आय चाहे जितनी कम हो, दो से ज्यादा बच्चों को नहीं मिलेगा सुमंगला योजना का लाभ

तीन लाख रुपए सालान आय में पैदा

एक April 2019 के बाद के बच्चों को मिलेगा लाभ

हुई लड़की को जन्म से स्नातक होने तक मिलेंगे 15 हजार

By: Anil Ankur

Published: 03 Mar 2019, 04:24 PM IST

लखनऊ। प्रदेश की महिला कल्याण व परिवार कल्याण मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि पैदा होने से लेकर ग्रेजुएट करने तक सरकार सुमंगला योजना के कन्याओं के लिए नई योजन चलाने जा रही है। जिस व्यक्ति की तीन लाख सालाना आय होगी उसके परिवार की दो बेटियों को इस योजना के तहत लाभान्वित किया जाएगा। दो से अधिक बच्चों को इस योजना का लाभ नहीं मिलेगा। उन्होंने बताया कि लाभ दिलाने के लिए इसे छह श्रेणियों में बाटा गया है।

किस श्रेणी में कब मिलेगा लाभ
मंत्री ने बताया कि पहले चरण में इस योजना का लाभ उन्हें मिलेगा जिन बच्चियों का जन्म एक अप्रैल 2019 के बाद हुआ हो। दूसरे श्रेणी में एक अप्रैल 2018 से पहले पैदा हुइई उन बच्चियों का इसका लाभ दिया जाएगा जिनका एक साल के भीतर सम्पूर्ण टीकाकरण किया जा चुका हो। तीसरी श्रेणी में उन्हें इसका लाभ मिलेगा जिन्होंने चालू शैक्षिक सत्र में प्रवेश ले लिया हो। चौथी श्रेणी में वे बालिकाएं आएंगी जिन्होंने चाूल शैक्षिक सत्र में कक्षा छह में प्र्रवेश लिया हो। पांचवी श्रेणी में वे बालिकाएं होंगी जिन्होंने चालू सत्र में कक्षा नौ में प्रवेश लिया हो। इसके बाद छठी श्रेणी में वे बालिकाएं होंगी जिन्होंने चालू सत्र में डिग्री या उसके समकक्ष में प्रवेश लिया हो।

योजना का लाभ एक नजर में

रविवार को यहां लोकभवन में प्रेस से बात करते हुए रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि उत्तर प्रदेश राज्य मंत्रिपरिषद ने फैसला किया है कि तीन लाख सालाना आय वाले लोगों को सुमंगल योजना के तहत आच्छादित किया गया है। अब तीन लाख सालाना आय वालों के यहां अगर बिटिया पैदा होती है तो उन्हें सुमंगल योजना के तहत जन्म होते ही 2000 रुपए मिलेंगे। उसके बाद कक्षा एक में पहुंचने पर 2 हजार रुपए और फिर कक्षा छह और ग्रेजुएट तक यह राशि मिलेगी।

Anil Ankur Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned