चमत्कारी शक्ति वाले चश्में से लगाया लोगों को करोड़ों का चूना

गढ़े खजाने से लेकर जासूसी की लालच,कई राज्यों में अंजाम दी वारदात

By: Dhirendra Singh

Published: 03 Nov 2017, 06:49 PM IST

लखनऊ. चमत्कारी शक्ति व कम समय में ज्यादा धन पाने की लालच में आज भी अपनी खून पसीने की कमाई गवा रहे हैं। ऐसे ही एक गैंग का यूपी पुलिस ने खुलासा किया है। यह गिरोह देश भर में लोगों को चमत्कारी शक्ति वाला चश्मा देने का दावा करता था। यह गिरोह चश्में के बारे में गढ़ा खजाना तलाश लेने, दीवार के दूसरी तरफ खड़े इंसान को देखने में सक्षम समेत कई चीजों को लेकर दावा करता था। इसके बाद लोगों को विश्वास में लेकर लाखों रुपये की कीमत लगाकर चश्मा उन्हें बेच देते थे। यूपी पुलिस ने इस गिरोह के आठ सदस्यों को मुठभेड़ के बाद पकड़ने में कामयाबी पाई है।

चमत्कारी चश्मा देश में केवल एक-दो लोगों के पास
डीजीपी मुख्यालय के अधिकारी के मुताबिक चमत्कारी चश्मा की कहानी गढ़ने वाले इस गिरोह का का संचालन रिजवान और मोहम्मद आमिर के द्वारा किया जाता है। जो कि पूरे भारत में घूम कर उन लोंगो की तलाश करते थे, जिन्हें कीमती चीजों में दिलचस्पी होती थी। इसके बाद यह उनको बताते थे कि उनके पास एक ऐसा नायाब चश्मा है, जिससे जमीन के अंदर गढ़ी हुई चीजें या पुराना खजाना दिखाई देता है। साथ ही इससे दीवार के दूसरी तरफ खड़े व्यक्ति को भी देखा जा सकता है। यहीं नहीं छत में लगी सरिया को भी इस चश्में की मदद से देखा जा सकता है। यह गिरोह लोगों से दावा करता था कि चमत्कारी चश्मा भारत में एक-दो उच्च पदस्थ लोगों के पास ही है। फिर उन्हें खजाने तलाशने और खुफिया चीजों के लिए प्रेरित किया जाता।

चश्मा बेचने के लिए ट्रिक
गिरोह के लोग चश्मा लेने में दिलचस्पी दिखाने वालों को चश्मे की बकायदा टेस्टिंग भी कराते थे। इसके लिए पहले एक सदस्या व्यक्ति की आँख पर चश्मा लगाता था। वहीं एक अन्य सदस्य व्यक्ति के पीछे खड़ा होकर एक प्रोजेक्टर कैमरे से छत पर पूर्व से कैमरे में फीड सरिया की जाल के फिल्म को प्रोजेक्ट करता, इससे व्यक्ति समझता कि उसको छत की सरिया दिख रही है। ऐसे ही जब दीवार के पर खड़े व्यक्ति को दिखाते, तो उसमें भी चश्मा लगा कर पीछे प्रोजेक्टर से फिल्म प्रोजेक्ट करते थे, जिसमें एक कंकाल दीवार पर दिखने लगता। वहीं चश्में की चुम्बकीय शक्ति दिखाने के लिए लोगों को समझाते थे कि जो धातु पुरानी हो जाती है, उसमें चुम्बकीय शक्ति आ जाती है। एक यंत्र के माध्यम से चश्मे की चुम्बकीय शक्ति को सिद्ध कर देते थे। इसके बाद झांसे में आया व्यक्ति उन्हें पैसे दे देता था और सभी पैसे मिलने के बाद वहां से फरार हो जाते थे।

विधायक की पत्नी को भी ठगा
इसी गिरोह ने गत जून महीने में श्रावस्ती जनपद के भिनगा के विधायक असलम राइनी की पत्नी अनीसा को भी चमत्कारी चश्मी की कहानी बताकर 21 लाख रुपए ठग लिए। दरअसल गिरोह के ही कुछ लोग एक खेती की जमीन का सौदा करने के लिए अनीसा बानो के पास पहुंचे। इसके बाद उन्हें चमत्कारी चश्में की कहानी सुनाई। फिर वह गिरोह के लोगों के झांसे आकर परिवार के कुछ लोगों के साथ मिलकर 21 लाख रुपए दे दिए। इसके बाद सभी फरार हो गए। इस मामले में उन्होंने दरगाह थाने में मुकदमा दर्ज कराया था।

आठ आरोपी हुए गिरफ्तार
डीजीपी मुख्यालय के मुताबिक गिरोह के आठ आरोपियों को मुठभेड़ के बाद बहराइच से गिरफ्तार किया गया है। इनकी पहचान आमिर उर्फ गुड्डू, खलील अहमद, अशोक गुप्ता, गोपाल उर्फ मोइनुद्दीन, रामनरेश श्रीवास्तव, मोहम्मद कयूम, अनीस अहमद और मोहम्मद रिजवान के रुप में हुई है। इनके पास से दो लाख अट्ठारह हजार रूपए, असलहा, विशेष धातु से निर्मित वजनी चश्मा व अन्य समान। पुलिस के मुताबिक यह गिरोह यूपी, दिल्ली, हरियाणा, बिहार, मुंबई समेत कई राज्यों में लोगों से अब तक करीब एक करोड़ की ठगी कर चुका है।

Show More
Dhirendra Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned