इन पौधों से प्रदूषणमुक्त होगी गोमती नदी

गोमती को प्रदूषणमुक्त बनाने के लिए राजधानी स्थित राष्ट्रीय वनस्पति अनुसंधान संस्थान एनबीआरआई के वैज्ञानिकों ने रास्ता खोज लिया है।

लखनऊ. गोमती को प्रदूषणमुक्त बनाने के लिए राजधानी स्थित राष्ट्रीय वनस्पति अनुसंधान संस्थान एनबीआरआई के वैज्ञानिकों ने रास्ता खोज लिया है। अब जल को जहरीला और दूषित होने से पौधे बचाएंगे। संस्थान के पर्यावरण विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक यूएन राय और आरडी त्रिपाठी ने कुछ ऐसे जलीय पौधों को खोज निकाला है नदी के प्रदूषण को कम कर सकते हैं।

जल ही जीवन है। यह बात तो सभी जानते हैं, मगर पेड़ भी जीवन दायिनी है इस बात की पुष्टि एनबीआरआई के वैज्ञानिकों ने अपने खोज से साबित कर दिया। जल अगर प्रदूषित है तो उसे पीकर भी हम जीवित नहीं रह सकते हैं। मगर कुछ पौधे ऐसे भी हैं जो नदियों के प्रदूषित जल को शुद्ध कर सकते हैं। ऐसे ही कुछ पौधों की खोज एनबीआरआई के वैज्ञानिकों ने की है। अब इन पौधों की मदद से गोमती को प्रदूषण मुक्त करने का प्रयास किया जाएगा। इस संबंध में प्रदेश के जल निगम से बात चल रही है।

यह पौधे दूर करेंगे जल प्रदूषण को
वैज्ञानिक यूएन राय ने बताया कि टाइफा, पीपीताज, फैरामाइटिस, नरकुल,अटेर और मीफिया, कुमुदनी ऐसे पौधे हैं जो जलीय प्रदूषण को दूर करने में सक्षम हैं।

ऐसे दूर करेंगे प्रदूषण
वैज्ञानिक डॉ. राय ने बताया कि इन पौधों की विशेषता यह है कि इनके तने अंदर से खोखले होते हें। ये जड़ों और तनों के माध्यम से सूक्ष्म जीव बैक्टेरिया को दूर करते हैं।

खोज से पता चला है कि जब यह पौधे पानी से न्यूट्रीएंट लेते हैं, उसके साथ ही इन पौधों के तनों और जड़ों में प्रदूषण भी आ जाता है। नदी के प्रदूषण को दूर करने के लिए सीवेज को पहले ट्रीट किया जाता है। सीवेज में इन जलीय पौधों को लगाया जाता है, जिससे सीवेज का प्रदूषण दूर होता है और फिर सीवजे से नदी में जाने वाला पानी शुद्ध होकर नदी में गिरता है।

गंगा नदी के प्रदूषण को दूर करने के लिए बनाया था मॉडल
डॉ. राय ने बताया कि कुछ बरसों पहले एनबीआरआई ने गंगा नदी को प्रदूषण मुक्त करने के लिए हरिद्वार में एक मॉडल बनाया था। वहां पर एक मुख्य सीवेज में इन पौधों को लगाया गया। परिणाम यह रहा कि इन पौधों की वजह से जब सीवेज से पानी नदी में गिरा तो वह 90 प्रतिशत शुद्ध होकर गिरा। अगर इसी तरह से लखनऊ के बड़े-बड़े सीवेज जो गोमती में जाकर गिरते हैं, उनमें यह पौधे लगाए जाएं तो गोमती नदी का पानी प्रदूषण मुक्त हो सकेगा।

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned