scriptup government instructions for treatment even after report is negative | योगी सरकार का आदेश, रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद भी संक्रमण के लक्षण दिखने पर कराना होगा इलाज | Patrika News

योगी सरकार का आदेश, रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद भी संक्रमण के लक्षण दिखने पर कराना होगा इलाज

कोरोना महासंकट के बीच योगी सरकार ने एक अहम फैसला सुनाया है।

लखनऊ

Updated: April 18, 2021 04:44:27 pm

लखनऊ. प्रदेश के अधिकतर अस्पतालों में मरीजों को समय से इलाज नहीं मिल रहा है। यही नहीं बल्कि गंभीर मरीजों की रिपोर्ट मिलने में भी देरी हो रही है। एंबुलेंस आने में भी विलंब हो रहा है। ऐसे में कोरोना महासंकट (Corona Virus) के बीच योगी सरकार ने एक अहम फैसला सुनाया है। सरकार ने आदेश जारी करते हुए कहा है कि ऐसे मरीज जिनकी कोविड रिपोर्ट निगेटिव आई हो लेकिन आरटी या सीटी स्कैन में उनमें कोविड के लक्षण पाए गए हों, उन्हें भी कोविड मरीज की तरह ही अस्पताल में इलाज मिलेगा।
योगी सरकार का आदेश, रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद भी संक्रमण के लक्षण दिखने पर कराना होगा इलाज
योगी सरकार का आदेश, रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद भी संक्रमण के लक्षण दिखने पर कराना होगा इलाज
योगी सरकार का आदेश, रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद भी संक्रमण के लक्षण दिखने पर कराना होगा इलाजशनिवार को यूपी के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने इस संबंध में आदेश जारी किया। आदेश में कहा गया है कि ऐसे रोगी जिनकी लैब जांच में कोविड रोग की पुष्टि नहीं होती है लेकिन लक्षणों के आधार पर या एक्स-रे, सीटी स्कैन, ब्लड जांच आदि के आधार पर वे कोरोना के रोगी लगते हैं और इलाज करने वाले डॉक्टर को टेस्ट करने के बाद इस रोग को कोविड रोग का इलाज दिए जाने की जरूरत लगती है, तो ऐसे रोगियों को कोविड रोगी के समान ही इलाज दिया जाना चाहिए।
अलग वार्ड में रखे जाएंगे मरीज

आदेश में यह भी कहा गया है कि प्रिजम्टिव कोविड-19 डायग्रोसिस वाले रोगियों को इलाज की सुविधा पहले से बनाए गए कोविड सेंटर पर ही उपलब्ध होगी। ऐसे रोगियों को कोविड सेंटर में अलग वार्ड में रखा जाएगा। इन दिनों ऐसे बहुत से मामले सामने आ रहे हैं जिनमें मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आ रही है लेकिन सीटी स्कैन के दौरान उनमें कोविड से जुड़े लक्षण पाए जा रहे हैं।
एक लाख से ज्यादा एक्टिव केस

पिचले 24 घंटों के दौरान यूपी में 27 हजार से ज्यादा नए मामले सामने आए हैं। यूपी में कुल एक्टिव केस की संख्या एक लाख पार हो गई है। वहीं, 120 लोगों की जान चली गई है। राजधानी लखनऊ में ही एक दिन में 5913 नए कोविड के मामले सामने आने से स्थिति और खराब हो गई है। लखनऊ के साथ ही प्रदेश में वाराणसी, प्रयागराज, कानपुर, गोरखपुर, झांसी, गाजियाबाद, मेरठ, लखीमपुर खीरी और जौनपुर में भी कोरोना संक्रमण के सबसे ज्यादा मामले हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra: गृहमंत्री शाह ने महाराष्ट्र के उमेश कोल्हे हत्याकांड की जांच NIA को सौंपी, नुपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट करने के बाद हुआ था मर्डरMaharashtra Politics: बीएमसी चुनाव में होगी शिंदे की असली परीक्षा, क्या उद्धव ठाकरे को दे पाएंगे शिकस्त?Single Use Plastic: तिरुपति मंदिर में भुट्टे से बनी थैली में बंट रहा प्रसाद, बाजार में मिलेंगे प्लास्टिक के विकल्पकेरल में दिल दहलाने वाली घटना, दो बच्चों समेत परिवार के पांच लोग फंदे पर लटके मिलेनूपुर शर्मा विवाद पर हंगामे के बाद ओडिशा विधानसभा स्थगितक्या कैप्टन अमरिंदर सिंह बीजेपी में होने वाले हैं शामिल?कानपुर में भी उदयपुर घटना जैसी धमकी, केंद्रीय मंत्री और साक्षी महाराज समेत इन साध्वी नेताओं पर निशाना500 रुपए के नोट पर RBI ने बैंकों को दिए ये अहम निर्देश, जानिए क्या होता है फिट और अनफिट नोट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.