UP Board 2019 result: लखनऊ की टॉपर अंकिता IAS तो अतिथि बनना चाहते हैं सिविल इंजीनियर

UP Board 2019 result: लखनऊ की टॉपर अंकिता IAS तो अतिथि बनना चाहते हैं सिविल इंजीनियर
Lucknow toppers

Abhishek Gupta | Updated: 27 Apr 2019, 10:16:36 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षा के परिणाम शनिवार को घोषित हो गए।

लखनऊ. यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षा के परिणाम शनिवार को घोषित हो गए। इसमें राजधानी लखनऊ की बात करें तो हाईस्कूल का कोई भी छात्र टॉप 10 में जगह बनाने में कामयाब नहीं हो पाया, लेकिन इंटरमीडिएट में एक छात्र व एक छात्रा ऐसा करने में सफल रहे हैं। लखनऊ पब्लिक स्कूल की छात्रा अंकिता ने 93.40 प्रतिशत अंक प्राप्त कर प्रदेश में पांचवां और लखनऊ में पहला स्थान हासिल किया हैं। वहीं, इसी स्कूल के अतिथि कुमार 92.60 प्रतिशत अंकों के साथ यूपी में 9वें व लखनऊ में दूसरे स्थान पर रहे हैं।

ये भी पढ़ें- 12वीं परीक्षा की दूसरी टॉपर बनना चाहती हैं यह, माता-पिता पेशे से हैं यह

आइएएस बनना चाहती हूं-

इंटरमीडिएट में 93.40% हासिल कर यूपी टॉप 10 में शामिल होने वाली एलपीसी राजाजीपुरम की छात्रा अंकिता कुमारी एक आइएएस अधिकारि बनना चाहती हैं। वहीं उन्होंने बताया कि अच्छे नंबर लाने के लिए उन्होंने सेल्फ स्टडी पर फोकस किया। वर्चुअल जमाने में मोबाइल का इस्तेमाल तक नहीं किया। एक्जाम खत्म होने के बाद मुझे मोबाइल दिया गया वह पूरे आठ घंटे पढ़ाई करती थी। अपनी सफलता का श्रेय वह टीचर्स को देती हैं।

ये भी पढ़ें- यूपी बोर्ड टॉपर्स को लेकर पीएम मोदी ने दिया बड़ा बयान, अखिलेश यादव ने कही बहुत बड़ी बात

इंजीनियर बनना चाहता हूं-

वहीं 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा में 92.60 हासिल करने वाले एलपीसी के अतिथि कुमार बताते हैं कि वे बीटेक करके सिविल इंजीनियर बनना चाहते हैं। उन्होंने सफलता के कुछ टिप्स देते हुए कहा कि अपने लक्ष्य को पाने के लिए सिर्फ रेगुलर स्टडी करें, किसी भी तरह की कोचिंग की जरूरत नहीं है। अतिथि के परिवार में माता - पिता और एक भाई है। भाई सिविल इंजीनियर की पढ़ाई कर रहा है। भाई से सिविल इंजीनियर बनने की प्रेरणा मिली है।

इसने प्रतिशत परीक्षार्थी हुए पास-

आपको बता दें कि माध्यमिक शिक्षा परिषद ने हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा 2019 के परिणाम शनिवार को घोषित कर दिए। जिसमें हाईस्कूल में 80.07 प्रतिशत परीक्षार्थी पास हुए हैं तो इंटरमीडिएट में 70.06 प्रतिशत परीक्षार्थियों को सफलता मिली है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned