scriptUP Election 2022 Digital Campaign form Political Parties | क्या है डिजिटल कैंपेन, कैसे होता है इससे चुनाव प्रचार और कितना आता है खर्च | Patrika News

क्या है डिजिटल कैंपेन, कैसे होता है इससे चुनाव प्रचार और कितना आता है खर्च

भौतिक रूप से रैलियों पर पाबंदी है। ऐसे में राजनीतिक दलों के पास इंटरनेट के माध्यम से सोशल मीडिया पर प्रचार प्रसार का विकल्प बचा है। अब चुनावी हलचल सड़कों की जगह सोशल मीडिया साइट्स पर है।

लखनऊ

Updated: January 23, 2022 09:08:12 am

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक दलों ने तैयारी तेज कर दी है। लेकिन अब प्रचार पहले की तरह नहीं होता दिख रहा। चुनाव आयोग की घोषणा के बाद सभी राजनीतिक दलों ने प्रचार प्रसार का तरीका बदल दिया है। अब रोड शो, रैलियों की जगह डिजिटल प्रचार को महत्व दिया जा रहा है। भौतिक रूप से रैलियों पर 31 जनवरी तक पाबंदी है। ऐसे में राजनीतिक दलों के पास इंटरनेट के माध्यम से सोशल मीडिया पर प्रचार प्रसार का विकल्प बचा है। अब चुनावी हलचल सड़कों की जगह सोशल मीडिया साइट्स पर है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि डिजिटल प्रचार कैसे होता है और इसमें कितना खर्च आता है।
UP Election 2022 Digital Campaign form Political Parties
UP Election 2022 Digital Campaign form Political Parties
चुनाव प्रचार पर कोरोना की मार को देखते हुए चुनाव आयोग ने रोड शो, रैलियों, जनसभाओं पर रोक लगा दी है। वहीं, पॉलिटिकल पार्टियां सोशल मीडिया साइट्स के जरिये मतदाताओं को टारगेट कर रही हैं। फेसबुक, ट्वीटर, इंस्टाग्राम और यहां तक कि व्हाट्सऐप पर प्रचार के लिए पूरी तरह से निर्भर हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि सोशल मीडिया पर यह प्रचार यूं ही नहीं होता। आसान भाषा में डिजिटल प्रचार का मतलब होता है ऑडियो, वीडियो, पोस्टर, बैनर के माध्यम से सोशल मीडिया पर प्रचार प्रसार करना। इन सब में करोड़ों का खर्च आता है।
यह भी पढ़ें

UP Election 2022: यूपी चुनाव से पहले मुलायम कुनबे में सेंध, अपर्णा यादव के साथ ही सपा का यह सदस्य भी आज भाजपा में होगा शामिल

कैसे होता है डिजिटल प्रचार

डिजिटल प्रचार को दो भागों में बांट दिया जाता है। एक प्रोडक्शन प्रोसेस और दूसरा प्रमोशन प्रोसेस। प्रोडक्शन प्रोसेस में प्रत्याशियों का वीडियो शूट होता है, जिसमें हाई क्वालिटी का कैमरा यूज होता है। प्रत्याशी का घोषणा पत्र, उसके द्वारा किए गए काम, प्रत्याशी की महत्वपूर्ण उपलब्धियां आदि को वीडियो में बना कर उसका प्रचार प्रसार किया जाता है। वीडियो को फेसबुक, व्हाट्सऐप, यूट्यूब, इंस्टाग्राम जैसे माध्यमों की मदद से वोटर्स तक पहुंचाया जा सकता है।
यह भी पढ़ें

UP Election 2022: यूपी चुनाव से पहले मुलायम कुनबे में सेंध, अपर्णा यादव ने ज्वाइन की बीजेपी

कितना आता है खर्च

पार्टियों के बैनर, पोस्टर को बड़े लेवल पर लोगों तक पहुंचाया जा रहा है। इन सभी के लिए ट्विटर, फेसबुक, यूट्यूब, इंस्टाग्राम जैसे सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की मदद ली जा रही है। लेकिन डिजिटल कैंपेन सभी पार्टियों के लिए बराबर नहीं होते। डिजिटल कैंपेन में बाजी वही मार सकता है जिसके पास ज्यादा पैसा है। जिसके पास ज्यादा पैसा होता है, उसका कैंपेन भी ज्यादा होता है। लाखों की तो होर्डिंग्स लगती है। बोर्ड, बैनर्स, में भी लाखों खर्च हो जाते हैं। सोशल पर भी खर्च की कोई सीमा नहीं है। किसी एक एरिया में किसी एक उम्मीदवार के लिए डिजिटल खर्च करने के लिए चार से 15 लाख तक का खर्च आ जाता है। वहीं, अगर पूरे राज्य में डिजिटल कैंपेन चलाना हो, तो यह रकम 15 करोड़ तक पहुंच जाती है। यानी कि जितना बड़ा इलाका, उतनी बड़ी रकम।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

आय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्मानाMumbai Drugs Case: क्रूज ड्रग्स केस में शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को NCB से क्लीन चिट36000 मंदिरों को तोड़कर उनपर बनाई गईं मस्जिदें, हम उन सभी मस्जिदों पर करेंगे क्लेम, कर्नाटक के BJP विधायक का बयानमनी लान्ड्रिंग मामले में फारूक अब्दुल्ला को ED ने भेजा समन, 31 मई को दिल्ली में होगी पूछताछUP Vidhansabha: मुख्यमंत्री Yogi बोले- ... 'हाथ जोड़कर बस्ती को लूटने वाले, सभा में सुधारों की बात करते हैं'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चKuldeep Ranka : कौन हैं ये IAS, जिनसे 'ज़लालत' महसूस कर Gehlot के मंत्री ने कर डाली इस्तीफे की पेशकश!Bharat Drone Mahotsav 2022: दिल्ली में ड्रोन फेस्टिवल का उद्घाटन कर बोले मोदी- 2030 तक ड्रोन हब बनेगा भारत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.