ग्रेजुएशन में 50 फीसदी से कम अंक हैं तो नहीं बन पाएंगे सरकारी शिक्षक, योगी कैबिनेट में प्रस्ताव पास

योगी आदित्यनाथ कैबिनेट 34 अहम प्रस्तावों पर लगी मुहर, जानें- कैबिनेट के फैसले

By: Hariom Dwivedi

Published: 03 Dec 2019, 05:57 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश में अगर आपके 50 फीसदी से कम अंक हैं तो फिर सरकारी टीचर नहीं बन पाएंगे। योगी आदित्यनाथ कैबिनेट की बैठक में मंगलावर को 34 अहम प्रस्तावों पर मुहर लगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में लोकभवन में हुई कैबिनेट बैठक में फैसला लिया गया कि अब शासकीय सहायता प्राप्त जूनियर हाईस्कूल में शिक्षक की नौकरी पाने के लिए अभ्यर्थी को स्नातक में न्यूनतम 50 फीसदी अंक लाने अनिवार्य होंगे। गौरतलब है कि इससे पहले अभी तक सरकारी शिक्षक बनने के लिए ऐसी कोई बाध्यता नहीं थी।

योगी कैबिनेट के अहम फैसले
- मेगा प्रोजेक्ट वाली 4 यूनिट को 326 करोड़ का इंसेटिव
- श्री सीमेंट, रिलायंस सीमेंट, वरुण बेवरेजेज, असवारा पेपर्स
- औद्योगिक नीति में बदलाव को मंजूरी
- नोएडा, ग्रेटर नोएडा, के होम बायर्स के लिये बनी सब कमेटी की रिपोर्ट मंजूर
- नोएडा सेक्टर 71 से ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क तक 15 किमी मेट्रो लाइन को मंजूरी
- यूपी बुनकरों को मिल रही बिजली सब्सिडी की नीति बदलेगी
- डिफेंस इंडस्ट्रियल एयरो स्पेस एंड एम्प्लॉयमेंट पॉलिसी में संसोधन
- पीडब्ल्यूडी में मार्ग सेतु, भवन और सड़क पर जीएसटी लागू करने को मंजूरी 12 फीसदी जीएसटी लगेगी
- भदोही निर्माण प्राधिकरण में भवन नियमावली में बदलाव
- सुलतानपुर के 33 राजस्व गांव को सदर क्षेत्र से दूसरी तहसील में शिफ्ट
- केजीएमयू में विभिन्न विभागों के निर्माण में उच्च विशिष्ट जोड़ेगी
- शोहरत गढ़, तंबौर, महराजगंज, कोंच, खलीलाबाद, लखनऊ, वाराणसी का सीमा विस्तार।
- नए फ्यूल स्टेशन पॉलिसी मंजूर

यह भी पढ़ें : दिव्यांगजन पुनर्वास के लिए यूपी सर्वोत्तम राज्य, वाराणसी को सर्वोत्तम जनपद का पुरस्कार

Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned