scriptTriple murder for six-yard land in Lucknow Malihabad, police start raids | मामूली वाद-विवाद ने लिया खूनी रूप, पूरे परिवार को उतारा मौत के घाट, जानें पूरा मामला | Patrika News

मामूली वाद-विवाद ने लिया खूनी रूप, पूरे परिवार को उतारा मौत के घाट, जानें पूरा मामला

locationलखनऊPublished: Feb 03, 2024 12:37:26 pm

Submitted by:

Ritesh Singh

सीसीटीवी में कैद हुआ पूरा मामला। विवाद बढ़ने पर परिवार के तीन लोगों को गोली मारकर की हत्या। अधिकारीयों पर गिरेगी गाज।

 लखनऊ में  बुलेट और  घोड़े से टहलते थे, गब्बर सिंह के नाम से थे फेमस
लखनऊ में बुलेट और घोड़े से टहलते थे, गब्बर सिंह के नाम से थे फेमस
मामूली झगड़ें का इतना बड़ा अंजाम, पुलिस की जानकारी के दौरान पता चला की घर के सामने लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज में आरोपी लल्लन खान को अपने सहयोगियों के साथ लाल एसयूवी में राइफल लहराते हुए आते देखा गया। इसके बाद आरोपियों को परिवार के साथ बहस करते देखा, और बहस कब इतनी आगे बढ़ गयी की, आरोपियों ने घर के अंदर राइफल तान दी और अंधाधुंध फायरिंग करनी शुरू कर दी। जिसमें एक महिला, उसके 17 वर्षीय बेटे और घर में मौजूद बहनोई की मौत हो गई। शवों को कल पोस्टमार्टम के लिए भेजा जाएगा।

घर के रिश्ते भी नहीं रहे सगे
डीएम, सूर्यपाल गंगवार ने बताया कि मामूली विवाद था जिसके बाद गोली चली है। परिवार ने बताया की जमीन को लेकर काफी लम्बे समय से विवाद चल रहा था, उसी को लेकर कल आरोपी दूसरे पक्ष के घर पहुंचे थे। पुलिस ने बताया की जिस एसयूवी से आरोपी और उसके सहयोगी आये थे,उसके ड्राइवर को गिरफ्तार कर लिया गया है और अन्य को भी जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जाएगा।"पुलिस की जांच के बाद पता चला की, दोनों परिवार एक दूसरे से संबंधित थे,आरोपी महिला के पति के चाचा थे, हादसे में इस्तेमाल की गई लाइसेंसी राइफल और थार गाड़ी बरामद भी कर लिया गया है। गोलीबारी के बाद से इलाके में दहशत का माहौल है और इलाके में पुलिस अधिकारियों को तैनात भी किया गया है।आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बहार है, पुलिस मामले की जांच में जुटी।
छह गज जमीन के लिए उतारा मौत के घाट

मलिहाबाद में छह गज जमीन के विवाद में परिवार के ही दबंगों ने अपने पट्टीदार के परिवार के तीन लोगों की लाशें गिरा दीं। देवरिया में पिछले दिनों हुए हत्याकाण्ड के बाद इतनी बड़ी वारदात की पुनरावृत्ति हुई है, जिसमें जमीन के टुकड़े के लिए एक ही परिवार के सात लोगों हत्या की गई थी। शुक्रवार को मलिहाबाद रहमत नगर में 20 बीघा बाग में पट्टीदारों (सहखातेदारों) के बीच जमीन को लेकर पैमाइश होनी थी।
यह भी पढ़ें

10 दिन में 25 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने किए रामलला के दर्शन

तहसीलदार और लेखपाल की मौजूदगी में छह गज जमीन को लेकर विवाद हो रहा था। लल्लन खां ने वहां भी गाली- गलौज की थी। किसी तरह मामला शांत कराया गया था, जिसके बाद लल्लन खां अपने परिवार के फरीद खां के घर पहुंचे और इतनी बड़ी वारदात कर बैठे। फरीद खां के घर में लगे सीसीटीवी फुटेज में पूरी वारदात कैद हो गयी है, जिसमें चारों आरोपी राइफल से फायरिंग करते नजर आये हैं।

लखनऊ में बुलेट और घोड़े से टहलते थे, गब्बर सिंह के नाम से थे फेमस

हत्याकांड के मुख्य आरोपी लल्लन खां 70-80 के दशक में बड़े अपराधियों में शुमार थे। उनके खिलाफ 20-22 अपराधिक मामले दर्ज हैं, जिसमें आधा दर्जन से अधिक हत्या के मामले हैं। 70 वर्षीय लल्लन खां उर्फ सिराज उन दिनों पुराने लखनऊ में गब्बर सिंह के नाम से जाने जाते थे। वह लखनऊ में बुलेट और घोड़े से टहलते थे और अपना रुतबा दिखाते थे।
यह भी पढ़ें

नए पश्चिमी विक्षोभ ने बढ़ाई ठण्ड, शुरू की तेज चमक के साथ बारिश मौसम विभाग का अलर्ट जारी

लल्लन खान पुत्र खलील खां चार भाई थे। रेहान खां, सगीर खां, मतीन खां व सलीम खां हत्याकांड में जान गंवाने वाली फरीद खां की फरहीन लल्लन खां की भतीजी है और सलीम खां की बेटी है। खलील खां भी पुारेन बदमाश थे। उनके खिलाफ भी कई आपराधिक मामले दर्ज हैं।
जमीन का मामला एसडीएम के पास था लंबित
सूत्रों की जानकारी के अनुसार इस जमीन का मुकदमा एसडीएम के पास लंबित था। पैमाइश के पहले सभी खातेदारों के पास समन आया था। फरीद खां तो मौके पर पंहुचे भी नहीं थे। लेखपाल की मौजूदगी में पैमाइश हो रही थी।
लल्लन और खलील खां डर से लोगो ने बेची जमीन

लल्लन खां पुलिस और दुश्मनों से बचने के लिए इन दिनों दुबग्गा-कानपुर बाईपास पर मकान बनाकर रह रहा है। ग्राम मोहम्मद नगर, रहमनत नगर में अंसारी बिरादरी की बहुतायत है। लल्लन के खौफ से ज्यादातर लोग अपने मकान और जमीन बेचकर कहीं और बस गए हैं। लल्लन और खलील खां दोनों भाइयों का क्षेत्र में बेहद खौफ रहता है। लल्लन के तीन बेटे हैं समाइल खां, फराज व एक अन्य है। समाइल व दूसरे भाई ने पोलैंड में वहीं लड़कियों से शादी कर ली है, जबकि फराज खां अपने पिता लल्लन खां के साथ रहता है।

घर में ही एक भाई की हो गई थी मौत
लल्लन के नेत्रहीन भाई सगीर की उसके ही घर में संदिग्ध हालात में गोली लगने से पूर्व में मौत हो चुकी है। उनकी हत्या का आरोप बेटे खुदादाद खां पर लगा था, जिसमें पुलिस उन्हें क्लीनचिट दे चुकी है। इसके अलावा कई साल पहले लल्लन खां ने मोहम्मद नगर के मजरा बुलाकी हार में ट्यूबवेल से लगी जमीन पर कब्जे का प्रयास किया था, जिसमें गांव वालों ने मिलकर उनकी पिटाई की थी।

मलिहाबाद तहसील प्रशासन की लापरवाही, लेखपाल पर गिर सकती है गाज

पूरे मामले में मलिहाबाद तहसील प्रशासन की लापरवाही देखी जा रही है। तहसील प्रशासन ने पुलिस को शुक्रवार को जमीन की पैमाइश करने की सूचना नहीं दी थी। पैमाइश के वक्त एक पक्ष हथियार लेकर पहुंचा था, इसकी सूचना पुलिस को नहीं दी गई। निष्पक्ष जांच हुई तो मलिहाबाद तहसील के कई अफसर और लेखपाल पर गिर सकती है गाज। पीड़ित परिवार से मिलने डीएम सूर्यपाल गंगवार मौके पर पहुंचे और परिवार को ढांढस बंधाया और जांच के आदेश दिये हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो