हनुमान भक्त बन सीएम के काफिलें में घुसे थे छात्र, प्रसाद के डिब्बे में रखा था....!

सीएम योगी आदित्यनाथ के लखनऊ विश्वविद्यालय में दौरे से पहले ही समाजवादी छात्र सभा सहित अन्य छात्र संगठनों के छात्र-छात्रएं हनुमान सेतु मंदिर में इकट्ठा हो गए थे। यहीं पर छात्रों ने सीएम योगी आदित्यनाथ के काफिलें में सीधे घुसने का प्लान बनाया।

लखनऊ. लखनऊ विश्वविद्यालय में हिन्दवी साम्राज्य दिवस समारोह में हिस्सा लेने जा रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के काफिले को अचनाक सुरक्षा घेरा तोड़ते हुए रोककर हंमागा और उन्हें काले झंडे दिखाने वाले छात्रों से जुड़ा एक नया खुलासा हुआ है। पुलिस के मुताबिक छात्र संगठन से जु़ड़े यह सभी छात्र वहां हनुमान भक्त बनकर आए थे। जो कि हनुमान सेतु मंदिर में इक्कठ्ठा थे। उन सभी छात्रों ने प्रसाद के डिब्बों में काले झंड़े छुपा रखें थे।
एएसपी ट्रांस गोमती हरेंद्र सिंह के मुताबिक समाजवादी छात्र सभा सहित अन्य छात्र संगठनों के छात्र-छात्रएं बुधवार को सीएम योगी आदित्यनाथ के लखनऊ विश्वविद्यालय में दौरे से पहले ही हनुमान सेतु मंदिर में इक्ठ्ठा हो गए थे। उन्होंने बताया कि उस दिन भक्तों की भीड़ में इन प्रदर्शकारी छात्रों को पहचानना काफी मुश्किल था। सीएम का काफिला वहां पहुंचते ही वह सभी अचानक सड़क पर आ गए। साथ ही प्रसाद के डिब्बों में छुपाकर रखें काले झंडें सीएम के सामने लहराने लगे थें।
जानकारी हो कि इस घटना के बाद, एक एसआई और छह कांस्टेबल को निलंबित कर दिया गया। वहीं पुलिस ने सीएम की सुरक्षा को तोड़कर प्रदर्शन कर रहे अमित कुमार सिंह, महेंद्र यादव, अनिल यादव, मधुरेश सिंह, विनीत, सतवंत सिंह, अशोक, राकेश, नितिन राम, अपूर्वा गौतम, पूजा शुक्ला सहित 14 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने गुरुवार को लखनऊ की कोर्ट में इन सभी को पेश किया, जहां से इन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।वहीं सीएम योगी की सुरक्षा तोड़ने और काले झंडे दिखाने वाले आठ छात्रों को लखनऊ यूनिवर्सिटी ने भी निलंबित कर दिया। आरोपी सतवंत सिंह, नितिन राज, पूजा शुक्ला, अनिल कुमार यादव, अंकित कुमार सिंह, राकेश कुमार, मधुर्य सिंह और अपूर्वा वर्मा के परिसर में प्रवेश पर भी रोक लगा दी गई हैं।
Show More
Dhirendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned