योगी आदित्यनाथ ने रात में रैन बसेरों का किया निरीक्षण, पूंछा- अरे भाईयों कोई परेशानी तो नहीं है...

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कड़ाके की ठंड में जियामऊ और चकबस्त रोड स्थित रैन बसेरों का अचानक निरीक्षण किया।

By: Mahendra Pratap

Updated: 04 Jan 2018, 03:46 PM IST

लखनऊ. यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कड़ाके की ठंड में जियामऊ और चकबस्त रोड स्थित रैन बसेरों का अचानक निरीक्षण किया। लखनऊ में देर रात अचानक जिला प्रशासन व जिले के आला अधिकारी आनन-फानन में के जियामऊ और चकबस्त रोड स्थित रैन बसेरे में पहुंचना पड़ा। क्योंकि वहां पर मौजूद आम लोगों से कोई और नहीं, खुद यूपी के मुखिया योगी आदित्यनाथ उनके हालचाल लेने पहुंचे। सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि बुधवार रात मुख्यमंत्री ने जियामऊ और चकबस्त रोड स्थित रैन बसेरों का औचक निरीक्षण किया और वहां रह रहे लोगों से बातचीत भी की।

सीएम योगी ने सख्त निर्देश

उन्होंने जिला प्रशासन व जिले के आला अधिकारियों एवं नगर आयुक्त को रैन बसेरों को व्यवस्थित और साफ-सुथरा रखने के साथ बिस्तरों की चादरों को नियमित रूप से बदलने के सख्त निर्देश दिए। योगी ने कहा कि रैन बसेरों में पर्याप्त बिस्तरों की व्यवस्था की जाए और यहां आने वालों को सर्दी में किसी भी तरह की परेशानियों का सामना न करना पड़े। इस अवसर पर विधि एवं न्याय मंत्री बृजेश पाठक एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे।

रैन बसेरों में जाकर पूंछा हाल

लखनऊ में जहां एक तरफ जिला प्रशासन व जिले के आला अधिकारी में बेचैनी देखी जा रही है। तो वहीं दूसरी तरफ रैन बसेरे में मौजूद हर एक शख्स सिर्फ यही कह रहा था 'देखो-देखो, मुख्यमंत्री जी आए', तो दूसरी तरफ खुद यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वहां पर मौजूद लोगों से पूंछा कि 'अरे भाईयों किसी को कोई दिक्कत या परेशानी तो नहीं है।

रैन बसेरे में मौजूद लोगों को दिए कंबल

इसके बाद यूपी सीएम योगी परिवर्तन चौराहे के नगरी चकबस्त इलाके के रैन बसेरे में पहुंचे। जहां गांव देहात से आकर लखनऊ में काम कर रहे दिहाड़ी मजदूर रुके हैं। योगी ने यहां भी रैन बसेरों के हालात की चर्चा की। यहां पहुंचकर लोंगो का हाल जानकर मौजूद लोगों को कंबल वितरित किए गए।

रैन बसेरे गरीबों के लिए राहत का केंद्र

इसके बाद संवाददाताओं से बातचीत में योगी ने कहा कि पूरे राज्य में 950 से ज्यादा रैन बसेरे इस समय गरीबों के लिए राहत का केंद्र बने हुए हैं। जहां गरीब और दहाड़ी मजदूरों के लिए कड़ाके की ठंड में यहां रहने की सुविधाएं दी गई हैं। लोंगो को जल्द ही बिछाने के लिए गद्दे और कंबल पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध कराए जाएंगे।

उन्होंने वहां पर मौजूद लोगों से रैन बसेरों की स्थिति के बारे में जानकारी लेते हुए अधिकारियों को निर्देशित किया कि किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत यहां पर रहने वाले लोगों को नहीं होनी चाहिए और इनके लिए गर्म कपड़े के साथ-साथ अच्छे कंबल का इंतजाम रखो।

उन्होंने पर्याप्त बिस्तरों की व्यवस्था एवं चादरों को नियमित रूप से बदलने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अलाव जलाते रहना चाहिए। सर्दी में किसी भी व्यक्ति को कोई दिक्कत नहीं होनी चाहिए। जाते-जाते मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी एवं नगर आयुक्त को रैन बसेरों को व्यवस्थित और साफ-सुथरा रखने के कड़े निर्देश दिए हैं।

Show More
Mahendra Pratap
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned