सीएम योगी का अब तक का सबसे बड़ा बजट होगा, दिखेगी चुनाव की छाप

सीएम योगी का अब तक का सबसे बड़ा बजट होगा, दिखेगी चुनाव की छाप

Ashish Pandey | Publish: Feb, 15 2018 09:44:42 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

बजट में योगी सरकार अपनी प्राथमिकताओं और विकास के विजन को अमली जामा पहनाती नजर आएगी।

 

लखनऊ. यूपी की योगी सरकार शुक्रवार को विधानसभा में अपना पहला पूर्ण बजट पेश करेगी। बजट में एक ओर जहां सीएम योगी आदित्यनाथ सरकार का विकास बिजन देखने को मिलेगा तो वहीं २०१९ के लोकसभा चुनाव को देखते हुए बजट के लोक लुभावना होने के भी आसार हैं। बजट में सरकार की एक साथ कई लक्ष्य साधने की कोशिश होगी। बजट के किसानों, नौजवानों और उद्योगों पर केंद्रित रहने के आसार हैं। योगी का यह बजट २०१९ के लोकसभा चुनाव को भी साधने का पूरा प्रयास करेगा।
योगी सरकार में वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल शुक्रवार को प्रदेश का बजट पेश करेंगे। यह बजट अब तक का सबसे बड़ा बजट होगा। यह करीब 4.5 लाख करोड़ रुपए का होने का अनुमान है। इस बजट में योगी सरकार अपनी प्राथमिकताओं और विकास के विजन को अमली जामा पहनाती नजर आएगी।

इन पर रहेगा फोकस

माना जा रहा है कि योगी सरकार का इस बार फोकस इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ युवाओं पर रहेगा। वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने अपनी तैयारी कर ली है। इससे पहले योगी आदित्यनाथ सरकार ने अपना पहला बजट जुलाई में पेश किया था, जिसमें किसानों पर फोकस था। उम्मीद है योगी सरकार के बजट में आधारभूत ढांचे के विकास के लिए योजनाओं की लंबी फेहरिस्त होगी। वहीं युवाओं को नौकरी पर भी फोकस होगा। योगी आदित्यनाथ सरकार को सत्ता में आए करीब एक वर्ष होने जा रहा है। इस सरकार के सामने कानून व्यवस्था, सांस्कृतिक विकास के अलावा आधारभूत ढांचे के विकास को और रफ्तार देना भी बड़ी चुनौती है।

वित्त मंत्री राजेश अग्रवाल ने कहा कि हम सभी योजनाओं को समयबद्ध पूरा करना चाहते हैं। हम सभी योजनाओं को बजट दे रहे हैं, लेकिन काम समय से पूरा नहीं हुआ और इस नाते लागत बढ़ी तो जबाबदेही अफसर की होगी और उस पर कार्रवाई भी की जाएगी।

दिखेगी 2019 के चुनाव की तैयारियां
योगी आदित्यनाथ सरकार ने बजट में वर्ष 2019 के लोकसभा चुनावों का विशेष ध्यान रखा है। सरकार के सामने मायावती सरकार के समय का यमुना एक्सप्रेस वे, एनसीआर की मेट्रो परियोजना, लखनऊ, नोएडा जैसे शहरों में ढांचागत विकास तो अखिलेश सरकार के दौर का आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे, लखनऊ मेट्रो, बिजली ढांचे में फीडर सेपरेशन का काम एक चुनौती की तरह है। योगी आदित्यनाथ सरकार को लोकसभा चुनाव से पहले बताना होगा कि उनकी सरकार ने अब तक क्या महत्वपूर्ण कार्य किया है।

युवा वर्ष घोषित कर सकती है सरकार
युवाओं को लुभाने के लिए सरकार 2018-19 को युवा वर्ष घोषित कर सकती है। योगी आदित्यनाथ सरकार के दूसरे बजट में युवाओं को रोजगार देने पर खास फोकस होगा।

विकास का रोडमैप

योगी आदित्यनाथ सरकार के इस बार बजट में पूर्वांचल और बुंदेलखंड के विकास का रोडमैप साफ दिखाई दे सकता है। पीएम नरेंद्र मोदी के निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी, सीएम योगी के गृह क्षेत्र गोरखपुर और डिप्टी सीएम केशव मौर्य के प्रभाव वाले इलाकों इलाहाबाद के लिए विकास योजनाओं का तोहफा होगा। इसके साथ ही साथ बुंदेलखंड में जल संकट दूर करने के बजट में प्रावधान होगा। सरयू, अर्जुन सागर और बाण सागर परियोजनाओं को पूरा करने पर बजट का बड़ा हिस्सा खर्च होगा। सम्पूर्ण प्रदेश में सड़कों को गड्ढ़ा मुक्त कराने को लेकर अभियान जारी रहेगा।

Ad Block is Banned