कोरोना लॉकडाउन में अर्थव्यवस्ता को पटरी पर लाने के लिए योगी सरकार ने दी छह और उद्योगों को हरी झंडी

- जरूरी सेवाओं वाले निजी आफिस भी रेड जोन में कल से खुलेंगे
-सरकार का एक और बड़ा फैसला, अब निजी अस्पतालों में भर्ती हो सकेंगे कोरोना मरीज

By: Karishma Lalwani

Updated: 05 May 2020, 02:57 PM IST

लखनऊ. लॉकडाउन (Lockdown) के कारण चरमराई अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए योगी सरकार ने लॉकडाउन 3 में उद्योग धंधों को लेकर कुछ फैसले लिए हैं। यगी सरकार ने कुछ शर्तों और प्रतिबंधों के तहत छह और ओद्योगों को शुरू करने की अनुमति दी है। मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी ने समस्त मंडलायुक्तों व जिलाधिकारियों को इन उद्योगों के संचालन की कार्यवाही सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं। माना जा रहा है कि योगी सरकार दूध, कांच, एलुमीनियम निर्माण जैसे उद्योगों के संचालन की अनुमति दे सकती है। इससे पहले योगी सरकार ने लॉकडाउन में 11 उद्योगों के संचालन की अनुमति दी थी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों संग बैठक कर लॉकडाउन में हर जिले की स्थिति की जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने छह और उद्योगों को संचालित करने की बात कही। इस संबंध में मुख्य सचिव ने अफसरों से कहा है कि महामारी के दौरान उद्योगों के संचालन के लिए केंद्र सरकार द्वारा जारी दिशा-निर्देशों व बनाए गए स्टैण्डर्ड ऑपरेटिंग प्रोसीजर (एसओपी) का पूरी तरह से अनुपालन सुनिश्चित कराया जाएगा। उद्योग धंधों का संचालन एडवाइजरी के अनुरूप कराया जाएगा।

हॉटस्पॉट में रहने वाले कर्मी नहीं जाएंगे कार्यस्थल

योगी ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि हॉटस्पॉट में रहने वाले कर्मी नहीं अपने कार्यस्थल नहीं जाएंगे। रेड जोन में विशेषकर ध्यान दिया जाए। साथ ही यह भी सुनिश्चित किया जाए कि बिना मास्क के कोई भी बाहर न निकले। कोविड-19 से प्रभावित आर्थिक गतिविधियों के मद्देनजर राजस्व वृद्धि के वैकल्पिक स्रोत चिन्हित करने के लिए कार्ययोजना बनाई जाए।

रेड जोन में खुलेंगे जरूरी सेवाओं वाले ऑफिस

अपर मुख्य सचिव ने कहा कि रेड जोन में निजी वाहन से कुछ सेवाओं के लिए लोगों को आने जाने की छूट होगी। बहुत जरूरी सेवाओं के लिए ही निजी ऑफिस आने के लिए अनुमति होगी। लेकिन ये ऑफिस 33 फीसदी लोगों के साथ ही काम करेंगे। वहीं, रिक्शा, ऑटो, टैक्सी और ओला, उबर जैसी टैक्सियों के चलने पर पाबंदी रहेगी। यहां सैलून, स्पा, ब्यूटी पार्लर भी नहीं खुलेंगे और साथ ही यहां बसें भी नहीं चलेंगी।

निजी अस्पतालों में कोरोना का इलाज

मुख्यमंत्री ने यूपी के निजी अस्पतालों में कोरोना वायरस के इलाज के निर्देश दिए हैं। इसके लिए अस्पतालों की सूची तैयार की जा रही है। प्रदेश में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए यह फैसला लिया गया है।

ये भी पढ़ें: यूपी में पहले ही दिन 300 करोड़ से ज्यादा हुई शराब की बिक्री, रोक लगाने के लिए इलाहाबाद हाईकोर्ट को भेजा ईमेल

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned