UP Board Result 2020 : यूपी बोर्ड हाईस्कूल और इंटरमीडिएट के सभी छात्र अपना रिजल्ट यहां देखें

UP Board Result 2020 : यूपी बोर्ड के हाईस्कूल (High School) और इंटरमीडिएट (Intermediate) के सभी छात्र अधिकारिक वेबसाइट upmsp.edu.in और upresults.nic.in पर जाकर अपना 10वीं और 12 वी का परिणाम देख सकेंगे।

By: Neeraj Patel

Updated: 27 Jun 2020, 09:09 AM IST

लखनऊ. UP Board Result 2020 : उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद (UP Board) की 10वीं और 12वीं की परीक्षा का परिणाम 27 जून दिन शनिवार को 12:30 बजे घोषित हो जाएगा। यूपी में 50 लाख से अधिक छात्र-छात्राएं और उनके अभिभावक दो साल की मेहनत के परिणामों को जानने के लिए बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं। यूपी बोर्ड की हाईस्कूल (High School) और इंटरमीडिएट (Intermediate) की परीक्षाएं कोरोना का संक्रमण फैलने से पहले क्रमश: 3 और 6 मार्च को समाप्त हो गई थी। यूपी बोर्ड के हाईस्कूल (High School) और इंटरमीडिएट (Intermediate) के सभी छात्र अधिकारिक वेबसाइट upmsp.edu.in और upresults.nic.in पर जाकर अपना 10वीं और 12 वी का परिणाम देख सकेंगे।

बता दें कि कॉपी जांचने का काम 16 मार्च को शुरू हुआ था लेकिन कोरोना (Corona) के कारण 18 मार्च से टालना पड़ा था। उसके बाद 5 मई से ग्रीन जोन और 12 मई से ऑरेंज जोन में मूल्यांकन शुरू होकर जून के पहले सप्ताह तक सभी जिलों में कॉपियां जांचने का काम पूरा हो गया। समय से रिजल्ट देने के लिए पहली बार यूपी बोर्ड ने अलग से पोर्टल बनाकर छात्र-छात्राओं के प्रैक्टिकल एवं लिखित परीक्षा समेत अन्य सूचनाओं को अपडेट किया। इससे एक तो बोर्ड के अधिकारियों और कर्मचारियों को रिजल्ट तैयार करवाने के लिए दूसरे राज्य नहीं जाना पड़ा और समय के अंदर रिजल्ट भी तैयार हो गया।

डिजिटल हस्ताक्षर वाली मिलेगी मार्कशीट

यूपी बोर्ड 2020 की हाईस्कूल एवं इंटरमीडिएट परीक्षा में शामिल 50 लाख से अधिक छात्र-छात्राओं को पहली बार डिजिटल हस्ताक्षर (Digital Signature) वाली मार्कशीट मिलने जा रही है। बता दें कि 27 जून को 12.30 बजे परिणाम घोषित होने के तुरंत बाद बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट https://www.upmsp.edu.in/ पर रिजल्ट अपलोड कर दिया जाएगा। सचिव नीना श्रीवास्तव के डिजिटल हस्ताक्षर वाली मार्कशीट अपलोड होने में दो-तीन का समय लगेगा।

प्रवेश से लेकर नौकरी तक में मान्य होगी डिजिटल हस्ताक्षर वाली मार्कशीट

सूत्रों के अनुसार हर साल रिजल्ट के समय इंटरनेट से जो अंकपत्र बच्चों को मिलता है उसकी कोई कानूनी मान्यता नहीं होती। लेकिन डिजिटल हस्ताक्षर वाली मार्कशीट प्रवेश से लेकर नौकरी तक में मान्य होती है। यही कारण है कि पहले इंटरमीडिएट के बच्चों को ये विशेष रूप से तैयार अंकपत्र देने की तैयारी है ताकि उन्हें आगे स्नातक या अन्य प्रवेश में किसी तरह की परेशानी न हो। बाद में हाईस्कूल के बच्चों को उपलब्ध कराई जाएगी।

Show More
Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned