scriptSwami Prasad Maurya and other BJP rebels increased Akhilesh Power | UP Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य सहित कई विधायकों के आने से अखिलेश की ताकत बढ़ी, आजाद समाज पार्टी भी साथ तो बसपा ने बदली रणनीति | Patrika News

UP Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य सहित कई विधायकों के आने से अखिलेश की ताकत बढ़ी, आजाद समाज पार्टी भी साथ तो बसपा ने बदली रणनीति

शुक्रवार को समााजवादी पार्टी मुख्यालय में कैबिनेट मंत्री रहे स्वामी प्रसाद मौर्य, डॉ. धर्म सिंह सैनी के अलावा भाजपा के विधायकों में रोशन लाल वर्मा, विनय शाक्य, भगवती प्रसाद सागर, मुकेश वर्मा, अपना दल (एस) के अमर सिंह समेत बड़ी संख्या में समर्थक-पूर्व विधायक भी सपा में शामिल हुए। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने खुद इन्हें पार्टी ज्वाइन कराई। सपा के साथ आजाद समाज पार्टी के चीफ चंद्रशेखर भी गठबंधन कर रहे हैं।

लखनऊ

Updated: January 14, 2022 04:57:23 pm

भाजपा की योगी सरकार के कैबिनेट मंत्री रहे स्वामी प्रसाद मौर्य, डॉ. धर्म सिंह सैनी और कई भाजपा विधायकों के समाजवादी पार्टी में शामिल होने से अखिलेश यादव की चुनावी ताकत बढ़ गई है। इस बीच आजाद समाज पार्टी के प्रमुख चंद्रशेखर ने भी अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) से मिलकर गठबंधन का ऐलान किया है। Uttar Pradesh Assembly Election 2022 में पिछड़े-दलित वोटों को लेकर चिंता में डूबी बसपा अपनी रणनीति भी बदल रही है जबकि कांग्रेस इससे प्रभावित हुए बिना सकारात्मक राजनीति का सहारा ले रही है।
Uttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य सहित कई विधायकों के आने से अखिलेश की ताकत बढ़ी, आजाद समाज पार्टी भी आई साथ तो बसपा-कांग्रेस ने बदली रणनीति
Uttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य सहित कई विधायकों के आने से अखिलेश की ताकत बढ़ी, आजाद समाज पार्टी भी आई साथ तो बसपा-कांग्रेस ने बदली रणनीति
Uttar Pradesh Assembly Election 2022 की सरगर्मी के बीच शुक्रवार का दिन सियासत में भाजपा के लिए सिरदर्द तो सपा प्रमुख के लिए टॉनिक जैसा रहा। योगी सरकार के मंत्री रहे स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) , डॉ. धर्म सिंह सैनी और उनके कई समर्थक विधायकों ने सपा प्रमुख अखिलेश यादव की मौजूदगी में पार्टी का दामन थामा। इससे ओबीसी वोट बैंक पर सपा की पकड़ और मजबूत हो गई है। इस मौके पर स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) ने ओबीसी कार्ड खेलते हुए भाजपा पर जमकर प्रहार किए। सपा प्रमुख ने भी आश्वस्त किया कि खुले दिल से स्वागत करते हुए कहा कि सपा बहुमत से सरकार बनाएगी। तीन मंत्रियों समेत 14 विधायक भाजपा छोड़ चुके हैं, जो सपा में शामिल होने लगे हैं।
यह भी पढ़ें
Uttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकार

आजाद समाज पार्टी के चंद्रशेखर ने किया सपा से गठबंधन
Uttar Pradesh Assembly Election 2022 चुनावी गहमागहमी के बीच पश्चिमी उत्तर प्रदेश के दलित नेताओं में शुमार आजाद समाज पार्टी के प्रमुख चंद्रशेखर ने लखनऊ में सपा प्रमुख अखिलेश यादव से भेंट की। बातचीत में सपा से गठबंधन से कर चुनाव लडऩे का फैसला लिया गया है। हालांकि अभी सीटों का बंटवारा होना शेष है लेकिन इसका असर Uttar Pradesh Assembly Election 2022 में पूरे प्रदेश में दिखाई पड़ेगा।
यह भी पढ़ें
Uttar Pradesh Assembly Election 2022 : संडीला सीट फिर भिड़ेंगे भाजपा-सपा, बसपा भी दिख रही दमदार

बसपा की बढ़ी चिंता, बनाई ये रणनीति
समाजवादी पार्टी का राष्ट्रीय लोकदल, आजाद समाज पार्टी से गठबंधन होने से सपा को पश्चिमी यूपी में बढ़त मिलेगी। वजह साफ है कि पश्चिमी उत्तर प्रदेश में लगभग 20 फीसदी जाट मतदाता है जबकि दलित वोट 25 प्रतिशत से अधिक है। मुस्लिम वोट 30-35 फीसदी है। सबसे अधिक चिंता बहुजन समाज पार्टी को सता रही है, क्योंकि आजाद समाज पार्टी के चंद्रशेखर और बसपा सुप्रीमो दलित समुदाय की एक ही जाति से आते हैं। संभव है कि ऐसे में दलित वोटों का एक हिस्सा आजाद समाज पार्टी के साथ चला जाय। माना जा रहा है कि इसकी काट के लिए बसपा ने कांग्रेस और राष्ट्रीय लोक दल छोड़कर पार्टी में आए नेताओं सलमान सईद को चरथावल और नोमान मसूद को गंगोह सीट से टिकट दिया है। आगे भी इसी रणनीति के तहत बसपा काम करने वाली है।
यह भी पढ़ें
यूपी विधानसभा चुनाव प्रत्याशियों के लिए गाइडलाइन कुछ छुपाया तो खैर नहीं, इस विधायक से लें सबक

कांग्रेस ने पुराने कांगे्रेसियों से चलाएगी काम
पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य (Swami Prasad Maurya) समेत कई विधायकों के समाजवादी पार्टी में शामिल होने के बाद सपा नेता खुश हैं। कई दलों से पहले से ही गठबंधन है। इससे दलित व पिछड़े वर्ग का वोट सपा में जाएगा। कभी ये वोटबैंक कांग्रेस में रहा है और इसके खिसकने से कांग्रेेस नेतृत्व पुराने कांग्रेसियों से ही भरपाई करेगी। दो दिन पहले Uttar Pradesh Assembly Election 2022 के उम्मीदवारों की पहली सूची जारी करते समय यूपी प्रभारी व महासचिव राट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने साफ कर दिया कि वे आयाराम गयाराम की राजनीति के पक्ष में नहीं हैं बल्कि कांग्रेस सकारात्मक बदलाव की राजनीति करेगी। इसका संकेत कांग्रेस उम्मीदवारों की पहली सूची में 40 फीसदी महिलाओं को टिकट देकर दिया है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Uttar Pradesh Assembly Election 2022 : स्वामी प्रसाद मौर्य समेत कई विधायक सपा में शामिल, अखिलेश बोले-बहुमत से बनाएंगे सरकारParliament Budget session: 31 जनवरी से होगा संसद के बजट सत्र का आगाज, दो चरणों में 8 अप्रैल तक चलेगानिलंबित एडीजी जीपी सिंह के मोबाइल, पेन ड्राइव और टैब को भेजा जाएगा लैब, खुल सकते हैं कई राजसीएम बड़ा फैसला : स्कूल-होस्टल रहेंगे बंद, घर से ही होगी प्री बोर्ड परीक्षाGuwahati-Bikaner Express derailed:हादसे में अब तक 9 की मौत, जानें इस हादसे से जुड़ी अहम बातेंRajasthan-Gujarat :के लिए अब एक और नया हाइवेतीसरी लहर का खतरनाक ट्रेंड, डाक्टर्स ने बताए संक्रमण के ये खास लक्षणInd vs SA: चेतेश्वर पुजारा कर बैठे बड़ी भूल, कीगन पीटरसन को दिया जीवनदान; हुए ट्रोल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.