scriptunion minister dr sanjiv balyan on akhilesh yadav RLD in up elections | SP-RLD ड्रामेबाज़ हैं, जब कैराना, मुजफ्फरनगर में दंगे हो रहे थे लोग पलायन कर रहे थे, उस समय आँसू कहाँ थे? | Patrika News

SP-RLD ड्रामेबाज़ हैं, जब कैराना, मुजफ्फरनगर में दंगे हो रहे थे लोग पलायन कर रहे थे, उस समय आँसू कहाँ थे?

UP Assembly Elections 2022 में भाजपा की ओर से जन समर्थन मांगने के लिए सोशल मीडिया पर लाइव करते हुए केंद्रीय मंत्री डॉ संजीव बाल्यान ने कहा कि तुष्टीकरण की राजनीति कर रही सपा और रालोद का असली चेहरा फिर सामने आया है। ये दोनों मिलकर तुष्टीकरण की राजनीति कर रही हैं। चुनाव से पहले ही सपा-रालोद गठबंधन के प्रत्याशियों को जनता ने नकार दिया है। रालोद मुखिया जयंत को समझ नहीं आ रहा कि क्या करें और क्या न करें। इसीलिए वह अपनी खीझ जाट समाज पर निकाल रहे है।

लखनऊ

Updated: January 21, 2022 03:22:07 pm

UP Assembly Elections 2022 में केंद्रीय मंत्री डॉ. संजीव बालियान ने राष्ट्रीय लोक दल पर बड़ा हमला किया है। उन्होंने कहा कि रालोद मुखिया और उनके पत्नी के ट्विट इस बात के गवाह हैं कि चुनाव के पहले ही उन्हें हार दिखने लगी है और चुनाव में उन्हें हिंदू-मुसलिम की याद आ रही है। तुष्टीकरण की राजनीति कर रही समाजवादी पार्टी और रालोद का असली चेहरा फिर सबके सामने आ गया है। जाट समाज कभी अपने अपमान को नहीं भूलेगा। इसीलिए जगह-जगह इनका विरोध हो रहा है।
File Photo of Union Minister Dr Sanjiv Balyan
File Photo of Union Minister Dr Sanjiv Balyan
उन्होंने पत्रकारों से गुरुवार को बातचीत में कहा कि पश्चिमी यूपी में कल नामांकन का आखिरी दिन है और जाट समाज की अनदेखी पर सपा-रालोद गठबंधन के घोषित उम्मीदवारों का विरोध तेज हो गया है। चुनाव से पहले ही इनके प्रत्याशियों को जनता ने नकार दिया है। जिस कारण रालोद मुखिया को समझ नहीं आ रहा है कि क्या करें और क्या न करें। इसीलिए वह अपनी खीझ जाट समाज के नेताओं पर निकाल रहे हैं। मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि जब मुजफ्फरनगर में दंगे हुए थे, उस समय वह कहां थे? उनकी पार्टी कहां थीं।
इमोशनल कार्ड नहीं, सुशासन चलेगा: डॉ. संजीव

उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में हार और प्रत्याशियों के विरोध को देखते हुए रालोद बैकफुट पर आ गया है। जिस कारण रालोद को अपने प्रत्याशियों को भी बदलना पड़ा। इसीलिए चुनाव में हिंदू-मुसलिम की बात कर रहे हैं। उन्होंने रालोद मुखिया की पत्नी के ईमोशनल कार्ड पर पलटवार करते हुए कहा कि रालोद प्रमुख की पत्नी ने ट्विटर पर ईमोशनल कार्ड खेला है, लेकिन इस बार इमोशनल कार्ड नहीं, सुशासन चलेगा। डॉ संजीव ने सवाल पूछा कि जब कैराना से पलायन हो रहा था तब उनके आँसू कहाँ थे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: राजस्थान ने बैंगलोर को 7 विकेट से हराया, दूसरी बार IPL फाइनल में बनाई जगहपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.