scriptUP government will monitor every drop of ground water piezometer Water | Ground Water in UP : भूगर्भ जल की एक-एक बूंद की निगरानी करेगी यूपी सरकार | Patrika News

Ground Water in UP : भूगर्भ जल की एक-एक बूंद की निगरानी करेगी यूपी सरकार

Ground Water बढ़ते जल संकट से सूबे को बचाने के लिए यूपी सरकार नई तैयारियों में जुटी है। अब नई योजना के तहत सरकार भूगर्भ जल की बूंद-बूंद की निगरानी करेगी। भूगर्भ जल को संजोने के लिए गांवों में तेजी से तालाबों का जीणोद्धार और निर्माण किया जा रहा है। नए कूप बनाए जा रहे हैं।

लखनऊ

Published: May 01, 2022 12:28:00 pm

बढ़ते जल संकट से सूबे को बचाने के लिए यूपी सरकार नई तैयारियों में जुटी है। अब नई योजना के तहत सरकार भूगर्भ जल की बूंद-बूंद की निगरानी करेगी। भूगर्भ जल को संजोने के लिए गांवों में तेजी से तालाबों का जीणोद्धार और निर्माण किया जा रहा है। नए कूप बनाए जा रहे हैं। नदियों के किनारों पर हरियाली की जा रही है। नमामि गंगे, ग्रामीण जलापूर्ति विभाग, भूजल योजना से प्रदेश में ऑटोमैटिक पीजोमीटर स्थापित करने का कार्य करने जा रहा है। भूगर्भ जल निगरानी योजना प्रदेश में गिरते जल स्तर को सुधारने में बड़ी कारगर साबित होगी। राज्य सरकार भूजल स्तर को सुधारने और वर्षा जल के मापन क्षेत्र में नित नए कीर्तिमान गढ़ने की तैयारी में है। योगी सरकार की प्राथमिकता गांव-गांव तक प्रत्येक जरूरतमंद तक पानी की उपलब्धता, शुद्ध पेयजल और सिंचाई के लिए पर्याप्त पानी देना है। भूजल को संजोने और उसमें सुधार लाने के लिए भी सरकार प्रतिबद्ध है।
Ground Water in UP : भूगर्भ जल की एक-एक बूंद की निगरानी करेगी यूपी सरकार
Ground Water in UP : भूगर्भ जल की एक-एक बूंद की निगरानी करेगी यूपी सरकार
7500 ऑटोमैटिक पीजोमीटर लगाने की योजना

नामामि गंगे, ग्रामीण जलापूर्ति विभाग अगले 100 दिनों में नेशनल हाईड्रोलॉजी प्रोजेक्ट से पुराने लगे 110 पीजोमीटर का रखरखाव और 50 नए डिजिटल वॉटर लेविल रिकार्डर स्थापित किए जाने की कार्ययोजना तैयार कर रहा है। इन मानक यंत्रों की बढ़ती जरूरत को देखते हुए सरकार ऑटोमैटिक पीजोमीटर लगाने की योजना तेजी से आगे बढ़ा रही है। अगले 5 साल में यूपी में 7500 ऑटोमैटिक पीजोमीटर लगाए जाने हैं। नाममि गंगे और ग्रामीण जलापूर्ति विभाग भूजल योजना से यूपी में पीजोमीटर की संख्या को 10 हजार तक ले जाने की योजना पर तेजी से काम कर रहा है।
यह भी पढ़ें

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के तर्ज पर यूपी में ‘तिरंगा शाखाएं‘ शुरू करेगी आम आदमी पार्टी

नई-नई योजनाएं बना रहे हैं जलशक्ति मंत्री

सरकार की मंशा को पूरा करने के लिए जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह भी विभागीय अधिकारियों के साथ बैठकें कर रहे हैं। भूजल स्तर की मॉनीटरिंग की व्यवस्था को चाक-चौबंद बनाने में लगे हैं। उनकी ओर से भूजल को संजोने के लिए नई-नई योजनाएं बनाई जा रही हैं।
700 पीजोमीटर लगा चुकी

राज्य सरकार नेशनल हाईड्रोलॉजी प्रोजेक्ट से पिछले साल प्रदेश में भूजल स्तर की मॉनीटरिंग के लिए 700 पीजोमीटर लगा चुकी है। प्रदेश में वर्तमान में 6511 पीजोमीटर संचालित हैं। इनमें पाइलेट प्रोजेक्ट के रूप लगाए जा चुके 1494 ऑटोमैटिक पीजोमीटर भी शामिल हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीश्योक नदी में गिरा सेना का वाहन, 26 सैनिकों में से 7 की मौतआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानतRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चआजम खान को सुप्रीम कोर्ट से फिर बड़ी राहत, जौहर यूनिवर्सिटी पर नहीं चलेगा बुलडोजरMumbai Drugs Case: क्रूज ड्रग्स केस में शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को NCB से क्लीन चिट
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.