा व उप निर्देशक राजेश त्रिपाठी के निर्देशन में चल रहा है।

(Ramlila2021)समिति के अध्यक्ष घनश्याम अग्रवाल गुड्डा ने बताया कि 5 अक्टूबर को मंच पूजन व श्री गणेश पूजन के साथ ही 6 अक्टूबर को शिव पार्वती संवाद रावण अत्याचार, राम जन्म और जानकी जन्म लीला मंचन के साथ ‘‘रामलीला महोत्सव 2021’’ का आगाज होगा। अध्यक्ष घनश्याम अग्रवाल गुड्डा ने बताया कि श्री मौसमगंज रामलीला एवं नाट्य समिति अपना 142 वां वार्षिकोत्सव मना रही है। उन्होंने बताया कि इस बार रावण दहन का कार्यक्रम लीला स्थल पर ही 15 अक्टूबर को सम्पन्न होगा।

(Ramlila2021) लीला निर्देशक शिव कुमार वर्मा ने बताया कि इस बार लीला में 8 अक्टूबर को धनुष यज्ञ, प्रसंग, 9 अक्टूबर को केवट लीला, 11 अक्टूबर को शबरी प्रेम, 12 अक्टूबर को अंगद रावण संवाद लीला को भव्यता के साथ दिखाया जाएगा। इस बार लीला में मुख्य किरदारों में राम- अमन त्रिपाठी, लक्ष्मण- अभिषेक त्रिपाठी, सीता- शुभम शर्मा, हनुमान-भुलाने अपनी गायकी के द्वारा लोगों को मंत्रमुग्ध करेंगे तो रावण आशीष प्रकाश, सुग्रीव मोनू, बालि- विपिन शर्मा अपने जोशीले अंदाज में विरोधियों को ललकारेंगे। परशुराम के अभिनय में राजेश त्रिपाठी और दशरथ के अभिनय में अलकेश कसेरा मंच पर दिखेंगे।

(Ramlila2021) इन दिनों धनुष यज्ञ, यज्ञ विध्वंस की रिहर्सल चल रही है। ‘‘हम तो आनन्द अपना मनाएंगे, पीयेंगे यहां बैठके प्याले शराब के, और भून भून खाएंगे टुकड़े कवाब के, सबको चुल्लू में उल्लू बनाएंगे, सारा जहान कांपता है मेरे नाम से , हम तो आनन्द अपना मनाएंगे’’ जैसे गीतों को कलाकार स्वर दे रहे हैं।

(Ramlila2021) मौसमगंज रामलीला कार्यक्रम

5 अक्टूबर - मंच पूजन, गणेश पूजन, रात्रि 8 बजे।

6 अक्टूबर - शिव पार्वती संवाद, रावण अत्याचार, राम जन्म जानकी जन्म, रात्रि 8 बजे।

7 अक्टूबर - यज्ञ विध्वंस, विश्वामित्र आगमन, ताडुका वध, मारीच सुबाहु वध, रात्रि 8 बजे।

8 अक्टूबर अहिल्या उद्धार, गंगावतरण, जनक बाजार, फुलवारी लीला, रात्रि 8 बजे।

8 अक्टूबर- धनुष यज्ञ, रावण वाणासुर संवाद, लक्ष्मण परशुराम संवाद, रात्रि 8 बजे।

9 अक्टूबर- कैकेई मंथरा संवाद, श्रीराम वनगमन, केवट लीला, रात्रि 8 बजे।

10 अक्टूबर-सूर्पणखा अंग-भंग, सीताहरण, जटायु बलिदान, रात्रि 8 बजे।

11 अक्टूबर-शबरी प्रेम, सुग्रीव मित्रता, बालि वध, लंका दहन, रात्रि 8 बजे।

12 अक्टूबर- विभीषण शरणागति, सेतु निर्माण, अंगद रावण संवाद, रात्रि 8 बजे।

13 अक्टूबर- लक्ष्मण शक्ति, कुम्भ कर्ण वध, मेघनाद वध, रात्रि 8 बजे।

14 अक्टूबर- नारान्तक वध, अहिरावण वध, रात्रि 8 बजे।

15 अक्टूबर- रावण वध, मौसमगंज, डालीगंज, सांय 7 बजे।

16 अक्टूबर- श्रीराम राज्याभिषेक, पुरस्कार वितरण, रंगारंग कार्यक्रम, रात्रि 8 बजे।

Ritesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned