अजय लल्लू समेत सैकड़ों कांग्रेसी नेता गिरफ्तार, शाहनवाज की गिरफ्तारी का कर रहे थे विरोध

- लोकतंत्र की हत्या पर आमादा है योगी : अजय कुमार लल्लू
- कहा, अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन शाहनवाज की गिरफ्तारी अवैध, अलोकतांत्रिक और निंदनीय
- विपक्ष की आवाज को दबाने और कुचलने पर आमादा है योगी सरकार : आराधना मिश्रा मोना

By: Abhishek Gupta

Published: 30 Jun 2020, 07:01 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने प्रदेश कांग्रेस अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन शाहनवाज आलम की गिरफ्तारी को गैरकानूनी और अति निंदनीय बताया है। कहा कि शाहनवाज आलम को अवैध तरीके से सादी वर्दी में कुछ पुलिस वाले अगवा किये और दो घंटे तक उनके बाबत कोई भी जानकारी नहीं दी गयी। मंगलवार सुबह प्रदेश कांग्रेस कार्यालय से विरोध दर्ज कराने जा रहे प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू और आराधना मिश्रा मोना समेत सैकड़ों कार्यकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया और शाम 4 बजे रिहा किया।

प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने जारी बयान में कहा कि पूरे प्रदेश में भाजपा सरकार दमन का चक्र चला रही है। आये दिन पुलिस के दम पर लोकतंत्र को कुचला जा रहा है। अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन शाहनवाज आलम की देर रात गिरफ्तारी अवैध, अलोकतांत्रिक और निंदनीय है। कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता जनता के मुद्दों पर आवाज उठाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। भाजपा सरकार यूपी पुलिस को दमन का औजार बनाकर दूसरी पार्टियों को आवाज उठाने से रोक सकती है, हमारी पार्टी को नहीं। यह पुलिसिया कार्रवाई दमनकारी और आलोकतांत्रिक है।

कांग्रेस विधायक दल की नेता आराधना मिश्रा मोना ने इस पुलिसिया राज की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि यह योगी आदित्यनाथ की सरकार का राजनीतिक द्वेषपूर्ण और कायरता भरा कदम है। सरकार विपक्ष की आवाज की दबाना चाहती। कांग्रेस के बढ़ते प्रभाव से योगी सरकार की बौखलाहट साफ साफ दिख रही है।

Abhishek Gupta Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned