ऐसा बोया गन्ना कि जीत गए पुरस्कार - गन्ना पैदा करने में लखीमपुर और बुलंदशहर के किसान विजयी

विजेता गन्ना कृषकों को पुरस्कार स्वरूप रू. 50,000 की धनराशि

 

By: Anil Ankur

Published: 21 Apr 2018, 06:16 PM IST

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में गन्ना किसानों ने गन्ना बोने और उगाने में रिकार्ड हासिल किया और पुरस्कार भी जीता। ये किसान लखीमपुर और बुलंदशहर के हैं। गन्ना विकास विभाग द्वारा राष्ट्रीय कृषि विकास योजनान्तर्गत वर्ष 2017-18 हेतु ‘‘राज्य स्तरीय उत्पादकता‘‘ पुरस्कार की घोषणा कर दी गई है।
गन्ना एवं चीनी आयुक्त कार्यालय के सूत्रों के अनुसार राज्य स्तरीय उत्पादकता पुरस्कार के लिये अनुमन्य 2 संवर्ग, यथा- पौधा गन्ना एवं पेड़ी गन्ना हेतु प्रदेश भर से कुल 109 प्रविष्टियां प्राप्त हुई थी। अर्ह प्रविष्टि के गन्ना फसल प्रतियोगी खेतों की कटाई हेतु राज्य स्तर से कटाई अधिकारी नामित किये गये। नामित कटाई अधिकारियों के स्तर से प्राप्त परिणामों के आधार पर कृषकों को विजयी घोषित किया गया।
अचल कुमार, जोन गुलरिया, जिला- लखीमपुर खीरी, ने को.-0238 प्रजाति के पौधा गन्ना संवर्ग में 3,296 कुं. प्रति हेक्टेयर उपज लेकर प्रथम स्थान प्राप्त किया है, जबकि पेड़ी गन्ना संवर्ग में श्री धर्मेन्द्र सिंह, जोन अगौता, जिला बुलन्दशहर, ने को.-0238 प्रजाति में 1,829 कुं. प्रति हेक्टेयर उपज लेकर प्रथम स्थान प्राप्त किया। विजेता गन्ना कृषकों में प्रत्येक को पुरस्कार स्वरूप अंकन रू.50,000/- की धनराशि प्रदान की जायेगी।

प्रदेश के गन्ना एवं चीनी आयुक्त संजय आर. भूसरेड्डी ने बताया कि राष्ट्रीय कृषि विकास योजना अन्तर्गत राज्य स्तरीय उत्पादकता पुरस्कार योजना का मुख्य उद्देश्य प्रदेश के चीनी मिल क्षेत्रों में गन्ने की प्रति हे. उपज को अधिकाधिक बढ़ाने के लिए गन्ना किसानों में स्वस्थ प्रतियोगी भावना का संचार करना है, साथ हीे गन्ना कृषकों के बीच ऐसी जागरूकता पैदा करना है, जो दूसरे गन्ना कृषकों के लिये प्रेरक साबित हो सके।

आगरा और मथुरा में आंधी तूफान से आहत किसानों की आर्थिक सहायता
आगरा एवं मथुरा में गत दिवसों आई तेज आंधी-तूफान, ओलावृष्टि से प्रभावित व्यक्तियों/परिवारों को कृषि निवेश अनुदान प्रदान किए जाने के लिए राज्य आपदा मोचक निधि से 73 करोड़ 92 लाख 78 हजार 463 रुपये का धनावंटन चालू वित्तीय वर्ष में किया गया।
सचिव एवं राहत आयुक्त संजय कुमार ने इस संबंध में शासनादेश जारी करते हुए कहा है कि जनपद आगरा एवं मथुरा में आई तेज आंधी-तूफान, ओलावृष्टि से प्रभावित व्यक्तियों/परिवारों को कृषि निवेश अनुदान प्रदान किए जाने के लिए जनपद मथुरा हेतु 21 करोड़ 33 लाख 30 हजार रुपये तथा आगरा जनपद को 52 करोड़ 59 लाख 48 हजार 463 रुपये सहित कुल 73 करोड़ 92 लाख 78 हजार 463 रुपये जारी किए गए हैं। जारी शासनादेश में उन्होंने कहा है कि निर्धारित प्रक्रिया के अनुसार प्रभावित लोगों/परिवारों के बैंक खातों में जनपदीय कोषागार से सीधे ई-पेमेंट के माध्यम से भुगतान सुनिश्चित किया जाए।

Anil Ankur Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned