लखीमपुर खीरी कांड: मंत्री अजय मिश्रा का बयान मेरा बेटा निर्दोष, जिसे देखना हो, कोठी पर आकर देख ले

लखीमपुर खीरी मामले में आरोप के आधार पर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष के खिलाफ एफ़आईआर दर्ज हो चुकी है। साथ ही क्राइम ब्रांच ने हाजिर होने का नोटिस चस्पा किया था।

By: Dinesh Mishra

Updated: 08 Oct 2021, 06:30 PM IST

पत्रिका न्यूज़ नेटवर्क

लखनऊ। केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा उर्फ टेनी आज नई दिल्ली से लखनऊ वापस आए। जिसके बाद उन्होने वीवीआईपी गेस्ट हाउस में मीडिया के सवालों का जवाब देते हुए कहा कि, मेरा बेटा निर्दोष है। उसे जानबूझकर इस मामले में शामिल किया जा रहा है। मेरा बेटा लखीमपुर खीरी में कोठी पर है। जिसे दिक्कत हो वो साथ चले देख ले। उसको डॉक्टर ने आराम करने को बोला है। जल्द ही वो क्राइम ब्रांच ऑफिस में जाएगा। जो लोग साजिश कर रहे हैं उनकी सच्चाई जल्दी ही सामने आ जाएगी।

क्राइम ब्रांच न हाजिर होने का जारी किया था नोटिस

लखीमपुर खीरी मामले में किसानों की ओर से लगे आरोप के आधार पर केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष के खिलाफ एफ़आईआर दर्ज हो चुकी है। साथ ही क्राइम ब्रांच ने हाजिर होने का नोटिस चस्पा किया था। लेकिन 8 अक्तूबर को सुबह ही हाजिर होने के बजाए आशीष मिश्रा की ओर से एडवोकेट ने उसको वायरल फीवर होने की जानकारी दी। साथ ही कहा गया कि, बुखार उतरते ही आशीष मिश्रा क्राइम ब्रांच आकार अपना बयान दर्ज कराएंगे। इस बीच सोशल मीडिया में उनके नेपाल भागने की खबरें वायरल होती रही। जिसका खंडन करते हुए मंत्री अजय मिश्रा ने कहा कि, जिसे संदेह हो वो लखीमपुर में कोठी पर आकर देख ले।

परिजनों से मिलने पहुंचे संजय सिंह और अखिलेश यादव

वहीं लखीमपुर कांड में मारे गए किसानो और पत्रकार के परिवार से मिलने के लिए लखीमपुर के बाद बहराइच पहुंचे अखिलेश यादव और संजय सिंह ने कहा कि, सरकार मंत्री को बचाने में लगी हुई है। अगर ऐसा नहीं होता अब तक मंत्री का इस्तीफा हो चुका होता।

Dinesh Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned