यूपी में राशन की दुकानों पर मिलेगी यह चीज, हैं ऐसी खूबियां कि हो सकती है कालाबाजारी भी, सरकार तैयार

प्रदेश सरकार प्रचार के जरिए लोगों को इसके फायदे बताएगी। कालाबाजी रोकने के लिए जिले-जिले नोडल अधिकारी नियुक्त किए जाएंगे।

 

By: Abhishek Gupta

Published: 10 Jan 2021, 03:56 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क.

लखनऊ. कुपोषण (Malnutrition) को जड़ से खत्म करने के लिए तमाम प्रयास किए गए, लेकिन अपेक्षित सफलता अभी तक नहीं मिली। अब यूपी सरकार ने इसके खिलाफ जंग छेड़ दी है। जारी आदेश के अनुसार अब यूपी के राशन की दुकानों पर से फोर्टिफाइड चावल बांटा जाएगा। चावल देश की अधिकतम आबादी का पसंदीदा भोजन है। इसलिए कुपोषण को खत्म करने के लिए इसे हथियार बनाया जाएगा।

ये भी पढ़ें- सभी को कोरोना वैक्सीन लगे यह जरूरी नहीं, जानें क्यों

उत्तर प्रदेश में भारत सरकार की फोर्टीफाइड चावल वितरण योजना का आगाज किया गया है। सबसे पहले चंदौली में फरवरी माह से इसकी शुरुआत होगी, जहां के राशन की दुकानों पर सिर्फ फोर्टिफाइड चावल ही बंटेगा। वहीं इस वर्ष के आखिर तक यूपी की सभी राशन की दुकानों पर यह चावल उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया है। प्रदेश सरकार प्रचार के जरिए लोगों को इसके फायदे बताएगी। कालाबाजी रोकने के लिए जिले-जिले नोडल अधिकारी नियुक्त किए जाएंगे।

ये भी पढ़ें- कोरोना और बर्ड फ्लू की दोहरी चुनौती से निपटने को सरकार तैयार, सीएम योगी ने दिए सख्त निर्देश

फोर्टीफाइड चावल की क्या है खासियत-
दरअसल आम तौर पर सामान्य चावल में सूक्ष्म पोषक तत्वों की कमी होती है। इन्हीं सामान्य चावल पर ही जरूरी मात्रा में आयरन, विटामिन्स और सूक्ष्म पोषक तत्वों का एक ही परत का कोट चढ़ाया जाता है, जिसे फोर्टिफाइड चावल कहते हैं। इसी कारण इसे देश में सबसे पौष्टिक चावल माना गया है। इसमें विटामिन ए, विटामिन बी.1, विटामिन बी.12, फोलिक एसिड, आयरन और जिंक की मात्रा होती है, जो शरीर को मजबूत बनाते हैं।

Show More
Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned