UP Board Exam 2020-21 : इस बार बदली व्यवस्था में होगी बोर्ड परीक्षा, प्रैक्टिकल एग्जाम भी नये नियम से

- कोरोना वायरस संक्रमण के चलते बदल जाएंगे UP Board Exam के नियम
- बदली व्यवस्था के साथ शुरू हुई बोर्ड एग्जाम की तैयारियां
- प्रैक्टिकल एग्जाम्स के लिए विषयवार परीक्षकों की सूची तैयार करने के लिए टीचर्स की डिटेल जुटाई जा रही है

By: Hariom Dwivedi

Updated: 21 Nov 2020, 01:08 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. कोरोना वायरस (Corona Virus) का असर इस बार यूपी बोर्ड परीक्षाओं (UP Board Exam) पर भी दिखेगा। बदली व्यवस्था के साथ बोर्ड एग्जाम की तैयारियां शुरू हो गई हैं। इसकी शुरुआत प्रयोगात्मक परीक्षाओं (UP Board Practical Exam) से होगी। यूपी बोर्ड की प्रयोगात्मक परीक्षाएं अभी तक प्रत्येक वर्ष 15 दिसम्बर से 15 जनवरी के बीच होती थीं, इस बार कोरोना संक्रमण के चलते यह फरवरी के पहले व दूसरे सप्ताह में कराई जाएंगी। वह भी बदले नियम व नई व्यवस्थाओं के बीच।

कोरोना संक्रमण के चलते इस बार प्रयोगात्मक परीक्षा देने वाले छात्रों को इस बार एक दिन के बजाय अलग-अलग तारीख पर छोटे-छोटे ग्रुप्स में बुलाया जाएगा और बारी-बारी से सभी की परीक्षा संपन्न कराई जाएगी। ऐसे में आमतौर पर एक दिन में खत्म हो जाने वाली परीक्षा इस बार एक दिन से अधिक दिनों में होने की संभावना है। इस बारे में अभी कोई लिखित दिशा-निर्देश तो नहीं आया है, लेकिन बोर्ड की तरफ से सारे दिशा-निर्देश जल्द ही जारी किये जाएंगे।


बोर्ड का निर्देश
प्रैक्टिकल एग्जाम्स के लिए विषयवार परीक्षकों की सूची तैयार करने के लिए टीचर्स की डिटेल जुटाई जा रही है। इस बाबत सभी स्कूलों को निर्देश दिये गये हैं कि वे अपने शिक्षकों का ब्योरा 30 नवम्बर तक परिषद की वेबसाइट पर फीड करें। निर्देश में कहा गया है कि स्कूल अपने शिक्षकों के विषय, नाम स्कूल आदि ब्यौरे को सावधानी से फीड करें। इसी डिटेल के आधार पर बोर्ड परीक्षाओं की कॉपियों के मूल्यांकन के लिए शिक्षकों की तैनाती की जाएगी।

Corona virus
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned