scriptUP government's tough stand on air pollution | यूपी सरकार ने दिए निर्देश प्रदूषण पर लगाएंगे लगा,नहीं तो हो सकती हैं कार्यवाही | Patrika News

यूपी सरकार ने दिए निर्देश प्रदूषण पर लगाएंगे लगा,नहीं तो हो सकती हैं कार्यवाही

एससी ने विशेष रूप से दो मुद्दों का उल्लेख किया था जिन पर विचार-विमर्श की आवश्यकता थी। एक लॉकडाउन था और दूसरा पराली जलाना था। यूपी लॉकडाउन के पक्ष में नहीं है क्योंकि यह हमारे फील्ड अधिकारियों को प्रभावित करेगा जिन्हें प्रवर्तन कार्य सौंपा गया है। वे अभी काम कर रहे हैं वो भी बंद हो जाएगा।

लखनऊ

Published: November 18, 2021 06:19:32 pm

लखनऊ, उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार राज्य में वायु प्रदूषण के स्तर को नियंत्रित करने के लिए कदम उठा रही है, लेकिन लॉकडाउन लागू करने की इच्छुक नहीं है। सरकार के प्रवक्ता के अनुसार मुख्यमंत्री ने वरिष्ठ अधिकारियों को निजी परिवहन पर खासकर राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) जिलों में सार्वजनिक परिवहन को बढ़ावा देने के लिए कहा है।सरकार के प्रवक्ता ने कहा कि सीएम ने प्रदूषण के स्तर से निपटने के लिए स्थानीय स्तर पर एक योजनाबद्ध कार्रवाई करने को कहा है। खासकर नोएडा और गाजियाबाद जैसे क्षेत्रों में जो दिल्ली से सटे हैं। जहां प्रदूषण का स्तर गंभीर श्रेणी में है। इतना ही नहीं उन्होंने लोगों को सार्वजनिक परिवहन का उपयोग करने के लिए भी प्रोत्साहित किया।
यूपी सरकार ने दिए निर्देश प्रदूषण पर लगाएंगे लगा,नहीं तो हो सकती हैं कार्यवाही
यूपी सरकार ने दिए निर्देश प्रदूषण पर लगाएंगे लगा,नहीं तो हो सकती हैं कार्यवाही
उन्होंने कहा कि किसानों को पराली जलाने के बारे में भी जागरूक किया जा रहा है और बढ़ते वायु प्रदूषण से उन्हें होने वाली समस्या से अवगत कराया जाएगा। अतिरिक्त मुख्य सचिव (पर्यावरण) मनोज कुमार ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त समिति के साथ बैठक के दौरान सरकार ने प्रदूषण के स्तर को नियंत्रित करने के लिए पहले से ही उठाए जा रहे विभिन्न कदमों को बताया और कहा कि हम लॉकडाउन के पक्ष में नहीं है।
एससी ने विशेष रूप से दो मुद्दों का उल्लेख किया था जिन पर विचार-विमर्श की आवश्यकता थी। एक लॉकडाउन था और दूसरा पराली जलाना था। यूपी लॉकडाउन के पक्ष में नहीं है क्योंकि यह हमारे फील्ड अधिकारियों को प्रभावित करेगा जिन्हें प्रवर्तन कार्य सौंपा गया है। वे अभी काम कर रहे हैं वो भी बंद हो जाएगा। उन्होंने कहा कि इस बीच, हम अन्य कदम उठा रहे हैं जैसे कि बीच, सड़कों और पेड़ों पर पानी का छिड़काव, घास लगाना, 10-15 साल से पुराने वाहनों को जब्त करना और निर्माण कचरे के अवैध निपटान पर नकेल कसना है। इस बीच एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि यूपी में पराली जलाना नगण्य है और मुख्य सचिव आर.के. तिवारी ने पराली जलाने पर पूरी तरह से नकेल कसने के लिए जिलाधिकारियों को पत्र लिखा है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोगशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेइन 12 जिलों में पड़ने वाल...कोहरा, जारी हुआ यलो अलर्ट2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव

बड़ी खबरें

बेटी का जुल्म-बुजुर्ग ने जेब से निकालकर बताई दाढ़ी और नाखून, छलक उठे गम के आंसूयहां PWD का बड़ा कारनामा, पेयजल पाइप लाइन के ऊपर ही बना रहे ड्रेनेज सिस्टम, गुस्साए विधायक ने की सीएम से शिकायतमोदी की लीडरशिप से वैक्सीन का रिकार्ड बनाया भारत ने: पूनियाUttar Pradesh Assembly Elections 2022: जानें बीजेपी में भगदड़ का पूर्वांचल की सियासत पर क्या होगा असरसीएम और यूडीएच मंत्री के जिलों में पार्षदों का मनोनयन, जयपुर को अब भी इंतजारमंगल ग्रह 42 दिन तक धनु राशि में करेगा गोचर, 7 राशि वालों का चमकाएगा करियरUP Elections : अखिलेश का मुकाबला करने के लिए बीजेपी ने 'हिंदू पहले' की नीति अपनाईभाजपा की सूची जारी होने के बाद प्रत्याशी के विरोध में पूर्वांचलियों का हंगामा, झड़प के बाद आधा दर्जन हिरासत में
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.